इस चीज से डरते हैं भूत, घर में रखते ही ​मिट जाएगा प्रेतों का साया

घर के कोनों में नमक का ढेला रखने से नकारात्मक शक्तियां चलीं जाती हैं, इससे घर की तरक्की में आ रही बाधाएं भी दूर होती है

By: Soma Roy

Published: 04 Oct 2018, 10:53 AM IST

नई दिल्ली। कई घर भूतिया होते हैं, यहां मौजूद नकारात्मक शक्तियों के चलते वहां रहने वालों की तरक्की नहीं हो पाती है। वे अस्वस्थ रहने लगते हैं और धन की हानि समेत कई परेशानियां आने लगती हैं। इससे छुटकारा पाने के लिए हम आपको कुछ ऐसे असरदार उपायों के बारे बताएंगे, जिनसे घर से भूत-प्रेतों का सफाया हो जाएगा।

1.कहते हैं भूत-प्रेत सबसे ज्यादा नमक से डरते हैं, क्योंकि ये नकारात्मक शक्तियों को हटकार सकारात्मकता लाता है। इसलिए अगर घर के हर कोनों में साबुत नमक को किसी कागज व कपड़े में लपेटकर रखा जाए और इस हर सप्ताह बदला जाए तो इससे घर में कभी भी भूत-प्रेत का साया नहीं टिकता है।

2.साबुत नमक के उपाय से कोई भी प्रेत आत्मा व्यक्ति पर बुरा असर नहीं डाल पाती है। इससे धन हानि व अन्य किसी तरह के नुकसान से बचाव होता है। अगर भूत बाधा से ग्रसित व्यक्ति के सिर से साबुत नमक सात बार घुमाकर किसी चौराहे पर फेंक देने से समस्या दूर हो जाएगी।

3.भूत-प्रेत ज्यादातर घर का ऐसा कोना ढूढंते हैं जहां वे फल-फूल सकें। ऐसा ही एक कोना बाथरूम है। यहां अंधेरा होने व गंदगी के चलते आत्माएं इसको अपना बसेरा बनाती हैं। इसलिए यहां एक कांच के जार में समुद्री नमक भरकर रखने से प्रेत आत्माओं का वास खत्म हो जाता है। जार में रखे गए नमक को प्रत्येक पंद्रह दिन में बदलें।

4.घर से प्रेत आत्माओं को भगाने के लिए देवदारू, हींग, सरसो, जौ, नीम की पत्ती, कुटकी, कटेली, चना, मोरपंख और देसी घी मिलाकर मिट्टी के पात्र में जलाने से नकारात्मक शक्तियां चली जाती हैं। इससे घर की रुकी हुई तरक्की की समस्या दूर हो जाएगी।

5.यदि कोई व्यक्ति भूत-बाधा से पीड़ित है तो मंगलवार व शनिवार के दिन जावित्री व श्वेत अपराजिता के पत्ते को पीसकर उसके रस पीड़ित जातक को सुंघाएं। ऐसा करने से नकारात्मक शक्ति व्यक्ति को छोड़ देगी।

6.बुरी आत्मा के साए से छुटकारा पाने के लिए सेंधा नमक, चंदन, कूट, घृत को सरसो के तेल के साथ मिलाकर जलाएं। अब इसका धुंआ पीड़ित जातक को दिखाएं। ये प्रक्रिया प्रत्येक मंगलवार एवं शनिवार को करें। ऐसा करीब 21 दिनों तक लगातार करें। ऐसा करने से समस्या से छुटकारा मिलेगा।

7.प्रेत बाधा दूर करने के लिए पुष्य नक्षत्र में चिरचिटे अथवा धतूरे के पौधे को जमीन में दबा दें। ऐसा करते समय जड़ का हिस्सा ऊपर की ओर रखें, जबकि पौधे का हिस्सा पूरी तरह से जमीन के अंदर दबा दें। ऐसा करने से बुरी आत्माएं कभी नहीं फटकेंगी।

8.अगर कोई व्यक्ति भूत बाधा से ग्रसित है तो उसे बबूल, देवदारू, बेल की जड़ व प्रियंगु को जलाकर इसका धुआं दिखाएं। अब सभी सामग्री के जल जाने पर इसकी राख को किसी चौराहे में रख दें। इससे समस्या हमेशा के लिए दूर हो जाएगी।

9.जिन लोगों को नकारात्मक शक्तियां अपना शिकार बनाती रहती है उन्हें लौंग, रक्त-चंदन, धूप, लोहबान, गौरोचन, केसर, बंसलोचन, समुद्र-सोख, अरवा चावल, कस्तूरी, नागकेसर, जई, भालू के बाल व सुई को भोजपत्र के साथ अपने शरीर व लग्न के अनुकूल धातु के ताबीज में भरकर गले में धारण करना चाहिए। ये प्रक्रिया मंगलवार व शनिवार को करनी होगी।

Show More
Soma Roy Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned