जम्मू एवं कश्मीर में फर्जी जीएसटी का मामले आया सामने, ई-बिलिंग गिरोहा का हुआ भंडाफोड़

  • जम्मू एवं कश्मीर में शनिवार को एक अंतर्राज्यीय फर्जी जीएसटी और ई-बिलिंग गिरोह का भंडाफोड़ किया गया।
  • बिक्री कर विभाग ने आगे की जांच के लिए यह मामला केंद्रीय उत्पाद शुल्क और खुफिया के महानिदेशक को भेज दिया है।

By: Ashutosh Verma

Published: 10 Mar 2019, 08:40 PM IST

नई दिल्ली। जम्मू एवं कश्मीर में शनिवार को एक अंतर्राज्यीय फर्जी जीएसटी और ई-बिलिंग गिरोह का भंडाफोड़ किया गया। एक अधिकारी ने कहा कि गिरोह करोड़ों रुपयों का गबन कर चुका है। जम्मू एवं कश्मीर बिक्री कर विभाग के एक प्रवक्ता ने कहा कि अधिकारियों की एक टीम ने शनिवार को 40 लाख रुपये के सामान ले जा रहे एक वाहन को जब्त कर लिया और उस सामान की वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) और ई-बिलिंग दस्तावेज फर्जी पाए गए।

यह भी पढ़ें - IL&FS संकट का असर अब सेना के लिए बनाए गए फंड्स पर, बेकार हो सकते हैं निवेश

केंद्रीय उत्पाद शुल्क और खुफिया माहनिदेश को भेजा गया मामला

प्रवक्ता ने कहा, "यह गिरोह अप्रैल 2018 से संचालित था। यह फर्जी जीएसटी दस्तावेज तथा फर्जी ई-बिल्स दस्तावेज बनाने का काम करता था।" उन्होंने कहा कि गिरोह की संचालक महिला एंटरप्राइजेज, महिला गारमेंट्स और एआर इलेक्ट्रिकल्स के मालिक दिल्ली निवासी राजीव भाटिया के रूप में हुई और यह घोटाला पीके ट्रेडर्स, संतोष ट्रेडर्स, रवीश ट्रेडर्स, खान एंटरप्राइजेज और महिला ट्रेड मार्ट नाम के फर्जी जीएसटी धारकों के नाम से चल रहा था। बिक्री कर विभाग ने आगे की जांच के लिए यह मामला केंद्रीय उत्पाद शुल्क और खुफिया के महानिदेशक को भेज दिया है।

(नोट: यह खबर न्यूज एजेंसी फीड से प्रकाशित की गई है। पत्रिका बिजनेस ने इसमें हेडलाइन के अतिरिक्त कोई अन्य बदलाव नहीं किया है।)

Goods and Services Tax GST
Ashutosh Verma Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned