GST Collection: अप्रैल और मई की कुल कमाई के बराबर हुई जून में सरकार की कमाई

  • जून में 90 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा हुआ है GST Collection
  • बीते दो महीने में करीब 94 हजार करोड़ रुपए का हुआ था Collection

By: Saurabh Sharma

Published: 01 Jul 2020, 04:27 PM IST

नई दिल्ली। अनलॉक 1 ( Unlock 1.0 ) के दौरान के आंकड़ें आने शुरू हो गए हैं। कोर इंडस्ट्रीज और मैन्युफैक्रिंग सेक्टर ( Manufacturing Sector ) के डाटा के बाद जीएसटी कलेक्शन ( GST Collection ) के आंकड़ें सामने आ गए हैं। इस बार सरकार की कमाई अप्रैल के मुकाबले तीन गुना ज्यादा और मई के मुकाबले भ्ी काफी ज्यादा हुई है। जानकारों की मानें तो अनलॉक 1 में अर्थिक गतविधियां शुरू हुई हैं। जिसकी वजह से देश के लोगों की परचेंजिंग पॉवर भी बढ़ी और मांग बढऩे से खरीदारी भी हुई, जिसपर सरकार को जीएसटी का भुगतान हुआ है। आइए आपको भी बताते हैं कि सरकार की ओर से किस तरह के आंकड़े पेश किए हैं।

Core Industries के बाद Manufacturing Sector में भी राहत, गिरावट अब भी बरकरार

दो महीनों के बराबर हुई सरकार की कमाई
सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार जून में जीएसटी संग्रह 90917 करोड़ रुपए का देखने को मिला है। यह कमाई अप्रैल और मई में आए कुल जीएसटी कलेक्शन के बराबर है। अप्रैल में जीएसटी कलेक्शन 32294 करोड़ रुपए और मई में 62009 करोड़ रुपए का देखने को मिला था। वैसे पिछले साल जून के मुकाबले इस महीने में 9 फीसदी जीएसटी कलेक्शन कम हुआ है। साल की पहली तिमाही में जीएसटी कलेक्शन पिछले साल की तुलना में 59 फीसदी रहा है। कोरोना वायरस के दौरान पहली बार जीएसटी कलेक्शन के आंकड़े जारी नहीं हुए हैं। इससे पहले जारी नहीं हुए थे।

China से India में आने वाले इन सामानों को मिली Import में छूट, देखिये कंपनियों की लिस्ट

किस मद में मिकतना कलेक्शन
जून में जीएसटी संग्रह: 90,917 करोड़ रुपए
केंद्रीय जीएसटी: 18,980 करोड़ रुपए
राज्य जीएसटी: 23,970 करोड़ रुपए
एकीकृत जीएसटी: 40,302 करोड़ रुपए
उपकर : 7,665 करोड़ रुपए
रेगुलर सेटलमेंट सीजीएसटी: 13,325 करोड़ रुपए
केंद्र को राजस्व: 32,305 करोड़ रुपए
रेगुलर सेटलमेंट एसजीएसटी: 11,117 करोड़ रुपए
राज्यो को राजस्व: 35087 करोड़ रुपए

आम लोगों को लगा महंगाई का झटका, LPG Cylinder Price में लगातार दूसरे महीने इजाफा

कोरोना वायरस की वजह से प्रभ्भावित हुआ रेवेन्यु
कोरोना वायरस महामारी की वजह से इस वित्त वर्ष में सरकार का रेवेन्यू बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। अप्रैल में जीएसटी कलेक्शन 32294 करोड़ रुपए देखने को मिला था। जो पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले केवल 28 फीसदी था। जबकि मई के महीने में कलेक्शन 62009 करोड़ रुपए देखने को मिला था जो पिछले साल मई की तुलना में 62 फीसदी था।

Core Sector में राहत के संकेत, लगातार तीसरे महीने देखने को मिली गिरावट

सरकार की ओर से दी गई राहत
जून में जीएसटी कलेक्शन पिछले साल इसी महीने की तुलना में 91 फीसदी हुआ, जबकि सरकार ने जीएसटी रिटर्न फाइल करने में राहत दी थी। फरवरी, मार्च और अप्रैल के कुछ रिटर्न जून में दाखिल हुए है। इसी तरह मई के कुछ रिटर्न जुलाई के पहले कुछ दिनों में दाखिल होंगे।

Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned