नोटबंदी के बाद कितनी हुर्इ 2000 आैर 500 रुपए के नोटों की छपार्इ, सीआर्इसी ने मांगी जानकारी

नोटबंदी के बाद कितनी हुर्इ 2000 आैर 500 रुपए के नोटों की छपार्इ, सीआर्इसी ने मांगी जानकारी

Saurabh Sharma | Publish: Dec, 09 2018 07:57:43 AM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

केंद्रीय सूचना आयोग (सीआईसी) ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि नोटबंदी के बाद 30 नवंबर 2016 तक कुल कितने 2,000 रुपए और 500 रुपए के नोटों की छपाई की गई, इसकी जानकारी दें।

नर्इ दिल्ली। केंद्रीय सूचना आयोग (सीआईसी) ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि नोटबंदी के बाद 30 नवंबर 2016 तक कुल कितने 2,000 रुपए और 500 रुपए के नोटों की छपाई की गई, इसकी जानकारी दें। एक आरटीआई कार्यकर्ता ने शनिवार को यह जानकारी दी। गुरुग्राम के सूचना के अधिकार (आरटीआई) कार्यकर्ता हरिंदर धींगड़ा ने 9 नवंबर 2016 से 30 नवंबर 2016 के बीच रोजाना छापे गए नोटों की जानकारी मांगी थी।

धींगड़ा ने इस जानकारी के लिए आरटीआई अधिनियम के तहत 23 फरवरी 2017 को आवेदन दाखिल किया था। धींगड़ा ने आईएएनएस को बताया कि केंद्रीय लोक सूचना अधिकारी (सीपीआईओ) ने पहले आवेदन को खारिज कर दिया था। उसके बाद 16 अगस्त 2017 को दूसरी अपील दाखिल की गई। धींगड़ा ने कहा कि 30 नवंबर 2018 को सुनवाई के बाद सूचना आयुक्त सुधीर भार्गव ने 5 दिसंबर 2018 को सूचना देने के आदेश जारी किए।

आदेश में कहा गया, "9 नवंबर 2016 से 30 नवंबर 2016 तक रोजाना कितने नोट छापे गए, यह कोई संवेदनशील मामला नहीं है, जिसे आरटीआई अधिनियम की धारा 8(1)(ए) के तहत छूट प्रदान की जाए, इसलिए सीपीआईओ को निर्देश दिया जाता है कि मांगी गई जानकारी मुहैया कराई जाए।"

साल 2016 में 8 नवंबर की आधी रात को नोटबंदी लागू करने की घोषणा की गई थी। जिसके बाद देश में 1000 आैर 500 रुपए के नोटों को बैन कर दिया गया था। जिसके बाद पूरे देश में 1000 आैर 500 रुपए के नोटों को जमा कराने के लिए बैंकों में भीड़ लग गर्इ थी। वहीं नए 2000 रुपए के नोट को लेने के लिए एटीएम के बाहर लंबी लाइन लग गर्इ थी।

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned