मजदूरों पर फिर मेहरबान हुई सरकार, मनरेगा के बजट में 40 हजार करोड़ का इजाफा

  • MANREGA के बजट में सरकार ने किया इजाफा
  • 40 हजार करोड़ एक्सट्रा मिलेगा पैसा
  • आर्थिक राहत पैकेज की आखिर किस्त में हुआ ऐलानMANREGA MAZDOOR

By: Pragati Bajpai

Updated: 17 May 2020, 02:15 PM IST

नई दिल्ली: बुधवार से लगातार देश को 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज ( ECONOMIC RELIEF PACKAGE ) की जानकारी दे रही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ( FINANCE MINISTER NIRMALA SITHRAMAN ) ने आज भी प्रेस कांफ्रेस ( PRESS CONFERENCE ) की। इस प्रेस कांफ्रेंस के जरिए सरकार ने राहत पैकेज ( RELIEF PACKAGE ) की आखिरी किस्त की घोषाणाएं की। वित्त मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री मंत्री ने कहा था कि आपदा को अवसर में बदलने की जरूरत है। उसी के मुताबिक ये आर्थिक पैकेज तैयार किया गया है। उन्होंने कहा कि इस पैकेज में लैंड ( LAND ), लेबर ( LABOUR ), लॉ ( LAW ), लिक्विडिटी ( LIQUIDITY ) पर जोर दिया गया है। आर्थिक राहत पैकेज की आखिरी किसत में एक बार फिर सरकार मजदूरों पर मेहरबान दिखी। वित्त मंत्री ने सरकार द्वारा अब तक किस तरह से मजदूरों की मदद की गई इसके बारे में बताने के अलावा मजदूरों से जुड़ी कुछ नई घोषणाएं भी की।

Manrega के लिए 40 हजार करोड़ का ऐलान- सरकार ने मनरेगा बजट में बड़ा इजाफा किया है। मोदी सरकीर ने Manrega के तहत 40 हजार करोड़ के अतिरिक्त अनुदान की घोषणा की है। पहले मनरेगा का बजट 61 हजार करोड़ रुपये था, अब इसमें 40 हजार करोड़ का इजाफा किया गया है।

Manrega के तहत मजदूरी भी बढ़ा चुकी है सरकार- इससे पहले घोषित हुए आर्थिक पैकेज में सरकार ने मजदूरों की मजदूरी में 20 रूपए का इजाफा किया था । इसके अलावा सरकार ने प्रवासी मजदूरों को उनको गृह-क्षेत्र में काम देने के अलावा मजदूरों की स्थिति को देखते हुए One Nation One Ration Card Scheme को भी त्तकाल प्रभाव से लागू कर दिया गया है। ताकि मजदूर पूरे देश में कहीं भी सरकारी डिपो से अपने लिए अनाज ले सकें।

Pragati Bajpai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned