RPSC ने बदला कॉपी चैक करने का पैटर्न, परीक्षा देने वाले युवाओं पर पड़ेगा बड़ा असर

RPSC ने परीक्षाओं के लिए नई कॉपियां तैयार करवाई है। इनके प्रत्येक पेज पर विशेष बार कोड अंकित है। कॉपी में उत्तर लिखने की जगह (स्पेस) और लाइन भी निर्धारित हैं।

By: सुनील शर्मा

Updated: 01 Mar 2020, 04:40 PM IST

राजस्थान लोक सेवा आयोग (RPSC) की कंप्यूटरीकृत बार कोड वाली कॉपी में विषय से इतर कुछ भी 'अनर्गल' लिखने पर विशेष स्कैनर इन्हें अलग कर देगा। आयोग भी इन्हें जांचने में वक्त खराब नहीं करेगा। इससे समय पर परिणाम जारी करने में सहूलियत होगी।

आयोग ने परीक्षाओं के लिए नई कॉपियां तैयार करवाई है। इनके प्रत्येक पेज पर विशेष बार कोड अंकित है। कॉपी में उत्तर लिखने की जगह (स्पेस) और लाइन भी निर्धारित हैं। अभ्यर्थी द्वारा अनर्गल बातें अथवा शब्द लिखने पर स्कैनर ऐसी कॉपियों को अलग कर देता है। आयोग ने पिछले चार-पांच महीने में 20 से 25 भर्ती परीक्षाएं करवाई हैं। इनमें RAS, व्याख्याता भर्ती और अन्य परीक्षाओं की कम्प्यूटराइज्ड बार कोड वाली कॉपियां जंचवाई हैं। जिन कॉपियों में अनर्गल लिखा मिला, उसे स्कैनर ने बिल्कुल अलग कर दिया।

कम्प्यूटरीकृत बार कोड व्यवस्था पहले से लागू है। कोई भी अनर्गल टिप्पणी लिखने पर स्कैनर उसकी छंटनी कर देता है। इससे कॉपियां जांचने के काम में तेजी आई है।
- दीपक उप्रेती, अध्यक्ष, RPSC

Show More
सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned