JRF Fellowship 2018 जूनियर रिसर्च फेलोशिप पाने का शानदार मौका, ऐसे करें आवेदन

JRF Fellowship 2018 जूनियर रिसर्च फेलोशिप पाने का शानदार मौका, ऐसे करें आवेदन

Deovrat Singh | Publish: Apr, 15 2018 08:16:12 AM (IST) शिक्षा

JRF Fellowship 2018 भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च) ने योग्य और इच्छुक आवेदकों से जूनियर रिसर्च ...

JRF Fellowship 2018 भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च) ने योग्य और इच्छुक आवेदकों से जूनियर रिसर्च फेलोशिप 2018 के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। उल्लेखनीय है कि परिषद के सहयोग से पीएचडी या रिसर्च प्रोग्राम में एडमिशन की प्रक्रिया में यह पहला कदम होता है। इस फेलोशिप के लिए देशभर के कुल 12 शहरों में परीक्षा केंद्र बनाए जाते हैं। एंट्रेंस एग्जामिनेशन की मेरिट लिस्ट के आधार पर जूनियर रिसर्च फेलोशिप दी जाती है। बता दें कि इस बार कुल 150 फेलोशिप्स दी जाएंगी जिनमें से 120 फेलोशिप्स बायोमेडिकल साइंसेज में काम के लिए दी जाएंगी और 30 फेलोशिप्स सोशल साइंसेज में काम के लिए दी जाएंगी। इन दोनों क्षेत्रों के लिए दो अलग-अलग मेरिट लिस्ट तैयार की जाएंगी। आवेदकों को दी गई इस फेलोशिप की वैधता 6 महीने की होगी। जेआरएफ पाने के इच्छुक व योग्य आवेदक 15 मई 2018 तक आवेदन फॉर्म भरकर जमा करवा सकते हैं।

क्या है योग्यता Education Qualification JRF Fellowship 2018
आवेदकों के पास एमएससी/एमए या समकक्ष डिग्री हो। साथ ही आवेदकों के एमएससी/एमए या समकक्ष डिग्री में न्यूनतम 55 प्रतिशत माक्र्स होने जरूरी हैं। हालांकि, एससी/एसटी और पीएच एवं वीएच कैटेगिरी के आवेदकों के एमएससी/एमए या समकक्ष डिग्री में न्यूनतम 50 प्रतिशत माक्र्स होने जरूरी हैं। डिग्री के अंतिम वर्ष (2017-18) की परीक्षाएं दे रहे या देने जा रहे आवेदक भी इस फेलोशिप के लिए अप्लाई कर सकते हैं। परिषद की ओर से आवेदकों के लिए आयु सीमा भी तय की गई है। योग्य आवेदकों की उम्र 30 सितंबर 2018 को 28 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। एससी/एसटी/पीएच/वीएच और महिला आवेदकों को इसमें 5 साल और ओबीसी कैटेगिरी के आवेदकों को 3 साल की छूट दी जाएगी।

12 अप्रेल 2018 से शुरू हो चुकी है आईसीएमआर की जूनियर रिसर्च फेलोशिप के लिए आवेदन प्रक्रिया

15 मई 2018 तक ऑनलाइन आवेदन जमा करवा सकते हैं जेआरएफ पाने के इच्छुक आवेदक

22 जुलाई 2018 को देशभर के कुल 12 शहरों में होगा चयन के लिए जरूरी एंट्रेंस एग्जाम
का आयोजन।

एग्जाम सेंटर्स JRF Fellowship 2018 Exam Center
एंट्रेंस एग्जाम के आयोजन के लिए बंगलुरु, भोपाल, भुवनेश्वर, चंडीगढ़, चेन्नई, दिल्ली, गुवाहाटी, हैदराबाद, कोलकाता, मुंबई, श्रीनगर (जेएंडके) और वाराणसी में परीक्षा केंद्र बनाए जाएंगे। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च, पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (पीजीआईएमईआर), चंडीगढ़ के सहयोग से यह एंट्रेंस एग्जाम आयोजित करवाएगा।

Read More : Banasthali Admission 2018 वनस्थली विद्यापीठ से एमबीए करने का मौका, आवेदन प्रक्रिया शुरू

कितनी होगी फेलोशिप How much JRF Fellowship
जूनियर रिसर्च फेलोशिप दो साल की अवधि के लिए दी जाएगी। इस दौरान चुने गए अभ्यर्थियों को हर महीने 25 हजार रुपए दिए जाएंगे। इसके साथ ही हर साल 20 हजार रुपए प्रति वर्ष की एनुअल कंटिंजेंसी ग्रांट भी दी जाएगी। दो साल बाद रिव्यू कमिटी की ओर से सफल असेसमेंट के बाद इसे एसआरएफ में अपग्रेड किया जा सकेगा। इस स्थिति में 28 हजार रुपए दिए जाएंगे।


कैसे होगा चयन Selection Process In JRF Fellowship 2018
योग्य आवेदकों के चयन के लिए एंट्रेंस एग्जाम होगा। यह परीक्षा 2 घंटे की अवधि की होगी। इसमें तीन सेक्शंस होंगे। सेक्शन ए एप्टीट्यूड सेक्शन होगा जिसमें 50 सवाल हल करने होंगे। यह सभी सवाल करने अनिवार्य होंगे और हर सही जवाब के लिए 1 नंबर दिया जाएगा। सेक्शन बी और सी सब्जेक्ट स्पेसिफिक सेक्शंस होंगे। सेक्शन बी में लाइफ साइंसेज और सेक्शन सी में सोशल साइंसेज से संबंधित सवालों के जवाब देने होंगे। सेक्शन बी और सी दोनों में ही 100-100 सवाल होंगे और आवेदकों को इनमें से कोई भी 75 सवाल हल करने ही होंगे। हर सवाल 1 नंबर का होगा। एग्जाम में नेगेटिव मार्किंग भी की जाएगी। गलत जवाब के लिए 0.25 माक्र्स काटे जाएंगे।

Ad Block is Banned