देश भर के कारोबारी PM मोदी के साथ, NDA के लिए चुनावों में करेंगे वोट

देश भर के कारोबारी PM मोदी के साथ, NDA  के लिए चुनावों में करेंगे वोट

Manish Ranjan | Publish: Apr, 22 2019 12:09:33 PM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

  • देश भर के कारोबारियों ने किया वादा
  • चुनावों में करेंगे NDA को वोट
  • 7 करोड़ कारोबारियों ने लिया फैसला

नईदिल्लीदेश भर के व्यापारियों के शीर्ष संगठन कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने विभिन्न राजनैतिक दलों के चुनाव घोषणा पत्रों का व्यापक और बारीक अध्ययन करने के बाद और देश के भविष्यको मजबूत बनाने को ध्यान में रखते हुए देश भर में भारतीय जनता पार्टी का समर्थन करने और 7 करोड़ व्यापारियों को एक वोट बैंक के रूप में लामबंद करते हुए वर्तमान लोकसभा चुनावों में भाजपाएवं एनडीए के सहयोगी दलों के पक्ष में मतदान करने का निर्णय लिया है ।

ये भी पढ़ें: LIC का नया प्लान: बेटी के लिए जमा करें केवल 150 रुपए, कन्यादान पर मिलेंगे 22 लाख रुपए

40 हजार से ज्यादा व्यापारी संगठनों का साथ

देश भर के 40 हजार से अधिक व्यापारी संगठनों के माध्यम से कैट इस सन्देश को देश के कोने कोने में व्यापारियों कोपहुंचाएगा और उन्हें भाजपा के पक्ष में समर्थन एवं मतदान करने का आग्रह करेगा वहीँ कैट के कानाफूसी अभियान के अंतर्गत देश भर में व्यापारी अपने प्रतिष्ठान में आने वाले ग्राहकों को भी भाजपा केसमर्थन के लिए प्रेरित करेंगे तथा अपने 30 करोड़ कर्मचारियों से भी भाजपा को वोट देने के लिए कहेंगे ! देश के विभिन्न राज्यों में लगभग 195 लोकसभा सीेटें ऐसी हैं जिन पर व्यापारियों का प्रभुत्व हैऔर व्यापारियों का रूख इन सीटों पर चुनाव परिणाम तय कर सकता है ।

ये भी पढ़ें: मुकेश अंबानी ने किया कांग्रेस के मिलिंद देवड़ा का समर्थन, ये है मामला

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री बी. सी. भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया की कैट ने यह निर्णय देश भर के प्रमुख व्यापारी नेताओं से विचार विमर्श कर और कल दिल्ली मेंआयोजित विभिन्न राज्यों के व्यापारी नेताओं की हुई एक बैठक में मिले फीडबैक के बाद लिया गया है ! देश के व्यापारी वर्ग ने इन चुनावों में एक निर्णायक भूमिका निभाने का संकल्प लिया हुआ है !

देश के राजनैतिक परिदृश्य में एक तरफ भाजपा का नेतृत्व वाला एनडीए गढ़बंधन है जो एक होकर पूरे देश में चुनाव लड़ रहा है तो दूसरी तरफ विभिन्न दलों का महागठबंधन है जिसके राजनैतिक दलविभिन्न राज्यों में एक दूसरे के खिलाफ ही चुनाव लड़ रहे हैं , इस वजह से वो देश में एक मजबूत और स्थायी सरकार देने में सक्षम नहीं है और भारत का व्यापार एवं अर्थव्यवस्था उनके सत्ता में आने सेसदा अस्थिर ही रहेगी !

श्री भरतिया एवं श्री खंडेलवाल ने कहा की आज देश को एक ऐसे मजबूत नेता की आवश्यकता है जिसमें दूरदृष्टि हो,निर्णय लेने की क्षमता हो और सत्ता मैं आने के बाद देश को आगे ले जाने की ललकहो ! निर्णय बेशक कठोर हों और राजनैतिक दृष्टि से संभवत : फायदेमंद न भी हो लेकिन राष्ट्रहित में हो ! गत पांच वर्षों में हमने देखा है की प्रधानमंत्री श्री मोदी ने अनेक निर्णय ऐसे लिए जिनसेराजनैतिक नुक्सान ज्यादा हो सकता था किन्तु श्री मोदी ने दृढ़ता से यह निर्णय लिए जिनमें जीएसटी एवं नोटबंदी प्रमुख हैं ! जो निर्णय लिए गए उनमें व्यापारियों एवं अन्य लोगों की मांग पर आवश्यकसंशोधन करने में भी प्रधानमंत्री मोदी ने कतई देर नहीं लगाई ! देश में व्याप्त भ्रष्टाचार और इंस्पेक्टर राज को ख़त्म करना है और बेलगाम बाबूशाही पर शिकंजा भी कसना है और यह काम इस समयकेवल मोदी जैसा दृढ़ निश्चयी

व्यक्ति ही कर सकता हैउन्होंने यह भी कहा की कैट ने कांग्रेस और भाजपा के चुनाव घोषणा पत्रों का बारीकी से अध्यन किया और पाया की भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में व्यापारियों के मुद्दों को प्रमुखता और वरीयता देते हुएअपने संकल्प पत्र में शामिल किया है ।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार,फाइनेंस,इंडस्‍ट्री,अर्थव्‍यवस्‍था,कॉर्पोरेट,म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned