सरकार की तमाम कोशिशों के बाद भी कम नही हो रही प्याज की कीमतें, 100 रुपए तक पहुंचे दाम

  • प्याज की कीमतों को कम करने पर सरकार के तमाम प्रयास नाकाम
  • स्टॉक लिमिट बढाने से लेकर आयात बढ़ाने तक का नहीं दिख रहा असर

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ( Central Govt ) की ओर से किए गए तमाम कोशिशों के बावजूद उपभोक्ताओं को सस्ती दरों पर प्याज ( Onion ) नहीं मिल रहा है। हालांकि देश में प्याज की उपलब्धता बढ़ाने और इसकी कीमतों को नियंत्रण में रखने को लेकर सरकार लगातार प्रयासरत है, लेकिन प्याज का दाम कब कम होगा, इस संबंध में सरकार के पास कोई जवाब नहीं है। देश की राजधानी दिल्ली ( Delhi ) में उपभोक्ता इस समय 60-80 रुपये किलो प्याज खरीद रहे हैं। वहीं देश के कुछ हिस्सों में तो यह 90 से 100 रुपए प्रति किलो तक जा पहुंचा है।

ये भी पढें: RIL का कमाल, 10 लाख करोड़ रुपए के मार्केट कैप की बनी पहली कंपनी

स्टॉक लिमिट बढ़ाने का आदेश

प्याज की कीमतों को नियंत्रण में रखने को लेकर केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री राम विलास पासवान ने बुधवार को प्याज पर लगाई गई स्टॉक लिमिट को अगले आदेश तक बढ़ाने का निर्देश दिया। सरकार ने 30 सितंबर को प्याज पर स्टॉक लिमिट लगाई थी जिसके अनुसार, खुदरा कारोबारियों के लिए 100 क्विंटल और थोक कारोबारियों के लिए 500 क्विं टल प्याज रखने की अधिकतम सीमा निर्धारित की गई थी। इसकी समय सीमा 30 नवंबर को समाप्त हो रही थी, मगर अब अगले आदेश तक जारी रहेगी। केंद्रीय उपभोक्ता मंत्रालय ने सभी राज्यों के सचिवों को पत्र लिखकर स्टॉक लिमिट की इस सीमा को आवश्यकतानुसार और घटाने और इसे सख्ती से लागू करने को कहा है ताकि बाजार में प्याज की उपलब्धता बढ़ाकर कीमतों को नियंत्रण में रखा जाए।

ये भी पढें: दबाव के बावजूद रिकॉर्ड लेवल पर खुले शेयर बाजार, भारती इंफ्राटेल के शेयरों में लौटी तेजी

बफर स्टॉक उतारा गया

पासवान ने कहा कि आरंभ में मानसून में विलंब होने और बाद में बेमौसम बरसात होने से देश में प्याज के उत्पादन में 26 फीसदी की गिरावट आई। उन्होंने कहा कि राज्य सरकारों की ओर से मांग नहीं आने के कारण बफर स्टॉक में रखा काफी प्याज खराब हो गया। मंत्रालय की ओर से बताए आंकड़े के अनुसार, सरकार ने पिछले दिनों बफर स्टॉक से करीब 57,000 टन प्याज बाजार में उतारा।

तुर्की, हॉलैंड और मिस्र से प्याज मंगाने की कोशिश

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि तुर्की, हॉलैंड और मिस्र से प्याज मंगाने की कोशिश जारी है। मंत्रालय ने सोमवार को बताया था कि विदेश व्यापार करने वाली सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी एमएमटीसी ने मिस्र से 6,090 टन प्याज के आयात का अनुबंध किया है और प्याज की यह खेप दिसंबर के पहले सप्ताह में आने वाली है। सरकार ने कुल 1.2 लाख टन प्याज आयात करने का फैसला लिया है। बाजार सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, बुधवार को दिल्ली के आजादपुर मंडी में अफगानिस्तानी प्याज की आवक बढ़ी। एक दिन पहले जहां एक ट्रक प्याज दिल्ली में उतरा था वहां बुधवार को सात ट्रक अफगानिस्तानी प्याज आया।

pm modi
Show More
manish ranjan
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned