जैक मा को पीछे छोड़ मुकेश अंबानी बने एशिया के सबसे अमीर इंसान

जैक मा को पीछे छोड़ मुकेश अंबानी बने एशिया के सबसे अमीर इंसान

Saurabh Sharma | Publish: Jul, 13 2018 10:26:20 PM (IST) | Updated: Jul, 14 2018 10:09:00 AM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

रिलायंस इंडस्ट्री के मालिक मुकेश अंबानी ने अलीबाबा के फाउंडर जैक मा को पीछे छोड़ते हुए एशिया के सबसे अमीर इंसान बन गए हैं।

नई दिल्ली। जब से मुकेश अंबानी के बड़े बेटे की सगार्इ श्लोका मेहता से हुर्इ है तब से रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक घर में खुशियों की बहार छार्इ हुर्इ है। 11 साल के बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज 100 अरब डाॅलर की कंपनी बनी। अब जो खुशी मुकेश अंबानी के हिस्से में आर्इ है वो वाकर्इ चौंकाने वाली है। मुकेश अंबानी एशिया के सबसे अमीर इंसान हो गए हैं। उन्होंने चीन की सबसे बड़ी कंपनी अलिबाबा के मालिक जैक मा को पीछे छोड़ दिया है। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर मुकेश अंबानी ने जैक मा को कैसे पीछे छोड़ा है।

इतनी बढ़ गर्इ मुकेश अंबानी की संपति
रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के मालिक मुकेश अंबानी ने शुक्रवार को कारोबार के दौरान अलीबाबा ग्रुप के फाउंडर जैक मा को पीछे छोड़ दिया। मुकेश अंबानी की संपत्ति सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन 44.3 अरब डॉलर पहुंच गई है। वहीं जैक मा की संपत्ति 44 अरब डॉलर थी। जिसके बाद मुकेश अंबानी एशिया के सबसे अमीर इंसान हो गए।

इससे बढ़ी मुकेश अंबानी की संपत्ति
अंबानी की संपत्ति बढ़ने की सबसे बड़ी वजह पेट्रोकेमिकल कारोबार की कैपेसिटी डबल करने के कारण हुर्इ है। वहीं दूसरी आेर रिलायंस जियो की सफलता से इन्वेस्टर भी खुश हैं। महीने की शुरूआत में मुकेश अंबानी ने बताया था कि 21.5 करोड़ जियो यूजर्स हैं। अब वह अपना ई-कॉमर्स कारोबार में फैलाने पर काम कर रहे हैं। साल 2018 में अलीबाबा ग्रुप होल्डिंग लिमिटेड के जैक मा की नेटवर्थ में 1.4 अरब डॉलर खोया है।

एजीएम के बाद फिर बनी 100 अरब डाॅलर की कंपनी
मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्री लगातार सफलता की सीढ़ियां चढ़ रही है। मीटिंग में अंबानी ने बताया कि जियो ने 1,100 शहरों में फाइबर बेस्ड ब्रॉडबैंड शुरू की है। ये वर्ल्ड में किसी भी जगह फिक्स्ड लाइन का बड़ा नेटवर्क है। सालाना मीटिंग में घोषणा के बाद रिलायंस 100 अरब डॉलर के क्लब में एक बार फिर से एंट्री कर ली है।

पिता से मिली विरासत
मुकेश अंबानी को रिलायंस इंडस्ट्रीज अपने पिता धीरूभार्इ अंबानी से मिली थी। धीरूभार्इ अंबानी की मौत के बाद साल 2005 में मुकेश और अनिल ने कंपनी को आपस में बांट लिया। जिसके बाद मुकेश अंबानी ने अपनी काबिलियत के दम पर कारोबार को इतना आगे बढ़ा दिया।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned