पीएनबी फ्रॉड केस में आरोपी मेहुल चौकसी का अगला पनाहगार बना एंटीगुआ

मेहुल चौकसी के एंटीगुआ में फरार होने की जानकारी इंटरपोल से नोटिस जारी होने के बाद कैरिबियार्इ देश ने र्इडी के अधिकारियों को दी है।

By: Saurabh Sharma

Updated: 25 Jul 2018, 08:32 AM IST

नर्इ दिल्ली। देश के सबसे बड़े बैंकिंग घोटाले के मुख्य आरोेपी मेहुल चौकसी ने अपना ठिकाना बदल लिया है। अब वो अमरीका में नहीं है। प्राप्त जानकारी के अनुसार मेहुल चौकसी ने अपना ठिकाना एंटीगुआ को बनाया है। खास बात तो ये है कि उसने एंटीगुआ का पासपोर्ट तक बनवा लिया है। गौर करने वाली बात ये है कि एक दिन पहले मेहुल चौकसी ने पीएमएलए कोर्ट से एक लेटर माध्यम से कहा था कि अगर वो भारत आता है तो वो माॅब लिंचिंग का शिकार हो जाएगा। एेसे में अब उसका अमरीका से एंटीगुआ भाग जाना कर्इ बातों की आेर इशारा कर रहा है।

इंटोपाेल ने दी जानकारी
जानकारी के अनुसार मेहुल चौकसी के एंटीगुआ में फरार होने की जानकारी इंटरपोल से नोटिस जारी होने के बाद कैरिबियार्इ देश ने र्इडी के अधिकारियों को दी है। अधिकारियों की मानें तो चौकसी मौजूदा महीने में ही एंटीगुआ में शिफ्ट हुआ है। वहां का उसने पासपोर्ट तक बनवा लिया है। आपको बता दें कि देश के सबसे बड़े बैंकिंग घोटाले में मुख्य आरोपियों में से एक मेहुल चौकसी ने अपने भांजे नीरव मोदी के साथ मिलकर करीब 14 हजार करोड़ के बैंकिंग घोटाले को अंजाम दिया था।

सीबीआर्इ आैर र्इडी कर रही हैं मामले की जांच
मामला संज्ञान में आता उससे पहले वो नीरव मोदी के साथ देश को छोड़कर फरार हो गया। अब नीरव मोदी आैर मेहुल चौकसी के खिलाफ इंफोर्समेंट डायरेक्ट्रेट आैर सीबीआर्इ की टीम जांच में जुटी हुर्इ है। मेहुल चोकसी के खिलाफ दुनियाभर में रेड कॉर्नर नोटिस जारी हो चुका है। साथ मुंबर्इ की विशेष अदालत ने मेहुल चौकसी के खिलाफ गैर जमानती वाॅरंट तक जारी हो चुका है।

मेहुल ने बनाया था माॅब लिंचिंग का बहाना
इससे पहले साेमवार को मेहुल चोकसी ने माॅब लिंचिंग का बहाना बनाते हुए कहा था कि अगर वो भारत में आता है तो उसकी माॅब लिंचिंग के माध्सम से हत्या हो सकती है। इसलिए उसके खिलाफ जारी किए गए गैर जमानती वाॅरंट रद कर दिए जाएं। उसने अपनी अपील में कहा था उसके खिलाफ देश में माहौल बना हुआ है उससे उसके खुद आॅफिस में काम करने वाले लोग हमला कर देंगे। वहीं उसका पासपोर्ट तक रद कर दिया गया है। एेसे में वो भारत नहीं लौट पा रहा है। जिसके बाद विशेष जज एमएस आजमी ने इंफोर्र्समेंट डायरेक्ट्रेट को चौकसी की अपील पर जवाब दाखिल करने का कहा है। जिसपर अगली सुनवार्इ 18 अगस्त को होगी।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned