Maths में नंबर लाना चाहते हैं, तो यह तरीका अपनाएं

Maths में नंबर लाना चाहते हैं, तो यह तरीका अपनाएं

Jamil Ahmed Khan | Publish: Aug, 05 2018 11:06:29 AM (IST) शिक्षा

आपको अगर गणित से डर लगता है तो आप सिर्फ अपने बैठने के तरीके में बदलाव कर इसका लाभ ले सकते हैं।

आपको अगर गणित से डर लगता है तो आप सिर्फ अपने बैठने के तरीके में बदलाव कर इसका लाभ ले सकते हैं। एक नए शोध के बाद छात्रों को यह सलाह दी गई है। जर्नल न्यूरो रेगुलेशन में प्रकाशित शोध में बताया गया है कि 50 फीसदी से ज्यादा प्रतिभागियों ने गणित की परीक्षा में सीधा बैठकर अच्छा अंक हासिल किया, जबकि झुककर बैठने वाले छात्र-छात्राएं ज्यादा सवाल हल नहीं कर पाए।

यह भी पढ़ें : भारतीय मूल के अक्षय वेंकटेश गणित के नोबल Fields Medal पुरस्कार से सम्मानित

अमरीका में सैन फ्रांसिस्को स्टेट यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर और शोधकर्ता एरिक पेपर ने बताया, गणित से डरने वाले लोगों को बैठने के तरीके से बड़ा फायदा मिल सकता है। अध्ययन में कॉलेज के 125 छात्रों को शामिल कर यह देखा गया कि वे गणित में कैसा प्रदर्शन करते हैं। इस दौरान उन्हें परीक्षा के दौरान उनकी घबराहट का स्तर लिखने को कहा गया।

यह भी पढ़ें : विज्ञान में स्नातक करना चाहते हैं, तो श्री रामचंद्र यूनिवर्सिटी में कर सकते हैं आवेदन

शोधकर्ताओं ने पाया कि सीधी अवस्था में बैठे 56 फीसदी छात्रों को गणित का प्रश्नपत्र हल करना आसान लगा। विश्वविद्यालय के सह प्राध्यापक रिचर्ड हार्वे ने कहा कि झुककर बैठने से दिमाग में पुरानी और बुरी यादें ताजा हो जाती हैं।

यह भी पढ़ें : पंजाब में अनुसूचित जाति के 35 फीसदी छात्र काॅलेजों में प्रवेश नहीं ले पाए

पेपर ने कहा, झुककर बैठने से उनकी सक्रियता कम हो जाती है और उनका दिमाग सही से काम नहीं कर पाता है और व्यक्ति कुछ भी स्पष्ट रूप से नहीं सोच पाता है। एथलीट, गायक और सार्वजनिक वक्ताओं को परीक्षा में सीधे बैठने की आदत के कारण उनका प्रदर्शन सुधरा।

यह भी पढ़ें : शिक्षा से राष्ट्र बनता है सशक्त : राज्यपाल सत्यपाल

 

सौ छात्रों का अमरीका में आयोजित शैक्षिक कार्यक्रम के लिए चयन
राजस्थान सरकार ने राज्य की विभिन्न शिक्षण संस्थानों के सौ छात्रों का पच्चीस अगस्त से अमरीका में आयोजित एक शैक्षिक कार्यक्रम के लिए चयन किया है। इसमें झुंझुनूं जिले के पिलानी स्थित बिट््स की छह टीमें 25 अगस्त से 10 सितम्बर तक सेनफ्राङ्क्षससको में भाग लेंगी। बिट्स पिलानी के कुल बीस छात्र इस प्रतिस्पद्र्धी शैक्षिक कार्यक्रम में भाग लेंगे। कार्यक्रम का उद्देश्य राजस्थान राज्य में युवा उद्यमशीलता को पौषित एवं बढ़ावा देना है।

राजस्थान सरकार ने राज्य के विभिन्न शिक्षण संस्थानों से चयनित ये छात्र दो सप्ताह सिलिकॉन वैली, सन फ्रांसिस्को, कैलिर्फोनिया में व्यतीत करेंगे। कार्यक्रम के एक हिस्से के रूप में, छात्रों को बड़ी दस कम्पनियों जैसे गुगल, फेसबुक आदि का दौरा करने का मौका मिलेगा। छात्रों को गुगल लॉन्च पैड पर अपने विचारों को प्रकट करने और खाड़ी क्षेत्र के निवेशकों से वित्तीय सहायता जुटाने का सुनहरा मौका मिलेगा। इसके लिए राज्य के 50 शैक्षणिक संस्थाओं से करीब सात हजार छात्रों के आवेदन किया जिनमें 30 टीमों के 100 छात्रों को जयपुर में विभिन्न चरणों में साक्षात्कार के दौरान चयन किया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned