ये हैं वो 10 सामान जिनके बिना करवाचौथ का व्रत है अधूरा, पांचवा सामान है सबसे जरूरी

ये हैं वो 10 सामान जिनके बिना करवाचौथ का व्रत है अधूरा, पांचवा सामान है सबसे जरूरी

Prakash Chand Joshi | Updated: 12 Oct 2019, 11:46:57 AM (IST) दस का दम

  • इन सामनों को पूजा में जरूर शामिल करें

नई दिल्ली: कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को करवाचौथ का व्रत होता है। इस दिन सुहागिनें महिलाएं निर्जला व्रत रखकर अपने पति की लंबी आयु के लिए कामना करती हैं। इस दिन महिलाएं गौरी और गणेश की पूरे विधि-विधान से पूजा करती हैं, जिसमें कई सामान की जरूरत होती है। लेकिन कई बार सुहागिन महिलाएं कई सामान भूल जाती हैं, जिसके चलते पूजा अधूरी मानी जाती है।

chauth.png

- अमूमन देखा जाता है कि इस दिन महिलाएं अपने सजने पर ज्यादा ध्यान देती है। ठीक है, लेकिन आपको पूजा सामग्री पर भी थोड़ा ध्यान देना चाहिए।

 - पानी का लोटा, दीपक, रूई की बाती का पूजा सामग्री में होना बेहद जरूरी है।

 - इस दिन करवे का बेहद महत्व होता है क्योंकि इसी से चांद को अर्घ्य दिया जाता है। ऐसे में इसका होना बेहद जरूरी है।

chauth2.png

- करवा के ढक्कन पर गेंहूं जरुर रखें। ऐसा करना शुभ माना जाता है।

 - छलनी भी पूजा सामग्री का सबसे जरूरी सामान है। इसे शामिल करना गलती से भी न भूलें।

 - बैठने के लिए लकड़ी के आसान का प्रयोग करना शुभ माना गया है।

 - कांस की 11 तीलियां, कच्चा दूध, अगरबत्ती, फूल, चंदन, शहद और चीनी को भी जरूर पूजा सामग्री में रखे।

chauth1.png

- महिलाओं को इस दिन हाथों पर मेहंदी भी लगानी चाहिए क्योंकि ये सुहागिन महिलाओं की निशानी होती है।

 - करवाचौध के दिन शाम में यानि सूरज अस्त होने से पहले होने वाली पूजा का विशेष महत्व होता है। ऐसे में इस पूजा को जरूर करें।

- इस दिन महिलाओं को सुहागिन की तरह तैयार होना चाहिए। साथ में गंगाजल, सिंदूर, महावर, चूड़ी, कंघी, बिंदी चुनरी का प्रयोग करना चाहिए।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned