सुषमा स्वराज के अलविदा कहने पर क्या कहती है पाकिस्तान की अवाम, देखें ये 10 इमोशनल ट्वीट्स

सुषमा स्वराज के अलविदा कहने पर क्या कहती है पाकिस्तान की अवाम, देखें ये 10 इमोशनल ट्वीट्स

Priya Singh | Publish: Aug, 08 2019 01:45:04 PM (IST) दस का दम

  • सुषमा स्वराज के निधन पर क्या रहा पाकिस्तान का रिएक्शन
  • पाकिस्तान की अवाम ने ट्वीट्स के ज़रिए दी सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि

नई दिल्ली। 67 वर्ष की उम्र में दुनिया को अलविदा कह गईं देश की कुशल राजनीतिज्ञ, ओजस्वी वक्ता सुषमा स्वराज को देश ने अश्रुपूरित श्रद्धांजलि अर्पित की। अपने पूरे कार्यकाल के दौरान सुषमा स्वराज ने कई मजबूर लोगों की मदद की फिर वो चाहे भारत की जनता हो या फिर पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान की अवाम। सुषमा स्वराज ने अपने ट्विटर हैंडल के ज़रिए कई पाकिस्तानी मज़लूमों की मदद की है। जब भी उनसे किसी ने दिल से मदद मांगी उन्होंने हमेशा उनकी समस्या सुलझाई। आइए एक नज़र डालते हैं उन 10 ट्वीट्स पर जो पाकिस्तान की अवाम ने उन्हें याद करते हुए किए।

साल 2017 में पाकिस्तान में एक साल की बच्ची के इलाज के लिए वीजा की ज़रुरत थी। बच्ची के परिजन ने सुषमा स्वराज से ट्विटर के ज़रिए वीजा के लिए गुहार लगाई थी जिसके बाद उस परिवार को वीजा उपलब्ध कराया गया।

इसी तरह सुषमा स्वराज ने लाहौर के मूल निवासी शाहज़ेब इकबाल की मदद की, जिन्होंने अपने चचेरे भाई के लिवर ट्रांसप्लांट के लिए मेडिकल वीजा के लिए मदद मांगी थी। उन्होंने ट्विटर पर मंत्री से कहा, "अल्लाह के बाद आप हमारी आखिरी उम्मीद हैं... कृपया हमें इस्लामाबाद दूतावास (भारतीय उच्चायोग) से मेडिकल वीजा जारी करने की अनुमति दें।"

सुषमा स्वराज ने ट्वीट के साथ तुरंत जवाब दिया, "भारत आपकी आशा पर खरा उतरेगा। हम तुरंत वीजा जारी करेंगे।"

उसी साल, साजिदा बीबी नाम की एक अन्य पाकिस्तानी ने भी सुषमा स्वराज से भारतीय चिकित्सा वीजा की मांग की। उसने लिखा, "सुषमा स्वराज, मेरा नाम साजिदा बीबी है मैंने दो साल पहले मेदांता अस्पताल हरियाणा में लिवर ट्रांसप्लांट करवाया था। अब मुझे दोबारा वीजा लेने में जटिलताओं का सामना करना पड़ रहा है। मुझे तुरंत वीजा के लिए आवेदन करने की जरूरत है। कृपया मेरे निवेदन पर सुनवाई करें।"

सिर्फ इतने ही नहीं हैं जिनकी सुषमा स्वराज ने अपनी ट्विटर पॉलिसी के ज़रिए मदद की है। अब हम बात करते हैं पाकिस्तान लोगों के रिएक्शन के बारे में जो वाकई में भावुक कर देने वाले हैं।

उनकी मदद करने के तरीके ने उन्हें लोगों के बीच पसंदीदा बना दिया। जिसके लिए उन्हें बहुत सम्मान मिला।

पाकिस्तान के एक ट्विटर यूजर का कहना है कि- मुस्लिमों को पुनर्जन्म में विश्वास नहीं है... लेकिन ऐसा होता है तो तो मैं चाहूंगा कि सुषमा स्वराज पाकिस्तान में पैदा हों और यहां एक राजनेता बनें।"

एक शख्स का कहना है- "सुषमा स्वराज जी के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ। वह पाकिस्तानी जरूरतमंद मरीजों के लिए मसीहा थीं, उन्होंने भारत में इलाज कराने के लिए कई पाकिस्तानियों को वीजा दिए।"

"हम दुश्मन हैं मैं सहमत हूं, लेकिन मैं सुषमा स्वराज का बहुत बड़ा प्रशंसक था।"

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned