इन 10 राज्यों की जीडीपी से ज्यादा भरा है रिलायंस ने जीएसटी और इनकम टैक्स

इन 10 राज्यों की जीडीपी से ज्यादा भरा है रिलायंस ने जीएसटी और इनकम टैक्स

Saurabh Sharma | Publish: Aug, 12 2019 02:26:20 PM (IST) | Updated: Aug, 12 2019 02:33:08 PM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

  • 2018-19 में रिलायंस ने भरा है 67320 करोड़ रुपए जीएसटी
  • रिलायंस इंडस्ट्रीज ने भरा 12191 करोड़ रुपए का इनकम टैक्स

नई दिल्ली। देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी ने 42वीं एनुअल बोर्ड मीटिंग में कई तरह की घोषणाएं और जानकारियां दी। उन्होंने इस बात की भी जानकारी दी कि उन्होंने वित्त वर्ष में कितना इनकम टैक्स और जीएसटी भरा है। उन्होंने बताया कि रिलायंस इनकम टैक्स और जीएसटी जमा करने के मामले में देश की सबसे बड़ी कंपनी है। रिलायंस ने जीएसटी और इनकम टैक्स जमा करने के मामले में नया रिकॉर्ड कायम किया है। खास बात तो ये है कि रिलायंस ने इस बार जो इनकम टैक्स और जीएसटी भरा है उसका टोटल कर लें तो कई राज्यों की जीडीपी से भी ज्यादा है। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर उन्होंने कितना टैक्स भरा है।

यह भी पढ़ेंः- प्रोफिट आैर रेवेन्यू के दम पर दुनिया की सबसे बड़ी बड़ी टेलीकाॅम कंपनी बनी रिलायंस जियो

रिलायंस ने इतना भरा इनकम टैक्स
अपनी एजीएम की मीटिंग में मुकेश अंबानी ने बताया कि उन्होंने इस बार सरकार को 67320 करोड़ रुपए जीएसटी दिया है। जोकि पिछले साल के मुकाबले 24,768 करोड़ रुपए ज्यादा है। मुकेश अंबानी ने दावा किया है उनके द्वारा दिया गया जीएसटी एक रिकॉर्ड है। वहीं बात कंपनी के इनकम टैक्स करें तो उन्होंने इस बार 12191 करोड़ रुपए का रिलायंस ने इनकम टैक्स दिया है। जो पिछली बार के मुकाबले 3191 रुपए ज्यादा है। पिछली बार कंपनी ने करीब 9000 करोड़ रुपए इनकम टैक्स चुकाया था।

यह भी पढ़ेंः- रिलायंस AGM में मुकेश अंबानी ने किये कई बड़े ऐलान, एक क्लिक में जानिये सभी प्रमुख बातें

10 राज्यों की जीडीपी से ज्यादा है रिलायंस का टैक्स
अगर मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज के इनकम टैक्स और जीएसटी को जोड़ दिया जाए तो देश के 10 राज्यों की जीडीपी से ज्यादा है। रिलायंस ने इनकम टैक्स और जीएसटी को मिलाकर कुल 76,320 करोड़ रुपए जमा कराए हैं। जबकि त्रिपुरा की जीडीपी 46,133 करोड़ रुपए हैं। वहीं पुड्डुचेरी की जीडीपी 35,859 करोड़ रुपए, चंडीगड़ की 31,823 करोड़ रुपए, मेघालय की 32,972 करोड़ रुपए, अरुणाचल प्रदेश की 23,437 करोड़ रुपए, मणिपुर की 23,048, सिक्किम 22,248, नगालैंड 21,488, मिजोरम 17,620 करोड़ रुपए और अंडमान एंड निकोबार 6,649 करोड़ रुपए हैं। वहीं करीब आधा दर्जन राज्यों की कुल जीडीपी के बराबर मुकेश अंबानी ने टैक्स भरा है।

यह भी पढ़ेंः- RIL 42nd AGM: रिलायंस के रिफाइनिंग कारोबार में 20 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगी सऊदी अरामको

10 राज्यों की जीडीपी

राज्य जीडीपी (करोड़ रुपए में)
त्रिपुरा 46,133
पुड्डुचेरी 35,859
चंडीगड़ 31,823
मेघालय 32,972
अरुणाचल प्रदेश 23,437
मणिपुर 23,048
सिक्किम 22,248
नगालैंड 21,488
मिजोरम 17,620
अंडमान एंड निकोबार 6,649

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned