राजस्थान : स्कूलों में नामांकन के लिए मई से अगस्त तक सघन अभियान

6 से 14 आयु वर्ग के शत-प्रतिशत नामांकन वाली ग्राम पंचायतों को ओडीएफ की तर्ज पर ड्रापआउट फ्री (डीओएफ) घोषित किया जाएगा।

By: जमील खान

Published: 25 Apr 2018, 10:06 AM IST

राजस्थान में मई से अगस्त तक शहरी क्षेत्र एवं सभी ग्राम पंचायतों में 6 से 14 आयु वर्ग के सभी बालक-बालिकाओं का के विद्यालयों में नामांकन किया जाएगा। इस बार नए प्रवेश के लिए बालक-बालिकाओं के अभिभावकों को विद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों द्वारा बनाया गया 'विद्यालय नामांकन आमंत्रण पत्रÓ भिजवाकर विद्यालय में नामांकन के लिए प्रेरित किया जाएगा।

शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी ने बताया कि शहरी क्षेत्रों में ब्लॉक शिक्षा अधिकारी एवं नोडल संस्था प्रधानों के माध्यम से तथा ग्राम पंचायतों में पंचायत शिक्षा प्रसार अधिकारियों (पीईईओ) के माध्यम से घर-घर जाकर बालक-बालिकाओं का सर्वेक्षण किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि 6 से 14 आयु वर्ग के शत-प्रतिशत नामांकन वाली ग्राम पंचायतों को ओडीएफ की तर्ज पर ड्रापआउट फ्री (डीओएफ) घोषित किया जाएगा। इसके लिए जन प्रतिनिधियों की मदद से ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिए गए हैं। ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में सम्बन्धित वार्ड सदस्यों अथवा पार्षदों को हाउस होल्ड सर्वे से अवगत भी कराया जाएगा। सम्बन्धित वार्ड में नियुक्त अधिकारी स्थानीय जन प्रतिनिधियों से सम्पर्क में रहकर उनका सहयोग प्राप्त करेंगे।

देवनानी ने बताया कि शिक्षा विभाग द्वारा इस सत्र की वार्षिक परीक्षाओं की समाप्ति के साथ ही नामांकन वृद्धि के लिए व्यापक अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने बताया कि विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि वे विद्यालयवार 18 वर्ष आयु तक के बालक-बालिकाओं को पहचानकर उनका रिकॉर्ड अपने पास रखें। ग्रीष्मावकाश से पहले 'विद्यालय प्रबंधन समिति' (एसएमसी) या 'विद्यालय विकास एवं प्रबंध समिति' (एसडीएमसी) की बैठकों में विद्यालयों में नामांकन बनाए रखने और अन्य अभिभावकों को अपने बच्चों का विद्यालयों में नामांकन के लिए प्रेरित किए जाने की चर्चा के लिए भी कहा गया है।

रीप के बाद कॉलेज डायरेक्ट कर सकेंगे एडमिशन
राजस्थान टेक्नीकल यूनिवर्सिटी (आरटीयू) से जुड़े 130 से ज्यादा इंजीनियरिंग कॉलेज इस बार राजस्थान इंजीनियरिंग एडमिशन प्रॉसेस (रीप) की काउंसलिंग के सभी राउंड पूरे होने के बाद खाली सीटों में अपने स्तर पर डायरेक्ट एडमिशन कर सकेंगे। रीप की काउंसलिंग में इस बार डायरेक्ट एडमिशन की अनुमति दी गई है। पहली बार काउंसलिंग की जिम्मेदारी निभाने जा रहे सेंटर फॉर इलेक्ट्रॉनिक गवर्नेंस (सीईजी) इस काउंसलिंग के तीन राउंड पूरे होने के बाद खाली सीटों की मैट्रिक्स और एडमिशन के लिए गाइडलाइन जारी की जाएगी।

इसके बाद कॉलेज डायरेक्ट एडमिशन कर सकेंगे। रीप के रजिस्ट्रेशन 1 जून से शुरू होंगे। काउंसलिंग के सभी राउंड 15 अगस्त तक पूरे होंगे। इस बार भी स्टूडेंट्स का आधार जरूरी होगा। एडमिशन में जेईई मेन के स्कोर को प्रायोर्रिटी दी जाएगी। जबकि १२वीं के आधार पर भी एडमिशन होंगे।

जमील खान
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned