NEET 2020: सरकारी स्कूल के विद्यार्थियों की मेडिकल कॉलेजों में दाखिले पर फीस वहन करेगी सरकार

  • NEET 2020: सरकारी स्कूल के विद्यार्थियों के लिए शैक्षिक शुल्क, छात्रावास शुल्क आदि का भुगतान करेगी सरकार
  • निजी मेडिकल एवं डेंटल कॉलेजों में प्रवेश पर भी मिलेगा फायदा
  • राज्य सरकार ने किया परिक्रामी निधि का गठन

By: Deovrat Singh

Updated: 23 Nov 2020, 10:17 AM IST

NEET 2020 Admission :सरकारी विद्यालयों में पढाई कर रहे विद्यार्थियों को प्रोत्साहन देते हुए राज्य और केंद्र सरकार अनेकों योजनाएं संचालित करती है। ऐसी ही घोषणा तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी ने की है कि राज्य सरकार उन सभी सरकारी स्कूल के विद्यार्थियों के लिए शैक्षिक शुल्क, छात्रावास शुल्क आदि का भुगतान करेगी, जिन्होंने छात्रवृत्ति भुगतान की प्रतीक्षा किए बिना 7.5% आरक्षण के तहत चिकित्सा प्रवेश प्राप्त किया है।

परिक्रामी निधि का गठन
मुख्यमंत्री एडप्पाडी के पलानीस्वामी ने शनिवार को नीट (मेडिकल प्रवेश परीक्षा) परीक्षा पास कर निजी मेडिकल एवं डेंटल कॉलेजों में सरकार के 7.5 प्रतिशत आरक्षण के तहत दाखिला लेने वाले सरकारी स्कूलों के छात्रों की फीस के भुगतान के लिये परिक्रामी निधि के गठन का आदेश दिया।

शुल्क का भुगतान सीधे संबंधित कॉलेज को
परिक्रामी निधि या कोष का संचालन वित्तीय वर्ष की सीमा से इतर लगातार किया जा सकता है। तमिलनाडु चिकित्सा सेवा निगम को इस निधि के लिये निर्देश दिये गए हैं. उससे शिक्षण और छात्रावास शुल्क का भुगतान सीधे संबंधित कॉलेजों को करने को कहा गया है।

मैट्रिक के बाद छात्रवृत्ति और अन्य वित्तीय सहायता भी
पलानीस्वामी ने शनिवार को एक बयान में कहा, यह उपाय मेरे द्वारा 18 नवंबर को की गई उस घोषणा को प्रभावी बनाने के लिये है जिसमें मैंने 7.5 प्रतिशत आरक्षण के तहत (स्नातक स्तर के पाठ्यक्रमों में) प्रवेश लेने वाले सरकारी स्कूल के सभी छात्रों को मैट्रिक के बाद भी छात्रवृत्ति और अन्य वित्तीय सहायता का जिक्र किया था।

Deovrat Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned