अर्थशास्त्र का नोबेल जीतने वाली एस्थर का महिलाओं को सन्देश हमेशा जीत के बारे में सोचें

अर्थशास्त्र का नोबेल जीतने वाली एस्थर का महिलाओं को सन्देश हमेशा जीत के बारे में सोचें
-नोबेल प्राइज मिलने के बाद महिला अर्थशास्त्री ने कहा कि वे महिलाओं को प्रेरित करना चाहती थीं

 

गरीबी में जीवन बिता रहे लोगों को बाहर निकालने के प्रयोगात्मक दृष्टिकोण विकसित करने के लिए मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के प्रोफेसर अभिजीत बनर्जी और उनकी पत्नी एस्थर डुफ्लो और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के माइकल क्रेमर को इस वर्ष के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। ५८ वर्षीय अभिजीत भारत में पैदा हुए थे जबकि उनकी पत्नी 46 वर्षीय एस्थर डुफ्लो फ्रांस में पैदा हुई थीं। पति-पत्नी की यह जोड़ी कई मायनों में खास है। सबसे पहले तो पति-पत्नी के रूप में नोबेल जीतने वाले वे दुनिया के छठे पति-पत्नी हैं। इतना ही नहीं एस्थर सबसे कम उम्र की अर्थशास्त्री हैं जिन्हें नोबेल सम्मान से नवाजा गया है। वहीं वे दूसरी महिला हैं जिन्हें अर्थशास्त्र के क्षेत्र में यह प्रतिष्ठित पुरस्कार दिया गया है। उम्र के ४०वें पड़ाव में नोबेल जीतने वाली एस्थर ने 2010 में जॉन बेट्स क्लार्क पदक भी जीता है।


महिलाओं को प्रेरित करना था उद्देश्य
पुरस्कार मिलने की घोषण के बाद एस्थर ने कहा कि वे इस सम्मान को उन सभी महिलाओं को समर्पित करती हैं जो अपने-अपने क्षेत्र में दिन-रात कड़ी मेहनत करती हैं। उन्होंने कहा कि वे अपने काम के जरिए दुनिया भर की महिलाओं को प्रेरित करना चाहती थीं ताकि वे हारकर बैठ न जाएं। उन्होंने दो पुरुषों के साथ्ळा इस सम्मान को साझा करने पर कहा कि गरीबी जैसी वैश्विक समस्याओं से लडऩे में हम तीनों एक साथ खड़े रहे। मुझे उम्मीद है कि इसके बाद लोग महिलाओं के काम को भी गंभीरता से लेंगे।

ये पति-पत्नी रहे नोबेल विजेता
-मैरी क्यूरी और पियरे क्यूरी (भौतिकी में नोबेल, 1903)
-आयरीन जोलियट-क्यूरी और फ्रेडरिक जोलियट (रसायन में नोबेल, 1935)
-गर्टी कोरी और कार्ल कोरी (मेडिसिन में नोबेल, 1947)
-गनर मायरडल-अल्वा मायरडल (गनर को 1974 में अकोनोमिक्स साइंस के लिए और अल्वा को 1982 में शांति के लिए नोबेल पुरसकार मिला था)
-मे ब्रिट-मोजेर और एडवर्ड आइ. मोजेर (मेडिसिन में नोबेल, 2014)

Mohmad Imran
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned