एग्जाम एनालिसिस : CLAT में मैथ्स रही टफ, लीगल एप्टीट्यूड रहा मॉडरेट

रविवार को ऑनलाइन आयोजित कॉमन लॉ एडमिशन टैस्ट (क्लैट) में स्टूडेंट्स को कई सेंटर्स पर भारी तकनीकी समस्याओं का सामना करना पड़ा।

By:

Published: 14 May 2018, 11:09 AM IST

रविवार को ऑनलाइन आयोजित कॉमन लॉ एडमिशन टैस्ट (क्लैट) में स्टूडेंट्स को कई सेंटर्स पर भारी तकनीकी समस्याओं का सामना करना पड़ा। कई केन्द्रों पर कम्प्यूटर हैंग होने, एग्जाम लेट शुरू होने और एक्स्ट्रा टाइम न देने जैसी समस्याएं आईं। स्टूडेंट्स इससे काफी परेशान दिखे और पूरा एग्जाम अटेम्प्ट नहीं कर पाए।

स्टूडेंट आयुषि ने बताया कि उनके सेंटर पर १२ मिनट बाद पेपर शुरू हुआ। इसके अलावा स्क्रीन बार-बार फ्रीज हो रहा था। स्टूडेंट मानवेन्द्र सिंह ने बताया कि उनके सेंटर पर कई बार कम्प्यूटर हैंग हुआ। स्टूडेंट्स ने इसकी शिकायत फीडबैक के जरिए दे दी है। शहर में परीक्षा के लिए १५ सेंटर बनाए गए थे। जहां लगभग तीन हजार स्टूडेंट्स ने एग्जाम दिया। एक्सपट्र्स के अनुसार, पेपर थोड़ा मुश्किल रहा। स्टूडेंट्स को दो घंटे में २०० सवाल करने थे। एक्सपर्ट अभिषेक चतुर्वेदी ने बताया कि स्टेटिक जीके के अनकंवेंशनल क्वेश्चन देखने को मिले।

मैथ्स काफी टफ रही, इसमें टाइम कंज्यूमिंग क्वेश्चन काफी ज्यादा रहे। एक्सपर्ट नवनीत सिंह राजपुरोहित ने बताया कि रीजनिंग में नॉन वर्बल का वेटेज ज्यादा। लीगल आसान थी। ओवरऑल इंग्लिश नॉर्मल रही। लीगल एप्टीट्यूड का सेक्शन मॉडरेट रहा। एक्सपट्र्स के अनुसार, कटऑफ लास्ट ईयर से कम जाने की संभावना है। स्टूडेंट अक्षय जैन ने बताया कि अजमेर रोड स्थित एक सेंटर पर काफी तकनीकी समस्याएं आईं। पहले तो पेपर १२ मिनट बाद शुरू हुआ। इसके बाद वापस लॉगइन कर एग्जाम शुरू किया गया तो हमसे कहा गया कि एक्सट्रा टाइम दिया जाएगा, लेकिन परीक्षा खत्म होने के बाद उन्हें समय नहीं दिया गया। स्टूडेंट्स से कहा गया कि शिकायत का लैटर लिखकर दो, लेकिन सेंटर पर अधिकारी उन्हें छोडक़र चले गए। स्टूडेंट्स ने शिकायतों को लेकर सेंटर पर हंगामा भी किया।

इस बार नया इंटरफेस

दरअसल, तकनीकी समस्याओं का कारण इस बार नया इंटरफेस सामने आना माना जा रहा है। क्लैट आयोजकों ने इस बार नई एजेंसी को इसकी जिम्मेदारी दी है। एग्जाम में इस साल कई बदलाव भी देखने को मिले हैं। कॉलेज के चेयरमैन जी.सी.टेटरवाल का कहना है कि हमने तो सिर्फ वेन्यू दिया था। जोधपुर से आए ऑब्जर्व के दिए गए निर्देशों के अनुसार ही एग्जाम कंडक्ट कराया गया था। कई स्टूडेंट्स को एक्सट्रा टाइम दिया भी गया है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned