200 रुपए किलो पहुंचे प्याज के दाम, जनवरी से पहले कीमतों में कमी के आसार नही

  • 200 रुपए प्रति किलो पहुंची प्याज की कीमतें
  • सरकार की प्रयासों से भी कम नही हो पा रहे दाम

By: manish ranjan

Updated: 08 Dec 2019, 02:00 PM IST

नई दिल्ली। प्याज की कीमतों पर लगाम लगने के बजाय ये लगातार बढती ही जा रही है। बेंगलुरू में प्याज की कीमत 200 रुपये प्रति कि. ग्रा. तक पहुंच गई। एक अधिकारी ने कहा कि बाजार में कम आपूर्ति के कारण प्याज के दामों में बढ़ोतरी होती जा रही है। राज्य कृषि विपणन अधिकारी सिद्दांगैया ने आईएएनएस को बताया, "प्याज की कीमत बेंगलुरू की कुछ खुदरा दुकानों में 200 रुपये प्रति कि. ग्रा. के स्तर को छू गई है। इसकी थोक दर 5,500 रुपये से 14,000 रुपये प्रति क्विंटल के बीच है।"

ये भी पढें: जीडीपी के साथ पांच साल के निचले स्तर पर कंज्यूमर कांफिडेंस इंडेक्स

थाली से गायब प्याज

बढ़ते दामों के बाद रसोई में आमतौर पर सबसे अधिक प्रयोग होने वाला प्याज अब लोगों की थाली से गायब होने लगा है। सिद्दांगैया के अनुसार, प्याज की कीमतें आसमान छू रही हैं और प्याज की कमी जनवरी के बीच तक रहने की उम्मीद है। भारत को वार्षिक 150 लाख मीट्रिक टन प्याज की आवश्यकता है। कर्नाटक में 20.19 लाख मीट्रिक टन प्याज का उत्पादन होता है। उत्पादन व फसल पकने के बाद हुए नुकसान को देखा जाए तो इस बार लगभग 50 फीसदी प्याज बर्बाद हो गया है।

ये भी पढ़ें: वित्त मंत्री ने दिए संकेत, अगले बजट में इनकम टैक्स में मिल सकती है राहत

नही बढ रही है आवक

नवंबर में कर्नाटक के बाजारों में एक दिन में 60-70 क्विंटल प्याज प्राप्त हुआ, जो दिसंबर में 50 फीसदी तक नीचे आ गया। इसकी वजह से संकट पैदा हो गया है। प्याज की उपलब्धता बढ़ाने के उद्देश्य से कृषि उपज मंडी समिति (एपीएमसी) ने एक परिपत्र जारी किया है कि प्याज का व्यापार छुट्टियों के दिनों में भी होना चाहिए।सिद्दांगैया ने कहा, "थोक और खुदरा विक्रेताओं के पास बहुत ज्यादा स्टॉक नहीं बचा है। आश्चर्यजनक रूप से कर्नाटक में प्याज भंडारण सुविधाएं अच्छी नहीं हैं।" इस बीच कर्नाटक के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग ने जमाखोरों पर नकेल कसने के लिए छापेमारी शुरू कर दी है।

manish ranjan Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned