Competition Exam Tips in Hindi : प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी में अहम ये फुलफॉर्म

competition exam tips : अक्सर प्रतियोगी परीक्षाओं में ऐसी फुलफॉर्म के बारे में पूछा जाता है जो विषय विशेष होने के साथ संस्था से संबंधित होती है।

By: Deovrat Singh

Published: 15 Jan 2018, 09:33 AM IST

competition exam tips : अक्सर प्रतियोगी परीक्षाओं में ऐसी फुलफॉर्म के बारे में पूछा जाता है जो विषय विशेष होने के साथ संस्था से संबंधित होती है। आज के अंक में विज्ञान विषय से जुड़ी कुछ खास फुलफॉर्म के बारे में जानते हैं। किसी भी बड़े कॉम्पिटिशन एग्जाम से लेकर छोटे स्तर की परीक्षा में भी ये फुलफॉर्म पूछ लिए जाते है विज्ञानं विषय से जुड़े ये वो फुल फॉर्म है जो प्रतियोगी और विषय की परीक्षा में अक्सर काम आते हैं।

यह भी पढ़ें : UPRVUNL Recruitment- मेडिकल ऑफिसर के 27 पदों पर वैकेंसी, करें आवेदन

AACC: American Association for Clinical Chemistry
BCG: Bacillus Calmette Guerin
CFC: Chloro Fluoro Carbon
CRO: Cathode Ray Tube

यह भी पढ़ें : असिस्टेंट एग्जिक्यूटिव इंजीनियर के 25 पदों पर भर्ती, करें आवेदन

VSSC: Vikram Sarabhai Space Centre
NUST: National University of Science and Technology
MERS: Middle East Respiratory Syndrome
LASER : Light Amplification by Stimulated Emission of Radiation
OPD: Out Patient Department

यह भी पढ़ें : Railway apprentice- नॉर्दर्न रेलवे में अपरेंटिस के 3162 पदों पर भर्ती, करें आवेदन

IUPAC : International Union of Pure & Applied Chemistry
ISCA: Indian Science Congress Association
DSCO: Deep Space Climate Observatory
FBTR: Fast Breeder Test Reactor
GEO: Geostationary Earth Orbit

यह भी पढ़ें : CSIR-CIMFR recruitment- तकनीशियन ग्रेड -II के 18 पदों पर वैकेंसी, करें आवेदन

LORAN: Long Range Navigation
PDA: Personal Digital Assistant
SIM: Subscriber Identity Module
TT: Tetanus Toxoid
FAME: Faster Adoption and Manufacturing of Hybrid and Electric vehicles

परीक्षा में कामयाबी हासिल करने का पहला मन्त्र है कड़ी मेहनत और लगन जिसका कोई शॉर्टकट नहीं होता। प्रतियोगी परीक्षाओ में अगर आपको सफल है तो, आपको अपना सर्वश्रेष्ठ परीक्षा के लिए देना होगा। प्रतियोगी परीक्षाओ में सफल होने वाले परीक्षार्थियों को अपनी कमियों को दूर करते हुए पाठ्यक्रम के अनुरूप पढाई करनी चाहिए। प्रतियोगी परीक्षा में पिछले कुछ वर्षो के पेपर्स पर थोड़ी शोध करनी चाहिए और अनुमान लगाना चाहिए की पेपर किस पाठ्यक्रम पर आधारित है। प्रत्येक वर्ष की परीक्षा में क्या बदलाव आया हैं।

 

Deovrat Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned