अगर भर दिया है गलत रिटर्न, तो ऐसे दें टैक्स नोटिस का जवाब

manish ranjan

Publish: Aug, 23 2017 02:58:00 (IST)

Economy
अगर भर दिया है गलत रिटर्न, तो ऐसे दें टैक्स नोटिस का जवाब

इनकम टैक्स भरते समय आपने कोई गलती कर दी हैं तो घबराने की कोई जरूरत नहीं हैंं।

नई दिल्ली। यदि इनकम टैक्स भरते समय आपने कोई गलती कर दी हैं तो घबराने की कोई जरूरत नहीं हैंं। हो सकता है की सेक्शन 80सी के अंतर्गत आपने दो बार डिडक्शन क्लेम कर दिया हो या फिर आपका फार्म 26एएस आपके टीडीएस सर्टिफिकेट से मैच नहीं कर रहा होंं। ऐस भी हो सकता है कि आयकर विभाग के पास पहले से मौजूद जानकारी और आपके द्वारा दिए गए जानकारी में कोई अंतर हो। ऐसे में इनकम टैक्स विभाग के तरफ से आपको नोटिस मिल सकता हैं।

 

पहले इनकम टैक्स विभाग इसके लिए आपको नोटिस भेजकर नजदीकी इनकम टैक्स ऑफिस मे हाजिर होने के लिए बुलाता था। उसके बाद आपके द्वारा दिए गए जानकारी के आधार पर पूछताछ करता था। लेकिन अब सरकार ने इसके लिए ई-प्रोसिडिंग की सुविधा प्रदान कर दी हैं जहंा एक टैक्सपेयर बिना मौजूद हुए अपना रिस्पॉन्स विभाग को दे सकता हैं। इस सिस्टम के तहत, एक टैक्सपेयर को ई-मेल या एसएमएस के जरिए इंफॉर्म किया जाता हैं।

नीचे हमने आपको स्टेप्स के जरिए सेक्शन 143(1)(ए) अंतर्गत भेजे गए नोटिस को रिस्पॉन्स करने का तरीका बताया हैं।

स्टेप 1: इनकम टैक्स के वेबसाइट पर जाएं, जिसका लिंक ये हैं -  www.incometaxindiaefiling.gov.in

 

Step 1

स्टेप 2: अपने यूजर आईडी के जरिए अपने एकाउंट को लॉग इन करिए। इसके लिए आपको अपने पैन, पासवर्ड, जन्मतिथि, कैप्चा की जरूरत होगा इसके आप सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करें।

 

Step 2

स्टेप 3: लॉग इन के बाद ई-प्रॉसिडिंग के टैब पर क्लिक करें और फिर ई-एसेसमेंट के ऑप्शन पर क्लिक करें।

 

Step 3

स्टेप 4: एक नया पेज खुलेगा, जिसपर आपके पैन, एसेसमेंट इयर, प्रोसिडिंग नाम और प्रोसिडिंग स्टेटस दिया होगा।

स्टेप 5: प्रोसिडिंग नाम से एक हाइपरलिंक दिया होगा, उसपर क्लिक करें।

स्टेप 6: आपके स्क्रीन पर आगे और अधिक प्रोसिडिंग डिटेल्स खुलेंगे, जिसमें आपका रेफरेंस आईडी, नोटिस सेक्शन, नोटिस इश्यू जैसी कुछ जानकारी होगी।

स्टेप 7: इस स्टेप में आप अपने डिटेल्स जानने के लिए रेफरेंस आईडी पर क्लिक करें। नोटिस का जवाब देने के लिए सबमिट बटन पर क्लिक करें।

स्टेप 8: इसके बाद एक नया पेज खुलेगा। इस पेज आपके द्वारा दिए जारकारियों के मिसमैच डिटेल्स दिया होगा जिसके लिए आपको नोटिस भेजा गया हैं।

स्टेप 9: रिस्पॉन्स टैब के तहत आप अग्री टू एडिशन या डिसअग्री टू एडिशन को सेलेक्ट करें। यदि आप जारी किए हुए ऑब्जेक्शन पर सहमत होते हैं तो आपको 15 दिन के अंदर फिर से इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करना होगा।

स्टेप 10: अगर आप असहमत होते हैं तो आपको नीचे दिए गए विकल्पों मे से एक का चुनना होगा।

स्टेप 11: मिसमैच से जुड़े डिटेल्स को भरें। इसके लिए आपको सपोर्टिंग डाक्यूमेंट का सबमिट करना होगा जिससे की आप अपने किए हुए दावे को सर्पोट कर सकें।

स्टेप 12: इसके बाद सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करें। इसके साथ ही आपको ट्रांजैक्शन आईडी के साथ एक मैसेज मिलेगा।

ये प्रक्रिया पूरा होने के बाद आप व्यू बटन पर क्लिक करके अपना रिस्पॉन्स भी देख सकते हैं। यहां अपने क्लेम को सपोर्ट करने के लिए आपके द्वारा सबमिट किए गए डाक्यूमेंट भी देख सकते हैं।

नोट: सेक्शन 143(1)(ए) के तहत भेजे गए नोटिस के लिए ई-प्रोसिडिग्स अनिवार्य हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned