अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप हुए गुस्से में आगबबूला, कहा - केंद्रीय बैंक सनकी हो गया है

बुधवार को अमरीकी शेयर बाजार में भारी गिरावट के बाद फाॅक्स न्यूज को दिए इंटरव्यू में डोनाल्ड ट्रंप ने फेड रिजर्व की नीतियों को जिम्मेदार ठहराया।

By: Ashutosh Verma

Updated: 12 Oct 2018, 08:28 AM IST

नर्इ दिल्ली। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व से नाखुश हैं। बुधवार को अमरीकी शेयर बाजार में भारी गिरावट के बाद फाॅक्स न्यूज को दिए इंटरव्यू में डोनाल्ड ट्रंप ने फेड रिजर्व की नीतियों को जिम्मेदार ठहराया। ट्रंप ने कहा कि वो फेड से नाखुश हैं आैर वो ये बात समझ नहीं पा रहे कि आखिर क्यों वो अमरीकी मौद्रिक नीतियों को कड़ा नहीं कर रही। दरअसल ट्रेड वाॅर की वजह से अमरीका आैर चीन की अर्थव्यवस्था पर खतरा मंडरा रहा है। दोनों ही दुनिया की बड़ी अर्थव्यवस्थाएं हैं आैर ट्रेड वाॅर से दोनों को नुकसान होगा। ट्रेड वाॅर से अमरीकी तकनीकी अौर मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों पर इसका असर दिखने लगा है। यही वजह है कि बुधवार को ट्रंप ने फेडरल रिजर्व को 'सनकी' तक करार दे दिया।

यह भी पढ़ें - विलय माल्या को लगा एक आैर झटका, जब्त होगी बेंगलुरु की संपत्ति

अमरीकी शेयर बाजार में भारी गिरावट के लिए ट्रेजरी व फेर रिजर्व जिम्मेदार

फाॅक्स न्यूज को दिए गए टेलिफोनिक इंटरव्यू में ट्रंप ने कहा, "मुझे फेड से परेशानी है। वो पागल हो रहा है। मेरा मतलब, उनकी दिक्कत क्या है कि वो ब्याज दरों में लगातार बढ़ोतरी कर रहे। ये हास्यास्पद है।" बाजार में भारी गिरावट को लेकर उन्होंने कहा कि इसके लिए ट्रेजरी व फेड रिर्जव जिम्मेदार है। फेड सनक गया है आैर ब्याज दरों में बढ़ोतरी के लिए उनके पास कोर्इ ठोस कारण नहीं है। मैं इससे बिल्कुल खुश नहीं हूं। बताते चलें कि हाल ही के महीनों में, अमरीकी अधिकारियों ने इस बात पर खासा जोर दिया था कि ट्रंप फेडरल रिजर्व के फैसले लेने की हैसियत का सम्मान करें आैर इसे राजनीतिक दखलअंदाजी से दूर रखें। जुलार्इ माह में ही ट्रेजरी सचिव सटीवेन मन्यूचीन ने कहा था, "एक प्रशासन के तौर पर हम फेड की स्वतंत्रता का सम्मान करते हैं।"

यह भी पढ़ें - डाॅलर के मुकाबले डूब रहा रुपया, इस करंसी ने अमरीका को भी पिला दिया है पानी

एक ही दिन में ट्रंप ने बदले तेवर

गत मंगलवार को ही ट्रंप ने इशारा किया था कि व्हाइट हाउस आैर फेड के बीच की अंतर को वो समझ रहे हैं। उन्होंने फेड द्वारा बढ़ाए गए ब्याज दरों को लेकर चिंता भी जाहिर की थी। मंगलवार को रिपोटर्स से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा था कि मैंने फेड चेयरमैन जेरोम पाॅवले से इसके बारे में बात भी नहीं की है। ट्रंप ने कहा, "मैं इसमें सम्मिलित नहीं होना चाहता हूं। मैंने पाॅवेल से भी इस बारे में बात नहीं की है।" लेकिन ठीक एक दिन बाद यानी बुधवार को ही ट्रंप के इस बर्ताव में खासा बदलाव देखने को मिला।

यह भी पढ़ें - एक रात में ही जेफ बेजोस ने गंवाए 900 करोड़ रुपए, जानिए कैसे

ब्याज दरों में लगातार तीन बार बढ़ोतरी कर चुका है फेड

गौरतलब है कि फेडरल रिजर्व ने इस साल लगातार तीन बार नीतिगत ब्याज दरों में इजाफा किया है। उम्मीद किया जा रहा है कि इस साल के अंत में होने वाले आगामी बैठक में फेडरल रिजर्व एक बार फिर ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर सकता है। सिंतंबर माह की बैठक में ब्याज दरों में बढ़ोतरी के बाद ट्रंप ने कहा था कि मैं बात इस चिंतित हूं कि ब्याज दरों में लगातार बढ़ोतरी कर रहे हैं। मैं अपने पैसे की मदद से अौर भी कदम उठा सकते हैं।

Donald Trump
Show More
Ashutosh Verma Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned