अगर आपकी बेटी भी जाती है स्कूल तो अब सरकार आपको देगी पैसा

मिनिस्ट्री ऑफ माइनॉरिटी अफेयर्स ने स्कूल जाने वाली माइनॉरिटी कम्यूनिटी की बच्चियों के लिए स्कॉलरशिप को १५ फीसदी बढ़ाने का निर्णय लिया है।

By:

Published: 23 Jul 2018, 12:42 PM IST

मिनिस्ट्री ऑफ माइनॉरिटी अफेयर्स ने स्कूल जाने वाली माइनॉरिटी कम्यूनिटी की बच्चियों के लिए स्कॉलरशिप को १५ फीसदी बढ़ाने का निर्णय लिया है। मिनिस्ट्री की सबऑर्डिनेट ऑर्गेनाइजेशन द मौलाना आजाद एजुकेशन फाउंडेशन (एमएईएफ) ने बेगम हजरत महल नेशनल स्कॉलरशिप स्कीम का बजट बढ़ाने का निणर्य लिया है। इतना ही नहीं यह भी निणर्य लिया गया है कि इस स्कॉलरशिप स्कीम के बारे में जागरुकता बढ़ाने क लिए भी कैम्पेन किए जाएंगे।

इस स्कीम के तहत वर्ष २०१७-१८ में ११५००० बच्चियों को स्कॉलरशिप दी गई थी। करीब ७८ करोड़ रुपए की स्कॉलरशिप इन बच्चियों में बांटी गई थी। एमएईएफे सचिव रिजवानुर रहमान ने बताया कि इस साल हम बजट को बढ़ा कर ९० करोड़ करने की तैयारी में हैं। हमने इस बारे में मिनिस्ट्री को भी जानकारी दे दी है। इस स्कीम के बारे में लोगों तक जानकारी पहुंचाने और उनमें जागरुकता लाने की जरूरत है। हम इसके लिए भी कैम्पेन चलाने की तैयारी में हैं, ताकि ज्यादा से ज्यादा बच्चियों को इस स्कीम के तहत स्कॉलरशिप मिल सके।

रहमान ने बताया कि एमएईएफ देशभर में करीब ३०० गरीब नवाज स्किल डेवलपमेंट सेंटर भी चलाता है। इस स्कीम के तहत ९वीं और १०वीं क्लास की लड़कियों को हर साल ५००० रुपए और ११वीं व १२वीं क्लास की लड़कियों को हर साल ६००० रुपए दिए जाते हैं।

आपको बता दें कि मिनिस्ट्री ऑफ माइनॉरिटी अफेयर्स हर साल माइनॉरिटी कम्यूनिटीज के लिए स्कॉलरशिप की सुविधा देती है। इसके लिए ऑनलाइन फॉर्म नेशलन स्कॉलरशिप पोर्टल पर भरा जा सकता है। इसके लिए पहले रजिस्ट्रेशन करना होता है। नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल पर ही आपको न्यू रजिस्ट्रेशन का ऑप्शन मिल जाएगा। यहां से आप स्टूडेंट के नाम से रजिस्टर कर फॉर्म भर सकते हैं। इसके लिए स्टूडेंट का अपना बैंक खाता होना अनिवार्य है। स्कॉलरशिप का पैसा स्टूडेंट के खाते में ही डाला जाता है। ।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned