सौर ऊर्जा से IIT BHU में सालाना होगी 28 लाख रुपए बचत

सौर ऊर्जा से IIT BHU में सालाना होगी 28 लाख रुपए बचत

Jamil Ahmed Khan | Publish: Sep, 20 2017 11:17:40 PM (IST) शिक्षा

IIT BHU परिसर की कई बिल्डिंगों की छतों पर बड़े पैमाने पर सौर ऊर्जा संयंत्र को चालू किया गया है।

वाराणसी। क्लीनमैक्स सोलर-आईआईटी बीएचयू में साझेदारी से 28 लाख रुपए सालाना बचत होगी। छत के ऊपर स्थित 1.5 मेगावाट के संयंत्र के साथ सौर ऊर्जा की आपूर्ति का 30 फीसदी हासिल किया जा रहा है और सालाना 2,000 टन कार्बन-डाइऑक्साइड में कमी होगी। इस साझेदारी के तहत उत्तर प्रदेश के वाराणसी में आईआईटी बीएचयू परिसर की कई बिल्डिंगों की छतों पर बड़े पैमाने पर सौर ऊर्जा संयंत्र को चालू किया गया है।

क्लीनमैक्स सोलर के प्रबंध निदेशक, कुलदीप जैन ने कहा, हम आईआईटी (बीएचयू) को उनके कार्बन पदचिह्नों और बिजली की लागत को एक ही समय पर कम करने में मदद कर रहे हैं। यह आईआईटी (बीएचयू) जैसे संस्थानों के लिए बहुत ही आकर्षक प्रस्ताव है, और हम इसे देशभर के अन्य प्रमुख संस्थानों के साथ भी दोहराने की उम्मीद करते हैं।

 

ओपन स्कूल परीक्षा देने वाले मदरसों के बच्चों की फीस माफ हो : नीति आयोग
नई दिल्ली। नीति आयोग ने हाल ही में केंद्र सरकार को सुझाव दिया है कि मदरसा में पढऩे वाले जो बच्चे नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग (एनआईओएस) परीक्षा का चयन करते हैं उनकी फीस (शुल्क) माफ कर दिया जाए। आयोग का मानना है कि मदरसा में पढऩे वाले बच्चों का आधुनिकरण किया जाए ताकि अल्पसंख्यक समुदाय के बच्चों को शिक्षा के तौर पर मजबूत किया जा सके।

मदरसा उस इंस्टीट्यूट के लिए इस्तेमाल होने वाला अरबी शब्द है जो धार्मिक या मुख्यधारा वाली शिक्षा मुहैया करवाता हो। आयोग का कहना है कि हमें उनका (मदरसा) आधुनिकरण करने की कोशिश करते रहना चाहिए। इसके लिए पाठ्यक्रम में बदलाव के साथ कंप्यूटर, लैब और पुस्तकालयों को मदरसों में स्थापित किए जाने चाहिए।

नीति आयोग का कहना है कि अल्पसंख्यक समुदाय, खासकर मुसलमानों में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए मदरसे में पढऩे वाले जो बच्चे एनआईओस परीक्षा का चुनाव करते हैं, उनकी फीस माफ की जा सकती है।

पूर्व में नेशनल ओपन स्कूल के नाम से जाने वाला एनआईओस स्वायत्तशासी संस्थान है जिसकी स्थापना १९८९ में १९८६ की राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत की गई थी। इसका मुख्य उद्देश्य उन बच्चों को शिक्षा मुहैया करवाना था जो बीच में किसी कारणवश पढ़ाई छोड़ देते हैं और नियमित रूप से स्कूल नहीं जा सकते।

मदरसों का आधुनिकरण
मदरसों के आधुनिकरण के लिए नीति आयोग ने सरकार को सुझाव दिया है कि पाठ्यक्रम में बदलाव के साथ साथ मदरसों के बच्चों के लिए कंप्यूटर्स मुहैया करवाने के साथ लैब, पुस्तकालयों आदि स्थापित किए जाएं। देश में मुसलमानों की आबादी अल्पसंख्यकों में सबसे ज्यादा है और एक अध्ययन के अनुसार, आर्थिक,स्वास्थ्य और शिक्षा के मापदंडों में मुसलमान दूसरों से काफी पिछड़े हुए हैं।

मदरसों में मिड-डे भोजन
अल्पसंख्यक कल्याण मंत्रालय ने घोषणा की है कि उन मदरसों में मिड-डे भोजन उपलब्ध करवाया जाएगा जहां विज्ञान सहित मुख्य धारा की शिक्षा मुहैया करवाई जाती हो। वहीं, स्वच्छ भारत मिशन के तहत मंत्रालय ने एक लाख मदरसों में शौचालयों के निर्माण की योजना बनाई है।

जैन ने बताया, बाजार की 24 फीसदी हिस्सेदारी (स्रोत ब्रिज टू इंडिया रिपोर्ट 2017) के साथ भारत में छत के ऊपर के सबसे बड़े सौर ऊर्जा विकासकर्ता के रूप में, क्लीनमैक्स सोलर ने शैक्षणिक संस्थानों, बड़े कॉरपोरेट्स और औद्योगिक ग्राहकों को सेवायें प्रदान की है।

आईआईटी बीएचयू के निदेशक प्रोफेसर राजीव संगाल ने कहा, क्लीनमैक्स सोलर के साथ मिलकर सौर संयंत्र को चालू करके, सौर ऊर्जा वाला राष्ट्र बनने के राष्ट्रीय लक्ष्य की दिशा में योगदान करने पर हमें गर्व है। संस्थान को प्रति वर्ष लगभग 28 लाख रुपये की बचत होने की उम्मीद है, जो कि परिचालन लागत में एक महत्वपूर्ण कमी होगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned