केंद्र सरकार को झटका, थोक महंगार्इ दर में बढ़ोतरी

केंद्र सरकार को झटका, थोक महंगार्इ दर में बढ़ोतरी

Saurabh Sharma | Publish: Nov, 14 2018 01:49:06 PM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

देश में थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) पर आधारित महंगाई दर अक्टूबर महीने में बढ़कर 5.28 फीसदी हो गई, सितंबर महीने में यह दर 5.13 फीसदी थी। आधिकारिक आंकड़ों में बुधवार को यह जानकारी दी गई है।

नई दिल्ली। दो दिन पहले खुदरा महंगार्इ दर ने जहां देश की सरकार को राहत पहुंचार्इ थी, अब थोक महंगार्इ दर ने देश की सरकार को बड़ा झटका दिया है। इस महीने थोक महंगार्इ दर के जो आंकड़े आए हैं वो सितंबर के मुकाबले अक्टूबर में महगार्इ दर में बढ़ोतरी का इशारा कर रहे हैं। आंकड़ों के अनुसार सितंबर के मुकाबले अक्टूबर में थोक महंगार्इ दर में 0.15 फीसदी का इजाफा हुआ है। आइए आपको भी बताते है कि अक्टूबर में थोक महंगार्इ दर में कितना इजाफा हुआ है.…

बढ़ गर्इ थोक महंगार्इ दर
देश में थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) पर आधारित महंगाई दर अक्टूबर महीने में बढ़कर 5.28 फीसदी हो गई। सितंबर महीने में यह दर 5.13 फीसदी थी। आधिकारिक आंकड़ों में बुधवार को यह जानकारी दी गई है। यह विधानसभा चुनावों से पहले केंद्र सरकार आैर बीजेपर के लिए बड़ा झटका है। जबकि खुदरा महंगार्इ दर में गिरावट दर्ज की गर्इ थी।

खुदरा महंगार्इ दर में आर्इ थी कमी
इससे पहले खाद्य पदार्थो की कीमतें गिरने से अक्टूबर में देश की खुदरा मुद्रास्फीति गिरकर 3.31 फीसदी रही थी, जबकि सितंबर में यह बढ़कर 3.70 फीसदी थी। आधिकारिक आंकड़ों से सोमवार को यह जानकारी मिली थी। उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) में साल-दर-साल आधार पर भी अक्टूबर में गिरावट दर्ज की गई, जोकि साल 2017 के अक्टूबर में 3.58 फीसदी थी। केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) के आंकड़ों के मुताबिक, उपभोक्ता खाद्य मूल्य सूचकांक (सीएफपीआई) अक्टूबर में नकारात्मक 0.86 फीसदी रही, जोकि सितंबर से 0.51 फीसदी अधिक है।


खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned