राजस्थान यूनिवर्सिटीः पहली कटऑफ लिस्ट 19 को, आरक्षण वालों के लिए बड़ी खबर

राजस्थान यूनिवर्सिटीः पहली कटऑफ लिस्ट 19 को, आरक्षण वालों के लिए बड़ी खबर

Sunil Sharma | Publish: Jun, 18 2019 01:17:39 PM (IST) शिक्षा

राजस्थान यूनिवर्सिटी में एडमिशन

राजस्थान यूनिवर्सिटी के संघटक कॉलेजों की ओर से बुधवार को पहली कटऑफ लिस्ट जारी की जानी है, लेकिन आर्थिक पिछड़े वर्ग के स्टूडेंट्स को एडमिशन में लाभ मिलेगा या नहीं, इसे लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है। दरअसल यूनिवर्सिटी की ओर से महारानी, महाराजा, कॉमर्स और राजस्थान कॉलेज को इकोनॉमिक वीकर सेक्शन (EWS) को लेकर कोई दिशा-निर्देश नहीं दिए गए हैं। कॉलेज प्रिंसिपल्स का कहना है अभी तक यूनिवर्सिटी की ओर से कोई सर्कुलर नहीं आया है। कॉलेजों की ओर से पिछले साल के पैटर्न पर ही कटऑफ लिस्ट जारी करने पर काम किया जा रहा है।

फॉर्म में भी नहीं था ईडब्ल्यूएस कॉलम
हाल ही में संघटक कॉलेजों में एडमिशन फॉर्म भरने का सिलसिला खत्म हुआ है। एक से 10 जून तक महारानी, महाराजा, कॉमर्स और राजस्थान कॉलेज में एडमिशन के लिए ऑनलाइन फॉर्म भरे गए थे, इसके बाद यूनिवर्सिटी ने 13 और 14 जून को फॉर्म भरने की डेट बढ़ा दी थी। जिसके लिए 40 हजार से भी ज्यादा स्टूडेंट्स ने फॉर्म भरे हैं। ऑनलाइन फॉर्म में भी अलग से ईडब्ल्यूएस का ऑप्शन नहीं दिया गया था। जिसे लेकर बहुत से स्टूडेंट्स ने कॉलेज में क्वेरी भी की थी। ऐसे में बहुत से स्टूडेंट्स ने जानकारी के अभाव और स्थिति स्पष्ट नहीं होने के चलते इस कैटेगरी में फॉर्म ही नहीं भरा।

सीटें बढ़ाने को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं
पिछले दिनों केंद्र सरकार ने तो आर्थिक पिछड़ों को आरक्षण देते हुए केंद्र के सभी एजुकेशनल इंस्टीट्यूट में दस फीसदी सीटें बढ़ा दी थी। लेकिन प्रदेश में अभी सीटें बढ़ाने को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है। वहीं यूनिवर्सिटी की ओर से जारी प्रोस्पेक्टस में भी इकोनॉमिक वीकर सेक्शन (ईडब्ल्यूएस) को लेकर खास जानकारी नहीं दी गई थी। प्रोस्पेक्टस में यूनिवर्सिटी ने सरकार के नियमों के अनुसार लाभ देने की बात कहकर इतिश्री कर ली थी। ऐसे में सरकार और यूनिवर्सिटी की ओर से हो रही देरी से आर्थिक पिछड़े वर्ग के स्टूडेंट्स को नुकसान होगा।

आर्थिक पिछड़ों को एडमिशन में लाभ देने संबंधी सर्कुलर यूनिवर्सिटी की ओर से अब तक नहीं आया है। न ही फॉर्म में अलग से कोई ईडब्ल्यूएस जैसी कैटेगरी दी गई थी। क्वेरीज के लिए आने वाले स्टूडेंट्स को हमने अपने स्तर ही अदर कैटेगरी में फॉर्म भरने की सलाह दी थी।
- डॉ. रामवीर सिंह, प्रिंसिपल, महाराजा कॉलेज

ईडब्ल्यूएस को लेकर कोई सर्कुलर या दिशा-निर्देश नहीं आए हैं। वहीं ईडब्ल्यूएस कैटेगरी के स्टूडेंट्स को मौजूदा सीटों में ही आरक्षण का लाभ दिया जाएगा या सीट्स बढ़ाई जाएंगी, इसे लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है। पिछले पैटर्न पर ही कटऑफ लिस्ट तैयार की जा रही है।
- प्रो. अल्पना कटेजा, प्रिंसिपल, महारानी कॉलेज

आर्थिक आधार पर आरक्षण लागू तो कर दिया गया है। लेकिन मौजूदा सीटों में लाभ देना है या अलग से सीटें बढ़ाई जाएंगी, इसे लेकर सरकार की ओर से कोई दिशा-निर्देश अभी तक नहीं आए हैं। शिक्षा विभाग से बात कर जल्द ही कॉलेजों को दिशा-निर्देश भेजे जाएंगे। विश्वविद्यालय स्तर पर जल्द ही 10 प्रतिशत सीटें बढ़ाई जाएंगी।
- प्रो. आरके कोठारी, वाइस चांसलर, राजस्थान यूनिवर्सिटी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned