ये है देश के सबसे अमीर राज्य जिन्होंने भारत को बना दिया छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था

ये है देश के सबसे अमीर राज्य जिन्होंने भारत को बना दिया छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था

Manish Ranjan | Publish: Sep, 07 2018 11:38:53 AM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

एक देश को अमीर बनाने में सबसे बड़ा हाथ उसके राज्यों का होता हैं। भारत को भी अमीर बनाने में इसके राज्यों का ही हाथ हैं।

नई दिल्ली। एक देश को अमीर बनाने में सबसे बड़ा हाथ उसके राज्यों का होता हैं। भारत को भी अमीर बनाने में इसके राज्यों का ही हाथ हैं। भारत में कई ऐसे राज्य हैं जो नेचुरल संसाधनों की वजह से काफी धनवान है। इन राज्यों की जीडीपी और आर्थिक विकास हर साल बढ़ती है। आज हम आपको ऐसे कुछ राज्यों के बारे में बताने जा रहे हैं। जिनके कारण भारत बना गया है देश की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था। ये राज्‍य भारत को आर्थिक रुप से मजबूत बनाते हैं और साथ ही दुनिया भर के अन्‍य देशों के मुकाबले एक बड़ी पहचान दिलाते हैं। तो आइए जानते हैं कि वो राज्‍य कौन से हैं जो देश की इकोनॉमी को बढ़ाने में महत्‍वपूर्ण योगदान निभाते हैं।

इस के कारण भारत छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था
देश को छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाने में जिसका सबसे बड़ा हाथ है वो है महाराष्‍ट्र का। महाराष्‍ट्र 27.96 लाख करोड़ के जीडीपी के साथ भारत में सबसे धनी राज्यों में से एक है। मुंबई महाराष्ट्र की राजधानी है 2014 में इसमें लगभग 430 अरब डॉलर का सकल घरेलू उत्पाद था और अब इसे $ 398 बिलियन तक बढ़ाया गया है। महाराष्ट्र का प्रति व्यक्ति वेतन 1,660 डॉलर है महाराष्ट्र एक तीसरा शहरीकृत राज्य है जिसमें पूरे जनसंख्या का 45% शहरी आबादी है। यह प्रोग्रामिंग का दूसरा सबसे बड़ा निर्यातक है। मुंबई को भारत के प्रमुख मार्ग के रूप में जाना जाता है और यह देश की वाणिज्यिक राजधानी है।

ये है दूसरा सबसे अमीर राज्य
तमिलनाडु भारत दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला राज्य है जिसकी वर्तमान जीडीपी रुपये के साथ 15,96 बिलियन (यूएस $ 210 बिलियन) है। वर्ष 2014-15 में तमिलनाडु का प्रति व्यक्ति वेतन 3,000 डॉलर था। राज्य के लगभग आधे लोग शहरी में रह रहे हैं। राज्यों में प्रशासन का लगभग 51% मौद्रिक एक्‍सरसाइज का योगदान होता है।

इन राज्यों का भी अहम रोल
गुजरात 14.96 करोड़ लाख (यूएस $ 110 बिलियन) का सकल घरेलू उत्पाद है। मुंबई के बाद यह पश्चिमी भारत में सबसे बड़ा अंतर्देशीय मैकेनिकल फोकस है। यह राज्य रत्न और हीरे का सबसे बड़ा निर्यातक है।यह देश में कृषि उत्पादों का सबसे बड़ा उत्पादक है। उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था 14.89 लाख करोड़ (230 अरब अमेरिकी डॉलर) के सकल घरेलू उत्पाद के साथ तीसरी सबसे बड़ी है। लगभग 22.3% राज्यों में शहरीकरण हैं। उत्तर प्रदेश में सात शहरी समुदायों में 10 लाख से अधिक आबादी हैं उत्तर प्रदेश को कृषि राज्य कहा जाता है क्योंकि यह भारत में पोषण अनाज के निर्माण के लिए लगभग 18.9% योगदान देता है।

कर्नाटक है पांचवे नंबर पर
तो वहीं देश का पांचवा सबसे अमीर राज्य हैं कर्नाटक। यह भारत में उच्च वित्तीय विकास राज्यों में से एक है, जिसमें 14.08 लाख करोड़ (यूएस $ 217 बिलियन) जीडीपी है। कर्नाटक में प्रति व्यक्ति के रूप में सबसे उल्लेखनीय विकास दर दर्ज की है। कर्नाटक का ट्रेडिशनल विकास में 16% योगदान होता है।

Ad Block is Banned