वित्त वर्ष 2018-19 में औसत जीएसटी संग्रह 9.2 फीसदी बढ़ा, सरकार की इतनी हुई कमाई

वित्त वर्ष 2018-19 में औसत जीएसटी संग्रह 9.2 फीसदी बढ़ा, सरकार की इतनी हुई कमाई

Saurabh Sharma | Updated: 01 Apr 2019, 03:36:33 PM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

  • मार्च 2019 में कुल राजस्व संग्रह 1,06,577 करोड़ रुपए रहा।
  • मार्च 2018 में कुल जीएसटी संग्रह 92,167 करोड़ रुपए रहा था।
  • इस प्रकार इसमें 15.63 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गर्इ।

नर्इ दिल्ली। वित्त वर्ष 2018-19 में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के तहत औसत मासिक राजस्व संग्रह बढ़कर 98,114 करोड़ रुपये पर पहुंच गया जो वित्त वर्ष 2017-18 की तुलना में 9.2 फीसदी अधिक है। सरकार द्वारा वित्त वर्ष के दौरान विभिन्न वस्तुओं एवं सेवाओं पर करों की दरों में कमी किए जाने के बावजूद औसत जीएसटी संग्रह में 9 फीसदी से ज्यादा की वृद्धि दर्ज की गर्इ है।

सरकार ने जारी किए जीएसटी के अांकड़ें
- मार्च 2019 में कुल राजस्व संग्रह 1,06,577 करोड़ रुपए रहा।
- मार्च 2018 में कुल जीएसटी संग्रह 92,167 करोड़ रुपए रहा था।
- इस प्रकार इसमें 15.63 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गर्इ।
- वित्त मंत्रालय के अनुसार मार्च 2019 में 20,353 करोड़ रुपए केंद्रीय जीएसटी एकत्र हुआ।
- 27,520 करोड़ रुपए राज्य जीएसटी के रूप में प्राप्त हुआ।
- 50,418 करोड़ रुपए एकीकृत जीएसटी के रूप में सरकार को मिला।
- 8,286 करोड़ रुपए उपकर के रूप में प्राप्त हुआ है।

यहां से भी आया रुपया
एकीकृत जीएसटी में 23,521 करोड़ रुपए और उपकर में 891 करोड़ रुपए आयात से प्राप्त हुए हैं। सेटलमेंट के बाद मार्च 2019 में केंद्र सरकार का कुल राजस्व 47,614 करोड़ रुपए और राज्य सरकार का राजस्व 51,209 करोड़ रुपए रहा है। एकीकृत जीएसटी में से केंद्र को 17,261 करोड़ रुपए और राज्यों को 13,689 करोड़ रुपए स्थायी सेटलमेंट के तौर पर दिए गए। इसके अलावा शेष राशि में से केंद्र को 10 हजार करोड़ रुपए और राज्यों को 10 हजार करोड़ रुपए अस्थार्इ सेटलमेंट के रूप में दिए गए हैं। फरवरी 2019 के लिए गत 31 मार्च तक कुल 75 लाख 95 हजार जीएसटीआर-3बी फॉर्म भरे गए थे।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned