US के प्रतिबंध के बाद भी भारत में नहीं होगी पेट्रोल-डीजल की कमी, अब से सऊदी से तेल आयात करेगा भारत

US के प्रतिबंध के बाद भी भारत में नहीं होगी पेट्रोल-डीजल की कमी, अब से सऊदी से तेल आयात करेगा भारत

Shivani Sharma | Publish: May, 18 2019 12:49:04 PM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

  • भारत की सबसे बड़ी पेट्रोलियम कंपनी इंडियन ऑइल कार्पोरेशन ( IOCL ) ने दी जानकारी
  • ईरान से तेल आयात बंद होने के बाद भी भारत में पेट्रोल-डीजल के कारोबार और पेट्रोलियम पदार्थों की आपूर्ति पर कोई असर नहीं होगा
  • सऊदी अरब से अधिक तेल आयात करेगा भारत

नई दिल्ली। भारत की सबसे बड़ी पेट्रोलियम कंपनी इंडियन ऑयल कार्पोरेशन ( IOCL ) ने जानकारी देते हुए बताया कि ईरान से तेल आयात बंद होने के बाद भी भारत में पेट्रोल-डीजल के कारोबार और पेट्रोलियम पदार्थों की आपूर्ति पर कोई असर नहीं होगा। कंपनी ने कहा है कि ईरान से होने वाले आयात की कमी को दूर करने के लिए अमरीका से कच्चे तेल आयात का अनुबंध किया गया है। इस अनुबंध से भारत में पेट्रोल-डीजल की कोई कमी नही होगी।


सऊदी अरब से आयात करेंगे तेल

इसके साथ ही आईओसीएल ने जानकारी देते हुए बताया कि सऊदी अरब से अधिक तेल आयात किया जा रहा है। इससे ईरान आयात के बड़े हिस्से की भरपाई कर ली गई है। सउदी अरब से तेल खरीदने के कारण भारत में तेल की कमी को पूरा कर लिया जाएगा। कंपनी ने कहा कि हम सउदी अरब से तेल आयात करके भारत में पूर्ती करेंगे।


ये भी पढ़ें: पेट्रोल के दाम में लगातार दूसरे दिन 7 पैसे प्रति लीटर की कटौती, डीजल के दाम स्थिर


कई देशों से आयात करेंगे तेल

इंडियन ऑइल के चेयरमैन संजीव सिंह ने शुक्रवार को जानकारी देते हुए बताया कि हमने वैकल्पिक स्रोतों से आपूर्ति का अनुबंध किया है। कोई एक देश इसकी भरपाई नहीं कर सकता है, इसलिए हमने विभिन्न स्रोतों से इसकी व्यवस्था की है। हम अपने आपूर्ति स्रोतों के मामले में उचित विविधता रखते हैं। ईरान से होने वाले आयात की भरपाई के लिये हमने पूरी व्यवस्था कर ली है।


ईरान से किया जाता था सबसे ज्यादा तेल आयात

अमरीकी प्रतिबंध लागू होने के बाद ईरान से तेल आयात करने पर रोक लगा दी गई है। आपको बता दें कि देश में जितने कच्चे तेल का आयात होता है उसका दसवां हिस्सा ईरान से मंगाया जाता रहा है। 31 मार्च को समाप्त वित्त वर्ष 2018-19 में भारत ने ईरान से कुल मिलाकर 2.40 करोड़ टन कच्चे तेल की खरीदारी की गई थी। इसमें से 90 लाख टन तेल की खरीदारी इंडियन ऑइल ने की थी।


ये भी पढ़ें: RBI ने YES बैंक को दिए निर्देश, कहा- पूर्व एमडी-सीईओ राणा कपूर से 1.44 करोड़ रुपए का बोनस वापस लिया जाए


1 मई को लगया गया था प्रतिबंध

1 मई से अमरीकी के द्वारा लगाए गए प्रतिबंध के बाद से इंडियन ऑयल और दूसरी भारतीय रिफाइनरी कंपनियों ने ईरान से कच्चे तेल का आयात बंद कर दिया है। इस आयात के बंद होने के बाद से ही भारतने अन्य देशों से तेल का आयात करना शुरु कर दिया है। इसकी भरपाई के लिए आईओसीएल ने सउदी अरब से 56 लाख टन सालाना खरीद अनुबंध है। इसके ऊपर कंपनी को 20 लाख टन अतिरिक्त आयात का विकल्प उपलब्ध है।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार,फाइनेंस,इंडस्‍ट्री,अर्थव्‍यवस्‍था,कॉर्पोरेट,म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned