वित्त मंत्री जेटली ने कहा - साल 2030 तक दुनिया का तीसरी बड़ा अर्थव्यवस्था बन जाएगा भारत

वित्त मंत्री जेटली ने कहा - साल 2030 तक दुनिया का तीसरी बड़ा अर्थव्यवस्था बन जाएगा भारत

Ashutosh Kumar Verma | Updated: 07 Apr 2019, 07:07:37 PM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

  • 2024 तक 5 हजार अरब डॉलर का अर्थव्यवस्था पर बनेगा भारत।
  • गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाली आबादी में आएगी कमी।
  • अगले लोकसभा चुनाव तक मध्यमवर्ग की आबादी में होगी बढ़ोतरी।

नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शनिवार को कहा कि वर्ष 2030 तक बढ़ती खपत और निवेश वृद्धि के साथ सकल घरेलू उत्पाद ( जीडीपी ) का आंकड़ा दस हजार अरब डालर तक पहुंच जायेगा और तब भारत दुनिया की तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बन सकता है। जेटली ने कहा कि वर्तमान में देश की अर्थव्यवस्था का आकार 2900 अरब डॉलर है। उन्होंने कहा, "डॉलर की स्थिति के हिसाब से हम अभी पांचवें और छठे पायदान के बीच झूल रहे हैं। जब हम आने वाले वर्षों की तरफ नजर दौड़ाते हैं तो हम 2024 तक पांच हजार अरब डॉलर तथा 2030 या 2031 तक 10 हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बन जाएंगे।"


दुनिया की तीन बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में होगी प्रतिस्पर्धा

जेटली ने कहा, "जब हम अमरीका और चीन के साथ दुनिया की तीन सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में शामिल होंगे, तब निश्चित तौर पर हम तीन बड़ी अर्थव्यवस्थायें ऐसी प्रतिस्पर्धा में होंगे जहां हर कोई एक दूसरे से आगे निकलने की कोशिश कर रहा होगा। कुल मिलाकर अर्थव्यवस्था का आकार और अवसर बढऩे वाले हैं।" अगले 20 साल के दौरान आर्थिक वृद्धि के अग्रणी क्षेत्रों का जिक्र करते हुये उन्होंने कहा कि बुनियादी संरचना का सृजन, ग्रामीण क्षेत्र का विस्तार और लैंगिक समानता सहित अन्य चीजें इसमें शामिल होंगी।


गरीबी रेखा से जीवनयापन करने वाली आबादी में आएगी कमी

जेटली ने कहा कि 2011 की जनगणना के आधार पर देश की 21.90 प्रतिशत आबादी गरीबी रेखा के नीचे गुजर-बसर कर रही थी। वृद्धि की मौजूदा दर के आधार पर गणना करें तो यह अनुपात और कम होकर 17 प्रतिशत पर आ गया होगा। यह 2021 तक और कम होकर 15 प्रतिशत पर तथा 2024-25 तक 10 प्रतिशत से भी नीचे आ जाएगा। वित्तमंत्री ने एक अध्ययन का हवाला देते हुए कहा कि इसी के साथ देश में मध्यम वर्ग की आबादी 2015 के 29 प्रतिशत से बढ़कर 44 प्रतिशत पर पहुंच जाएगी।


2024 तक बढ़ेगी मध्यमवर्ग की आबादी

उन्होंने कहा, "इस कारण जब आप आगे देखते हैं तो आपको गरीबी समाप्त होती दिखायी देगी, आपको मध्यम वर्ग की शानदार वृद्धि दिखाई देगी और संभवत: 2030 तक देश की आधी आबादी मध्यम वर्ग की श्रेणी में होगी।" उन्होंने कहा कि यदि आंकड़ों पर गौर किया जाये तो जब 2024 में लोकसभा चुनाव होंगे तब देश में मध्यम वर्ग की आबादी गरीबी रेखा के नीचे के रह गये लोगों के मुकाबले चार गुणा अधिक होगी और तब यह देखने की बात होगी कि सामाजिक संवाद क्या होगा। जनता के बीच किस तरह की चर्चा होगी।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें Patrika Hindi News App.

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned