CBSE बोर्ड एग्जाम्स के पैटर्न में बड़ा बदलाव, ये है डिटेल्स

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकेंडरी एजुकेशन (CBSE) ने बोर्ड एग्जाम्स के पैटर्न में बदलाव किया है। CBSE ने अगले वर्ष 10वीं और 12वीं क्लास की बोर्ड परीक्षा में पूछे जाने वाले केस स्टडी के क्वेश्चंस की संख्या निर्धारित कर दी है।

Sunil Sharma

20 Mar 2020, 04:56 PM IST

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकेंडरी एजुकेशन (CBSE) ने बोर्ड एग्जाम्स के पैटर्न में बदलाव किया है। CBSE ने अगले वर्ष 10वीं और 12वीं क्लास की बोर्ड परीक्षा में पूछे जाने वाले केस स्टडी के क्वेश्चंस की संख्या निर्धारित कर दी है। दसवीं क्लास में 20 परसेंट क्वेश्चन केस स्टडी बेस्ड होंगे, वहीं 12वीं में इन क्वेश्चंस की संख्या 10 फीसदी होगी।

अब तक 10वीं और 12वीं क्लास में केस स्टडी के सवाल पूछे तो जाते हैं, लेकिन उनमें न तो इनकी संख्या निर्धारित थी और न ही मार्क्स। नौवीं से 12वीं क्लास तक ऑब्जेक्टिव मल्टीपल चॉइस, शॉर्ट और लॉन्ग क्वेश्चन के ही अंक निर्धारित रहते थे। इसी में केस स्टडी के क्वेश्चन पूछे जाते थे। केस स्टडी के लिए अलग से अंक का निर्धारण नहीं था। इससे स्टूडेंट्स को आंसर देने में दिक्कत होती थी। कई बार तो स्टूडेंट्स केस स्टडी की तैयारी भी नहीं करते थे।

31 के बाद चैक होगी स्टूडेंट्स की कॉपियां
CBSE ने कोरोना वायरस के कारण 10वीं और 12वीं की आगे की परीक्षाएं स्थगित कर दी हैं। बाकी के एग्जाम्स अब 31 मार्च के बाद लिए जाएंगे। इसके साथ ही सीबीएसई ने आंसरशीट के मूल्यांकन को भी 31 मार्च तक स्थगित कर दिया है। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए बोर्ड ने यह फैसला लिया है। अगले महीने स्थिति को देखते हुए परीक्षाओं की नई तारीख तय की जाएगी। सीबीएसई के बाद आइसीएसआइ ने भी सभी परीक्षाओं को स्थगित कर दिया है।

सुनील शर्मा Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned