फल - सब्जियों के चलते 8 महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंची थोक महंगाई दर

फल - सब्जियों के चलते 8 महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंची थोक महंगाई दर

Manish Ranjan | Publish: Dec, 14 2017 03:31:25 PM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

नवंबर में थोक महंगाई दर बढ़ी

नई दिल्ली। खुदरा महंगाई के बाद अब थोक महंगाई दर के मोर्चे पर भी सरकार के बुरी खबर है। नंवबर के महीने में थोक महंगाई दर 8 महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई। इस महीने में थोक मूल्‍य सूचकांक पर आधारित महंगाई दर 3.93 फीसदी के स्‍तर पर पहुंच गई है। अक्‍टूबर में यह दर 3.59 फीसदी थी। थोक महंगाई में इजाफा फल और सब्जियों की कीमत बढ़ने के चलते हुआ है। इससे पहले मंगलवार को जारी किए गए डाटा के अनुसार नवंबर में महंगाई दर 4.88 फीसदी के आंकड़े के साथ 15 महीने के उच्चतम पर पहुंच गई थी।

सब्जी, फल बनी वजह

महंगाई दर में बढ़ोत्तरी की मुख्य वजह फूड आइटम्स और पेट्रोलियम उत्‍पादों की कीमतें बढ़नी है। इससे पहले मॉनिटरी पॉलिसी बैठक में रिजर्व बैंक ने महंगाई और बढ़ने का अनुमान पहले ही जता दिया था।

इनके भी बढ़े दाम

नवंबर के महीने में बिजली की कीमतों में भी इजाफा हुआ है। इसके तहत एलपीजी, पेट्रोल की कीमतें बढ़ी हें। वहीं फल, सब्जियों और अंडों की कीमतें बढ़ने से महंगाई में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। गौरतलब है कि लगातार बढ़ती महंगाई के चलते बीते दो तिमाहियों से ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। लेकिन इसके बावजूद महंगाई नहीं थम रही है।

क्या होता है महंगाई दर

देश की महंगाई दर थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) के आधार पर आंकी जाती है। इस सूचकांक का इस्तेमाल उन उत्पादों की औसत कीमत स्तर में बदलाव आंकने के लिए किया जाता है जिनका कारोबार थोक बाजार में होता है। जिसके जरिए 400 से ज्यादा कमोडिटी पर निगाह रखी जाती है। कमोडिटी बास्केट में आने वाली चीजों की समीक्षा नियमित रूप से की जाती है ताकि कुछ सामान जरूरत से ज्यादा अहमियत न रखें। डब्ल्यूपीआई तक पहुंचने के लिए निर्मित उत्पादों, ईंधन और प्राथमिक वस्तुओं के दाम का इस्तेमाल किया जाता है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned