General Knowledge Questions Paper 2018: Jobs के इंटरव्यू में पूछे जाते हैं ये सवाल

वर्तमान में Competition Exam तथा Interview में कुछ ऐसे सवाल पूछे जाते हैं जो हमें पता नहीं होते।

Sunil Sharma

September, 1204:18 PM

वर्तमान में competition exam तथा interview में कुछ ऐसे सवाल पूछे जाते हैं जो हमें पता नहीं होते। ये सवाल किसी भी क्षेत्र से जुड़े हो सकते हैं, खासतौर पर करेंट अफेयर्स जैसे राजनीति, खेल, देश, समाज आदि। जानिए ऐसे ही कुछ प्रश्नों के उत्तर

प्रश्न - (1) एक गिलास में पानी भरें और उस पर थोड़ा मिर्च पाउडर छिडक़ दें। अब अपनी गीली उंगली के सिरे को डिटर्जेंट साबुन पर रगडक़र उससे पानी की सतह छुएं। आपकी यह देखकर ताज्जुब होगा कि ऐसा करते ही मिर्च के कण एकाएक, बहुत तेजी से सभी दिशाओं में भागने लगेंगे। वे ऐसा क्यों करते हैं?
उत्तर - इसका उत्तर पानी की सतह के तनाव(पृष्ठ तनाव या सरफेस टेंशन) में निहित है। आप जानते ही हैं कि पानी की सतह एक रबड़ की तनी हुई झिल्ली जैसा बर्ताव करती है। इसी वजह से कई जीव बिना डूबे तालाब की सतह पर चल-फिर सकते हैं। साबुन से पानी की सतह का तनाव कम हो जाता है। इसलिए जब आप पानी की सतह पर थोड़ा सा डिटर्जेंट साबुन डाल देता है, तब उस स्थान पर सतह का तनाव कुछ कम हो जाता है। ऐसा करना एक तनी हुई झिल्ली में छेद करने के समान है। इससे झिल्ली सिकुड़ जाती है और अपने साथ मिर्च को भी ले जाती है।

प्रश्न - (2) आपने इस बात पर गौर किया होगा कि जब हवा नहीं चल रही हो तो ऐशट्रे पर रखी सिगरेट का धुआं कुछ ऊंचाई तक तो नियमित रूप से सीधा ऊपर की ओर उठता है और फिर एकाएक भंवर बन जाता है। ऐसा क्यों?
उत्तर - जलती हुई सिगरेट से निकलता धुआं पहले धीरे उठता है और परतों के रूप में बहता है लेकिन आस-पास की ठंडी हवा में उछाल के कारण धुएं का बहाव तेज हो जाता है। इसलिए कुछ सेंटीमीटर ऊपर उठने के बाद धुएं में बिखराव आ जाता है और उनमें भंवर पड़ जाते हैं।

प्रश्न - (3) तेज हवा में झंडा फडफ़ड़ाना हम अक्सर देखते हैं। फिर भी हममें से कितने लोगों ने यह जानने की कोशिश की है कि ऐसा क्यों होता है? क्या आप हवा में झंडा फडफ़ड़ाने का कारण जानते हैं?
उत्तर - ऐसे झंडे की कल्पना कीजिए जो तेज हवा में सपाट और पूरी तरह से फैला हुआ हो। मान लीजिए कि अब झंडे के छोटे से हिस्से के हिलने से उसमें एक छोटी सी लहर पैदा हो जाए। अब झंडे से गुजरने वाली हवा की धार को इस लहर को पार करने के लिए अपनी गति तेज करनी पड़ेगी। अधिक तेजी से बहने वाली हवा में कम दाब होगा। इससे लहर के पास झंडे के दोनों ओर हवा के दबाव में अंतर हो जाता है। झंडे में ऐसा जगह-जगह होता है। दाब में इसी अंतर के कारण बहती हवा में झंडा फडफ़ड़ाने लगता है।

प्रश्न - (4) आपके जीवन में कभी न कभी ऐसा मौका जरूर आया होगा, जब आप दोपहर की धूप में घास पर लेटे हों और पास बहती किसी जलधारा की कलकल ध्वनि को सुन रहे हों। इसी कलकल ने अनेकों कवियों और संगीतज्ञों को सृजन की प्रेरणा दी है। क्या आप जानते हैं कि जलधारा कलकल क्यों करती है?
उत्तर - पानी की धारा में फंसे हुए हवा के बुलबुलों के स्पंदन से ही कलकल की आवाज पैदा होती है। स्पंदन करते हुए हवा के बुलबुले दोलन करती चींटियों जैसा व्यवहार करते हैं और ऐसी ध्वनि तरंगें पैदा करते हैं, जिन्हें हम सुन सकते हैं और कलकल का यही संगीत हमें आनंदित करता है। आप पानी की इस कलकल को अपने घर में भी पैदा कर सकते हैं। इसके लिए पानी से थोड़ा भरे दो गिलास लें। जब एक गिलास से पानी दूसरे गिलास में डालें और कलकल की आवाज सुनें। आप देखेंगे कि पानी में हवा के बुलबुले बन रहे हैं, जिनके स्पंदन से ही कलकल की आवाज पैदा हो रही है।

Show More
सुनील शर्मा Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned