JEE Advanced 2018 : टॉप 500 में केवल 14 ही लड़कियां

JEE Advanced 2018 : टॉप 500 में केवल 14 ही लड़कियां
JEE Advanced 2018

Amanpreet Kaur | Updated: 25 Jun 2018, 12:27:39 PM (IST) शिक्षा

इंजीनियरिंग के लिए आईआईटीज में एडमिशन के लिए जेईई एडवांस्ड की परीक्षा पिछले साल के मुकाबले इस साल कम लड़कियों ने पास की हैं।

इंजीनियरिंग के लिए आईआईटीज में एडमिशन के लिए जेईई एडवांस्ड की परीक्षा पिछले साल के मुकाबले इस साल कम लड़कियों ने पास की हैं। पहले भी यह सवाल उठते रहे हैं कि इंजीनियरिंग कॉलेजिस खास कर आईआईटीज, एनआईटीज और ट्रिपल आईटीज में लडक़ों के मुकाबले लड़कियों की संख्या कम क्यों है। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार इस साल जेईई एडवांस्ड की टॉप 500 रैंक्स में से लड़कियां केवल 14 हैं। वहीं अगर बात टॉप 1000 रैंक्स की करें तो केवल 46 लड़कियों को इस सूची में जगह मिली है। पिछले साल इस लिस्ट में 68 लड़कियां थीं।

हालांकि एचआरडी मिनिस्ट्री के जेंडर डाइवर्सिटी प्लान के तहत इस साल आईआईटीज में 8 प्रतिशत सीटें (कुल 800 सीटें) और जोड़ी जाएंगी, ताकि लड़कियों को भी कंप्यूटर साइंस और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग जैसे फील्ड्स में जाने का अवसर मिल सके। इसी तरह सात पुरानी आईआईटीज में कंप्यूटर साइंस के लिए 3 प्रतिशत गर्ल्स को एडमिशन दिया जाएगा। आईआईटी कानपुर की ओर से जारी डेटा के अनुसार इस बार टॉप 24500 रैंक्स में से जॉइंट एडमिशन बोर्ड ने 3000 लड़कियों को शॉर्टलिस्ट किया है। टॉप 5000 स्टूडेंट्स की बात करें तो इन में 410 लड़कियां हैं और टॉप 10000 स्टूडेंट्स में 935 लड़कियां हैं। टॉप 12000 स्टूडेंट्स में 1202 लड़कियां हैं। गर्ल्स ओनली कोटा को हटा दिया जाए तो २३ आईआईटीज में कुल 11279 सीटें हैं।

आईआईटीज के अनुसार फीमेल कैंडिडेट्स फीमेल ओनली पूल और जेंडर न्यूट्रल पूल दोनों से ही सीट के लिए एलिजिबल हैं। अगर किसी लडक़ी को फीमेल ओनली पूल के तहत सीट नहीं मिलती है तो वह जेंडर न्यूट्रल पूल के तहत कम्पीट कर सकती है। आईआईटी बॉम्बे के एक फैकल्टी मेंबर ने बताया कि इस साल टॉप रैंक्स में फीमेल कैंडिडेट्स वैसे ही कम हें, ऐसे में ज्यादा तक लड़कियां पॉपुलर कोर्स और अच्छा कॉलेज पाने के लिए फीमेल-ओनली पूल को चुनेंगी।

सीट अलोकेशन के लिए आईआईटी की ओर से तय किए बिजनेस रूल्स के अनुसार लड़कियों के लिए इन 800 सीटों पर भी रिजर्वेशन नॉर्म्स लागू होंगे। उदाहरण के लिए अगर कोई महिला ओबीसी-एनसीएल कैटेगिरी से है और उसका जनरल रैंक है तो सबसे पहले वह जनरल सीट्स के लिए फीमेल ओनली पूल से सीट के लिए कम्पीट करेगी, अगर इससे सीट नहीं मिलती है तो जेंडर-न्यूट्रल पूल से जनरल सीट के लिए कम्पीट करेगी, अगर तब भी उसे मन चाही सीट नहीं मिलती है तो वह ओबीसी कैटेगिरी के अंडर भी कम्पीट कर सकती है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned