संकष्टी चतुर्थी : दूर्वा में गांठें लगाने समेत करें ये 10 काम, धन संबधित परेशानियां होंगी दूर

संकष्टी चतुर्थी : दूर्वा में गांठें लगाने समेत करें ये 10 काम, धन संबधित परेशानियां होंगी दूर

Soma Roy | Publish: May, 22 2019 10:41:25 AM (IST) दस का दम

  • मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए कच्चे चावल का करें उपाय
  • भाग्य को बलवान बनाने के लिए गणेश जी मस्तक पर लगाएं चंदन का तिलक

नई दिल्ली। कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को संकष्टी चतुर्थी के नाम से जाना जाता है। इस दिन भगवान गणेश की आराधना करने से भक्त की सभी मनोकामनाएं पूरी होती है। ये पर्व इस बार 22 मई को मनाया जा रहा है। अगर आज के दिन ज्योतिष शास्त्र में दिए गए कुछ खास उपाय अपनाए जाएं तो व्यक्ति की किस्मत बदल सकती है। इससे उसका धनवान बनने का सपना भी पूरा हो सकता है।

पति-पत्नी में अनबन समेत रहती हैं ये 10 परेशानियां तो सोमवार को करें ये खास उपाय

1.भगवान गणेश को संकटहर्ता कहा जाता है। उनकी कृपा से व्यक्ति के जीवन में आने वाली सभी मुसीबतें खत्म होती हैं। अगर आज के दिन गजानन के माथे पर चंदन का सिंदूर का तिलक लगाया जाए और उस पर अक्षत यानि चावल लगाए जाएं तो व्यक्ति का भाग्य तेज हो सकता है।

2.जो भक्त धनवान बनना चाहते हैं उन्हें आज संकष्टी चतुर्थी के दिन पांच दूर्वा में ग्यारह गांठें लगाएं। अब इसे किसी लाल धागे से बांधकर गणपति जी के पास रख दें। अब गणेश जी का ध्यान करें। ऐसा करने से आपकी आय में वृद्धि होगी।

3.अगर आपकी कोई विशेष मनोकामना है तो आप संकष्टी चतुर्थी के दिन भगवान गणेश को थोड़े कच्चे चावल चढ़ाएं। साथ ही एक लाल रंग का फूल चढ़ाएं। अब पूजन के बाद इसे अपने पर्स में रख लें। ऐसा करने से जल्द ही आपकी इच्छा पूरी होगी।

4.गणेश जी की कृपा प्राप्त करने के लिए उन्हें 11 बूंदी के लड्डू या मोदक चढ़ाएं। अब पूजन के बाद इसे दूसरों को बांटे और खुद भी प्रसाद ग्रहण करें। ऐसा करने से आपके जीवन में सुख-समृद्धि आएगी।

5.जिन लोगों के काम हमेशा अटक जाते हैं उन्हें अथर्वशीर्ष, श्रीगणपतिस्त्रोत या गणेशजी के वेदोक्त मंत्रों का पाठ करना चाहिए। ऐसा करने से आपके संकट दूर होंगे।

मामूली-सी घंटी बदल सकती है आपकी किस्मत, पूजन के दौरान इसे बजाने से होते हैं ये 10 फायदे

6.आज के दिन घर में गणेश जी के अष्टधातु की मूर्ति की स्थापना लाभदायक साबित होगी। इससे धन की वृद्धि समेत तरक्की के रास्ते खुलेंगे।

7.संकष्टी चतुर्थी के दिन गणेश भगवान की पूजा करते समय हरे रंग के वस्त्र पहनें। वहीं गणेश जी की मूर्ति या तस्वीर की स्थापना किसी चौकी पर पीले कपड़े को बिछाकर करें। मूर्ति को आसन पर रखने से पहले उसके नीचे थोड़े चावल के दाने और कुमकुम छिड़ककर करें। अब आखिर में गंगाजल डालकर जगह को शुद्ध करें।

8.संकष्टी चतुर्थी के दिन ॐ गं गणपतयै नम: मंत्र का 108 बार जप करें। ऐसा करने से आपकी सारी परेशानियां दूर होंगी।

9.आज के दिन अगर किसी ब्राम्हण को भोजन कराया जाए, साथ ही गाय को हरी घास खिलाई जाए तो व्यक्ति की कुंडली में मौजूद ग्रह दोष दूर होंगे।

10.संकष्टी चतुर्थी के दिन साबुत हरी मूंग दाल का दान करने से बुध ग्रह मजबूत होगा। इससे विद्या-बुद्धि बढ़ेगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned