देश भर की फैकल्टी को टीचिंग पैटर्न की ट्रेनिंग देगा CBSE, ऐसे होगा असर

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकंडरी एजुकेशन (CBSE) ने देश भर के टीचर्स के लिए ऑनलाइन टीचर ट्रेनिंग प्रोग्राम की शुरूआत की है। हर वर्ष ये प्रोग्राम फिजिकल होते थे।

By: सुनील शर्मा

Published: 10 May 2020, 02:02 PM IST

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकंडरी एजुकेशन (CBSE) ने देश भर के टीचर्स के लिए ऑनलाइन टीचर ट्रेनिंग प्रोग्राम की शुरूआत की है। हर वर्ष ये प्रोग्राम फिजिकल होते थे। इस बार कोविड 19 के कारण चल रहे लॉकडाउन को देखते हुए ट्रेनिंग प्रोग्राम ऑनलाइन ही आयोजित किए जा रहे हैं। प्रोग्राम के माध्यम से टीचर्स को टीचिंग पैटर्न में हो रहे बदलाव की ट्रेनिंग दी जाएगी। बोर्ड के प्रोग्राम का उद्देश्य कॅरियर ओरिएंटेड बनाने पर फोकस है। इसमें क्लासरूप मैनेजमेंट, हैप्पी टीचिंग, सब्जेक्ट गाइडेंस, आउटकम बेस्ड लर्निंग, टाइम मैनेजमेंट को लेकर टीचर्स को ट्रेनिंग दी जाएगी। CBSE ने सर्कुलर जारी करते हुए कहा है कि कोरोना का असर पूरे एजुकेशन सिस्टम पर पड़ रहा है, ऐसे में जरूरी है कि रिमोट इंटरेक्शन के ऑप्शन्स पर विचार किया जाए।

सभी रीजन का कैलेंडर जारी
प्रोग्राम में CBSE के सब्जेक्ट एक्सपर्ट एक घंटे की लाइव क्लास में पार्टिसिपेटिंग टीचर्स को गाइड करेंगे। एक ऑनलाइन क्लास में 50 टीचर्स हिस्सा ले सकेंगे, जिसके लिए उन्हें पहले रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। इस माह के अंत तक ये ट्रेनिंग प्रोग्राम चलेंगे। CBSE ने सभी 16 रीजन के लिए इसका कैलेंडर भी जारी कर दिया है। ट्रेनिंग प्रोग्राम सभी टीचर्स के लिए फ्री है।

35 हजार टीचर्स ने लिया हिस्सा
पिछले महीने पायलट प्रोग्राम के तहत देशभर के 15 सेंटर ऑफ एक्सीलेंस की मदद से 500 से अधिक फ्री टीचर ट्रेनिंग सेशन आयोजित किए गए थे। इन सेशन में देश-विदेश के 35 हजार से अधिक टीचर और प्रिसिंपल ने ऑनलाइन हिस्सा लिया।

सुनील शर्मा Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned