एक तरफ देश की हालत पस्त, उधर हाउडी मोदी पर सरकार लुटा रही है इतने करोड़ रुपए

एक तरफ देश की हालत पस्त, उधर हाउडी मोदी पर सरकार लुटा रही है इतने करोड़ रुपए

Shivani Sharma | Updated: 23 Sep 2019, 01:25:18 PM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

  • हाउडी मोदी पर टैक्सपेयर का पैसा खर्च नहीं हुआ
  • हाउडी मोदी कार्यक्रम पर खर्च हुए करोड़ों रुपए

नई दिल्ली। हाउडी मोदी कार्यक्रम में पहुंचे पीएम मोदी ने रविवार को ह्यूस्टन शहर में एनआरजी स्टेडियम को संबोदित किया। अमरीका के इस स्टेडियम में लगभग 50 हजार लोग शामिल थे। इस कार्यक्रम में देश और विदेश कि दिग्गज हस्तियां भी शामिल थीं। इस कार्यक्रम को अब तक का सबसे महंगा और सबसे बड़ा कार्यक्रम बताया जा रहा है। इस कार्यक्रम से अमरीका और भारत के व्यापार संबधों में भी मजबूती आएगी। आइए आपको बताते हैं कि इस हाउडी मोदी कार्यक्रम में कितने करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं-


खर्च हुए करोड़ों रुपए

ह्यूस्टन में आयोजित हुए इस भव्य कार्यक्रम की तैयारियां काफी समय से चल रहीं थीं। इस तैयारी में लगभग 650 वेलकम वार्टनर ने भाग लिया था और काफी महीनों से इसकी तौयरियां चल रहीं थीं, लेकिन इस कार्यक्रम के खर्च को लेकर कोई भी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। 'हाउडी मोडी' के मुख्य आयोजनकर्ता टेक्सास इंडिया फोरम (टीआईएफ) ने जानकारी देते हुए बताया कि उसने इस कार्यक्रम के लिए डोनेशन के रुप में लगभग 17 करोड़ रुपए ( 2.4 मिलियन डॉलर ) की राशि जुटाई है।


समुदाय ने दिया फंड

अमरीका के इस कार्यक्रम के बारे में जानकारी देते हुए राजदूत हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा कि हाउडी मोदी कार्यक्रम में टैक्स देने वालों का कोई पैसा नहीं लगा है। इस कार्यक्रम में पैसा लगाने के लिए भारतीय समुदाए की ओर से फंड दिया गया है, लेकिन विपक्ष पार्टी के नेता राहुल गांधी ने इस कार्यक्रम को लेकर भी मोदी सरकार को घेरा है।


राहुल गांधी ने किया ट्वीट

राहुल गांधी ने लिखा कि शेयर बाजार में उछाल के लिए प्रधानमंत्री कुछ भी करने को तैयार हैं, वो भी तब जब उनका #HowdyIndianEconomy का उत्सव चल रहा है। सरकार की ओर से 1.45 लाख करोड़ के राजस्व घाटे को 'हाउडी मोदी' से जोड़ दिया। राहुल ने लिखा कि हाउडी मोदी कार्यक्रम दुनिया का सबसे महंगा इवेंट होने वाला है।

दुनिया का सबसे महंगा इवेंट

इसके साथ ही राहुल ने कहा कि सरकार की ओर से 1.45 लाख करोड़ रुपए की लागत वाला 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम दुनिया का सबसे महंगा इवेंट होने वाला है। राहुल ने कहा कि कोई भी कार्यक्रम अर्थव्यवस्था की हालत नहीं छिपा सकता। दरअसल, सरकार ने कहा है कि कॉरपोरेट टैक्स में कटौती से उसे 1.45 लाख करोड़ रुपए का नुकसान होगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned