रोजगार के मुद्दे पर मोदी सरकार के लिए अच्छी खबर, बेरोजगारी दर में आई कमी

  • इंटरनेशनल मीडिया के हवाले से आई खबर, शहरी बेरोजगारी दर में कमी
  • रिपोर्ट के अनुसार युवा बेरोजगारी दर 23.7 फीसदी से 22.5 फीसदी पर पहुंची

नई दिल्ली। मौजूदा समय में देश की मोदी सरकार को विपक्ष बेरोजगारी को लेकर घेर रहा है। इसका कारण भी है, क्योंकि बीते महीनों जिस तरह की रिपोर्ट बेरोजगारी दर ( unemployment Rate ) को लेकर रिपोर्ट आई हैं वो वाकई चिंता बढ़ाने वाली हैं। वहीं इंटरनेशनल मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार मोदी सरकार ( Modi govt ) के लिए रोजगार के लिए एक अच्छी खबर है। रिपोर्ट के अनुसार मोदी सरकार के ताजा आंकड़ों में शहरी बरोजगारी दर ( Urban unemployment rate ) और युवा बेरोजगारी दर ( Youth Unemployment Rate ) में कमी आई है। सरकार की यह रिपोर्ट अभी पब्लिश नहीं हुई है। इंटरनेशनल मीडिया की रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि जल्द ही सरकार बेरोजगारी को लेकर अपने आंकड़े पेश कर देगी।

यह भी पढ़ेंः- जनवरी में 8 से 10 हजार रुपए तक महंगा हो सकता है फाइव स्टार रेफ्रीजेरेटर

रोजगार को लेकर सरकार के लिए अच्छी खबर
रोजगार को लेकर सरकार के लिए काफी अच्छी और राहत भरी खबर आई है। जनवरी और मार्च के बीच की तिमाही में बेरोजगारी दर में गिरावट देखने को मिली है। इंटरनेशनल मीडिया की खबर के अनुसार सरकार की रिपोर्ट में कहा गया है कि साल के शुरुआती तीन महीनों में शहरी बेरोजगारी दा 9.3 फीसदी पर आ गई है। जो वर्ष 2018 में अक्टूबर से दिसंबर बीच की तिमाही में 9.9 फीसदी थी। इंटरनेशनल मीडिया की खबर के अनुसार सरकार की रिपोर्ट में ग्रामीण बेरोजगारी दर के आंकड़ों का जिक्र नहीं किया गया है। न्यूज रिपोर्ट के अनुसार सरकार के यह आंकड़े जल्द जारी होंगे।

यह भी पढ़ेंः- बीएसएनएल 50 हजार 4जी लाइन इंस्ट्रूमेंट्स के लिए जल्द जारी होगा टेंडर

युवा बेरोजगारी दर में भी गिरावट
युवा बेरोजगारी दर के आंकड़ों की बात करें तो उसमें गिरावट देखने को मिली है। 15 से 29 वर्ष के युवाओं की संख्या देश में काफी ज्यादा है। आंकड़ों की मानें तो इस एज ग्रुप के लोगों की संख्या कुल आबादी की एक तिहाई है। जनवरी से मार्च तक के बीच में युवा बेरोजगारी दा 22.5 फीसदी पर आ गई है। अक्टूर 2018 से दिसंबर 2018 के बीच 23.7 फीसदी थी। सरकार ने यह रिपोर्ट करंट वीकली स्टेटस को आधार बनाकर तैयार की गई है। इस नियम के अनुयार एक व्यक्ति उस सप्ताह बेरोजगार माना जाता है जिसे सप्ताह में एक घंटा भी काम नहीं करता या फिर काम नहीं मिलता है।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned