थोक महंगाई 17 महीने बाद बढ़ी, खाने पीने की चीजें हुई महंगी

थोक महंगाई 17 महीने बाद बढ़ी, खाने पीने की चीजें हुई महंगी
Wholesale Inflation

Amanpreet Kaur | Publish: May, 16 2016 03:11:00 PM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

इससे पिछले महीने थोक महंगाई दर शून्य से नीचे 0.85 प्रतिशत पर रही थी, अब बढ़कर हुई 0.34 प्रतिशत

नई दिल्ली। लगातार 17 महीने की गिरावट के बाद थोक मुद्रास्फीति की दर अप्रेल में दाल, चीनी और आलू समेत कई खाद्य पदार्थों की कीमतें चढऩे से बढ़कर 0.34 प्रतिशत पर पहुंच गई, जबकि इससे पिछले महीने यह आंकड़ा ऋणात्मक 0.85 प्रतिशत रहा था। सरकार के सोमवार को जारी आंकडों में कहा गया है कि थोक मूल्यों पर आधारित मुद्रास्फीति की दर बढ़कर 0.34 प्रतिशत हो गई है। इससे पिछले महीने यह शून्य से नीचे 0.85 प्रतिशत पर रही थी। पिछले साल की इसी अवधि में यह आंकडा ऋणात्मक 2.43 प्रतिशत दर्ज किया गया था। पिछले सप्ताह जारी खुदरा मुद्रास्फीति की दर बढकर 5.39 प्रतिशत हो गई है।


आंकडों अनुसार, पिछले साaल अप्रेल की तुलना में दाल की थोक कीमतों में 36.36 प्रतिशत, आलू में 35.45 प्रतिशत और चीनी में 16.07 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। प्राथमिक वस्तु समूह के खाद्य वर्ग की महंगाई दर तीन महीने के उच्चतम स्तर 4.23 प्रतिशत पर पहुंच गई। हालांकि, दालों और आलू के अलावा अन्य वस्तुओं की कीमतों बढ़ोतरी अपेक्षाकृत कम रही। मांस-मछली और अंडों के दाम 3.34 प्रतिशत, दूध के 2.83 प्रतिशत, अनाजों के 2.64 प्रतिशत तथा सब्जियों के 2.21 प्रतिशत बढ़े। वहीं, प्याज 18.18 प्रतिशत तथा फल 2.38 प्रतिशत सस्ते हो गए।

प्रथामिक वर्ग में अखाद्य पदार्थों में तिलहन के दाम 5.68 प्रतिशत तथा फाइबर के 5.27 प्रतिशत बढ़े, जबकि खनिजों के 27.24 फीसदी घट गए। ईंधन एवं ऊर्जा वर्ग में पेट्रोल 4.18 प्रतिशत, डीलज 3.94 प्रतिशत तथा रसोई गैस 1.84 प्रतिशत सस्ती हो गई। विनिर्मित पदार्थों के वर्ग में खाद्य तेलों के दाम 5.61 प्रतिशत बढ़े। चमड़ा तथा चमड़े से बने उत्पाद भी 2.03 प्रतिशत महंगे हुए। हालांकि, इस्पात तथा सेमीज 8.67 प्रतिशत, धातु, यौगिक धातु एवं मिश्र धातु के दाम 4.65 प्रतिशत, ङ्क्षसथेटिक कपड़े 2.87 प्रतिशत, रबड़ एवं प्लास्टिक उत्पाद 1.89 प्रतिशत तथा रसायन एवं रासायनिक उत्पाद 0.79 प्रतिशत सस्ते हो गए। फरवरी की थोक महंगाई दर भी पहले जारी 0.91 प्रतिशत ऋणात्मक से संशोधित कर 0.85 प्रतिशत ऋणात्मक कर दी गई है।

माह दर माह आधार पर इस साल मार्च की तुलना में अप्रेल में थोक महंगाई दर 1.37 प्रतिशत रही। इसमें प्राथमिक उत्पादों के दाम 1.92 प्रतिशत, ईंधन एवं ऊर्जा वर्ग के उत्पादों के 1.74 प्रतिशत तथा विनिर्मित उत्पादों के 0.85 प्रतिशत बढ़े। प्राथमिक उत्पादों में खाद्य पदार्थों की माह दर माह महंगाई 2.01 प्रतिशत तथा अखाद्य प्राथमिक उत्पादों की 3.01 प्रतिशत रही। इस साल मार्च की तुलना में अप्रेल में आलू के दाम 17.11 प्रतिशत, फलों के 8.26 प्रतिशत, सब्जियों के 4.72 प्रतिशत तथा दालों के 3.98 प्रतिशत बढ़े। वहीं, प्याज 7.49 प्रतिशत तथा मांस-मछली और अंडा 0.10 प्रतिशत सस्ता हो गया। मार्च के मुकाबले पेट्रोल की कीमत 4.84 प्रतिशत, चीनी की 8.36 प्रतिशत तथा डीजल की 2.51 प्रतिशत बढ़ी है। ङ्क्षसथेटिक कपड़े, कागज एवं इसके उत्पाद तथा चमड़ा और इसके उत्पादों के दाम घटे हैं जबकि अन्य वस्तुओं की कीमतों में इजाफा हुआ है।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned