रेलवे का बड़ा तोहफा: राजधानी, शताब्दी समेत इन रेलगाड़ियों के टिकट हुए सस्ते, नई दरें लागू

manish ranjan

Publish: Apr, 16 2018 05:38:24 PM (IST)

Economy
रेलवे का बड़ा तोहफा: राजधानी, शताब्दी समेत इन रेलगाड़ियों के टिकट हुए सस्ते, नई दरें लागू

भारतीय रेल ने यात्रियों को बड़ा तोहफा दिया है। आज यानि 16 अप्रैल से राजधानी, शताब्दी, दूरंतो समेत कई ट्रेनों का किराया कम हो गया है।

नई दिल्ली। भारतीय रेल ने यात्रियों को बड़ा तोहफा दिया है। आज यानि 16 अप्रैल से राजधानी, शताब्दी, दूरंतो समेत कई ट्रेनों का किराया कम हो गया है। दरअसल सरकार ने देश की सभी प्रीमियम ट्रेनों के किराए में खाने के चार्ज में लगने वाले जीएसटी को 18 फीसदी से घटाकर 5 फीसदी कर दिया गया है। इन ट्रेनों में 16 तारीख से कटने वाले टिकट में खाने का चार्ज की जीएसटी केवल 5 फीसदी हो गई है। आपको बता दें कि अब तक केवल लंबी दूरी के सामान्य ट्रेन के खाने में ही 5 फीसदी का जीएसटी था। लेकिन अब शताब्दी, राजधानी, दूरंतो में ट्रेन के टिकट के साथ खाने के चार्ज पर 5 फीसदी जीएसटी लगा करेगा तो पहले 18 फीसदी था।

इतने पैसे बचेंगे
इस फैसले के बाद अब इन ट्रेन से सफर करने वाले यात्रियों के खर्च में 8 रुपए से लेकर 26 रुपए तक की बचत होगी। इसके लिए रेलवे बोर्ड को लेटर जारी कर दिया गया है। नया रेट लागू होने के बाद अब फर्स्ट एसी और एग्जीक्यूटिव चेयर कार में नाश्ता 90 रुपए में मिलेगा। जबकि सेकंड एसी, थर्ड एसी और चयेर कार में 70 रुपए में मिलेगा। वहीं दुरंतो के स्लीपर की बात की जाए में 40 रुपए में मिलेगा। फर्स्ट एसी और एग्जीक्यूटिव क्लास में जहां डिनर दिया जाएगा वहां शाम की चाय 45 रुपए में मिलेगी वहीं जहां डिनर की सुविधा नहीं दिया जाएगा वहां चाय 70 रुपए में मिलेगी।

इन गाड़ियों में भी होगी बचत
रेलवे बोर्ड ने राजधानी, शताब्दी और दूरंतो के अलावा गतिमान, शिवालिक और तेजस एक्सप्रेस में भी यह नियम लागू किया है। अब इन गाड़ियों में भी 18 फीसदी के बदले केवल 5 फीसदी की जीएसटी लगेगी। आपको बता दें भारतीय रेल के लिए राजधानी, शताब्दी, दुरंतो और बाकी प्रीमियम ट्रेनें बड़े मुनाफ़े का सौदा हैं। इसलिए जीएसटी की दर कम होने के बाद भी रेलवे को नुकसान नहीं होगा।

रेल यात्रियों को मिलेगी राहत
वित्त मंत्रालय के इस कदम को यात्रियों के हित में माना जा रहा है। जानकारों का कहना है कि रेलवे स्टेशन और ट्रेनों में खाने पर जीएसटी की एक ही दरें होने से यात्रियों को राहत मिलेगी। इसके पूरी तरह लागू होने से राजधानी और शताब्दी जैसी सुपरफास्ट ट्रेनों के खाने की कीमतों में गिरावट आएगी। आपको बता दें कि पिछले दिनों रेलमंत्री पीयूष गोयल की ओर से ट्रेनों में खाने का बिल अनिवार्य करने के बाद जीएसटी की अवैध वसूली के खेल का खुलासा हुआ था।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

1
Ad Block is Banned