भारत के इन गांवों में नहीं है गरीबी, यहं हर इंसान है लखपति

भारत के इन गांवों में नहीं है गरीबी, यहं हर इंसान है लखपति

Manish Ranjan | Updated: 23 Sep 2019, 02:32:17 PM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

  • भारत के सबसे अमीर गांव
  • चीन-जापान को भी देते हैं मात

नई दिल्ली। भारत तेजी से तरक्की कर रहा है, एक ओर जहां भारत विदेशों में तेजी से अपनी पकड़ मजबूत करता जा रहा है। वहीं भारत के गांव भी तेजी से विकास कर रहे है। भारत के कुछ ऐसे गांव है जो विकास के मामले में चीन और जापान को भी मात दे रहे हैं। ये भारतीय गांव पूरी एशिया में सबसे ज्यादा अमीर है। आइए जानते है क्या है इन गांवों की खासियत क्या है और यहां के लोग कितने अमीर हैं।

इस गांव में हर इंसान है लखपति

महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में स्थित हीवारे बाजार दौलत और शोहरत के मामले में एक नंबर पर आता है। इस गांव में हर इंसान लखपति है। साल 2016-17 में हुई जनगणना के रिकॉर्ड में हीवारे बाजार को पहले पायदान पर रखा गया है। इस गांव को दौलत के आधार पर पहला स्थान हासिल हुआ है।

इस गांव में हर इंसान है कारोबारी

एप्पल किंग के नाम से मशहूर है मारोग गांव। हिमाचल प्रदेश में स्थित मारोग गांव को दौलतमंद गांव है। यहां हर इंसान सेब की खेती करता है। इस गांव को एप्पल किंग के नाम से भी जाना जाता है। इस गांव की खासियत यह है कि यहां हर कोई सेब का कारोबार करता है। मारोग पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा सेब उत्पादन करने वाला गांव है। सेब का ज्यादा उत्पादन होने के कारण इस गांव में ट्रॉपिकाना और रियल जूस जैसी कंपनियों ने अपना कारोबार फैला रखा है।

माधापुर गांव के बैंक में है 1800 करोड़

गुजरात के माधापुर गांव में हर इंसान लखपति है। गुजरात के भुज जिले में एक छोटा सा गांव है माधापुर। इस गांव में 15000 की आबादी है। इस गांव की सबसे बड़ी खासियत है कि यहां हर इंसान के बैंक अकाउंट में करीब 12 लाख की रकम जमा है। इस गांव के लोगों की तरक्की इस बात की गवाह है कि यहां के बैंक में गांव के लोगों ने करीब 1800 करोड़ रुपए का फिक्स डिपॉजिट किया हुआ है।

पंसारी गांव में मिलती है शहरों से ज्यादा सुविधा

इस गांव में गुजरात के ही एक ओर गांव पंसारी के लोगों के पास दौलत की कोई कमी नहीं है। इस गांव के विकास इतनी तेजी से हुआ है कि इसने कई शहरों को भी पीछे छोड़ दिया है। पंसारी में 24 घंटे वाई-फाई की सुविधा मिलती है। यहां हर घर में सोलर पावर लैंप लगे हुए है। इस गांव का अपना अलग बस सर्विस है। पंसारी गांव पूरी तरह से सीसीटीवी से लैस है। पंसारी गांव के इंसान के पास 25000 का मेडिक्लेम और 1 लाख की एक्सिडेंटल पॉलिसी है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned