scriptThings to know before taking admission in Engineering college | इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन से पहले जान लें ये बातें | Patrika News

इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन से पहले जान लें ये बातें

अगर आप किसी अच्छे इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश लेना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको कुछ खास बातों पर जरूर ध्यान देना चाहिए।

Published: July 01, 2018 10:07:56 am

अगर आप किसी अच्छे इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश लेना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको कुछ खास बातों पर जरूर ध्यान देना चाहिए।
बारहवीं पास करने के बाद जो स्टूडेंट्स आईआईटी, एनआईटी, बिट्स जैसे संस्थान की प्रवेश परीक्षा पास कर अच्छी शाखा प्राप्त कर लेते हैं, उनके अभिभावक खुश होते हैं। बाकी के सामने बच्चों के भविष्य को लेकर उलझन रहती है कि बच्चे को कौनसे कॉलेज में प्रवेश दिलाएं। जब से इंजीनियरिंग में प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेज व यूनिवर्सिटीज आई हैं तब से अभिभावक और ज्यादा असमंजस में हैं कि किस कॉलेज से अपने बच्चे का एडमिशन करवाएं। किसी भी संस्थान का चयन करने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है।
Engineering
Engineering
पता करें शिक्षा का स्तर

संस्थान के वातावरण, कक्षा कक्ष, लैब, लाइब्रेरी और संस्थान की वेबसाइट आदि का अच्छी तरह से निरीक्षण करें और पता लगाएं कि वहां शिक्षा का स्तर कैसा है? क्योंकि कुछ कॉलेजों में न तो अच्छी तरह से क्लासेज होती हैं, न ही लैब लगती हैं व न ही प्रोजेक्ट्स संबंधित गतिविधियां होती हैं। ऐसे में बच्चा कुछ भी नहीं सीख पाता है।
मान्यता की जांच करें

संस्थान सरकारी नियमानुसार अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद्, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग से संबंधित तथा किसी तकनीकी संस्था से मान्यता प्राप्त है या नहीं? इसका सत्यापन www.aicte-india.org, www.ugc.ac.in व मान्यता देने वाली यूनिवर्सिटी की वेबसाइट से कर कर सकते हैं। क्या उक्त संस्था राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद् द्वारा प्रमाणित की गई है? इसका सत्यापन www.naac.gov.in से कर सकते हैं। आप अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद् हेल्पलाइन नंबर 011-26131576-78, 80 व ईमेल एड्रेस [email protected] विश्वविद्यालय अनुदान आयोग हेल्पलाइन नंबर 011-23604446, 011-23604200 से संपर्क करके अपनी शंका का समाधान कर सकते हैं।
टीचर्स की जानकारी लें

संस्थान की इंजीनियरिंग के क्षेत्र में छवि व प्रतिष्ठा कैसी है? संस्थान के प्रिंसिपल तथा उस शाखा में पढ़ाने वाली फैकल्टी की शैक्षणिक योग्यता क्या है, कहां से पढ़ाई की है? अनुभव क्या है तथा उनका इंजीनियरिंग के क्षेत्र में रिसर्च पेपर, किताब लेखन, वर्कशॉप तथा सेमिनार के जरिए योगदान क्या है? वहां पढऩे वाले तथा पास हो चुके विद्यार्थियों से विचार-विमर्श करना चाहिए। किसी की कही-सुनी पर भरोसा नहीं करना चाहिए।
सुविधा शुल्क की जानकारी

अगर आप अपने बच्चे को हॉस्टल में रखना चाहते हैं तो वहां के कमरे, खाने-पीने का स्तर, रहन-सहन एवं साफ-सफाई, अन्य तकनीकी सुविधाएं, रख-रखाव, सुरक्षा तथा मेडिकल सुविधाओं का परिक्षण करना चाहिए। कुछ संस्थान अलग-अलग सुविधाओं जैसे इंटरनेट, एसी लाइब्रेरी, इंग्लिश क्लासेज, विदेशी भाषा के लिए शुल्क लेते हैं। आपको इन शुल्क की अवधि और बढ़ोतरी के बारे में भी जानकारी प्राप्त करनी चाहिए।
प्लेसमेंट होता है या नहीं

संस्थान के प्लेसमेंट अधिकारियों की शैक्षणिक योग्यता, अनुभव और संस्थान द्वारा बताए गए प्लेसमेंट्स की वास्तविकता की जांच-परख करनी चाहिए। हो सके तो उस संस्थान से पढ़ाई करने के बाद नौकरी लगे बच्चों से भी संवाद करना चाहिए। पता करें कि वहां पर प्रोजेक्ट्स संबंधित गतिविधियां होती हैं या नहीं। इसके लिए किस स्तर की सुविधाएं उपलब्ध हैं?

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

सीढ़ियां से उतरने के दौरान गिरे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव, कंधे की हड्डी टूटीदिल्ली और पंजाब में दी जा रही मुफ्त बिजली, गुजरात में क्यों नहीं?: केजरीवालहैदराबाद में बोले PM मोदी- 'तेलंगाना में भी जनता चाहती है डबल इंजन की सरकार, जनता खुद ही बीजेपी के लिए रास्ता बना रही'पीएम मोदी ने लंबे समय तक शासन करने वाली पार्टियों का मजाक उड़ाने के खिलाफ चेताया, कहा - 'मजाक मत उड़ाएं, उनकी गलतियों से सीखें'Rajasthan: वाहन स्क्रैपिंग सेंटर के लिए एक एकड़ जमीन जरूरीAchievement : ऐसा क्या किया पुलिस ने की मिला तीन लाख का ईनाम और शाबाशी ?Mumbai News Live Updates: फ्लोर टेस्ट से पहले शिवसेना का नया दांव, स्पीकर राहुल नार्वेकर से की 39 विधायकों के खिलाफ एक्शन की मांगहनुमानजी के नाम पर वोट मांग रहे कमल नाथ! भाजपा ने की शिकायत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.