scriptपांचवी बार सांसद बने दुष्यंतसिंह, कांग्रेस नहीं लगा पाई गढ़ में | आठों विधानसभा क्षेत्रों में दर्ज की जीत | Patrika News
चुनाव

पांचवी बार सांसद बने दुष्यंतसिंह, कांग्रेस नहीं लगा पाई गढ़ में

आठों विधानसभा क्षेत्रों में दर्ज की जीत

झालावाड़Jun 06, 2024 / 11:30 am

harisingh gurjar

Jhalawar-Baran Lok Sabha Election Result 2024

– कांग्रेस प्रत्याशी अपने गृह क्षेत्र में भी नहीं जीत पाई

लोकतंत्र के महोत्सव का मंगलवार को समापन हो गया। झालावाड़-बारां सीट से भाजपा प्रत्याशी दुष्यन्त सिंह लगातार पांचवी बार सांसद चुने गए। उन्होंने इस सीट पर एकतरफा जीत हांसिल करते हुए कांग्रेस की उर्मिला जैन भाया को 3 लाख 70 हजार 989 वोटों से शिकस्त दी। भाजपा इस सीट पर लगातार दसवीं बार अजेय रही। दुष्यन्त सिंह पूर्व मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे के पुत्र है, जबकि उर्मिला जैन भाया कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे प्रमोद जैन भाया की पत्नी है। वह बारां की जिला प्रमुख भी है। दुष्यन्त को 8 लाख 65 हजार 376 वोट मिले, जबकि उर्मिला जैन को 4 लाख 94 हजार 387 मिले लोकसभा आम चुनाव 2024 की मतगणना के दौरान झालावाड़-बारां लोकसभा सीट पर मतगणना शुरू होने से लेकर पहले राउंड से ही राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के पुत्र सांसद दुष्यंत सिंह को लीड मिलती रही। अंत में दुष्यंत सिंह 3 लाख 70 हजार 989 वोट से जीत गए। हालांकि दुष्यंत अपना ही पिछला रिकॉर्ड नहीं तोड़ पाए। सांसद दुष्यंत सिंह को 2019 में 887400 वोट मिले थे, तो कांग्रेस के प्रमोद शर्मा को 433472 वोट। दुष्यंत ने 4 लाख 53 हजार 928 वोट के अंतर से जीत दर्ज की थी। पिछले चुनाव में सांसद ने अपनी मां वसुन्धरा के रिकॉर्ड को भी तोड़ा है। लेकिन इस बार खुद के रिकॉर्ड को नहीं तोड़ पाए। लगातार हर विधानसभा से प्रत्येक राउंड में सांसद को अच्छी लीड मिलती रही, ऐसे में सभी ने जीत तय मान ली। इधर पार्टी कार्यालय में पहले से ढोल-नगाड़ों के साथ कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाना शुरू कर दिया था। ग्रामीण क्षेत्रों में भी जगह-जगह मिठाई बांटकर जश्न मनाया गया।
भाजपा कार्यकताओं में हर्ष की लहर –

निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस की उर्मिला शर्मा से सांसद दुष्यंत सिंह हर राउंड में आगे रहे, प्रथम राउंड में करीब 8638 मतों से आगे रहे जो अंत तक 26 वें राउंड तक बढ़त बनी रही। लोकसभा चुनाव के परिणामों में सांसद दुष्यंत सिंह के भारी मतों से विजयी होने पर भाजपा कार्यकताओं में हर्ष की लहर दौड़ गई। कार्यकर्ताओं ने विभिन्न चौराहो एवं मोहल्लों में आतिशबाजी कर जीत का जश्र मनाया।
वाट्सअप पर देते रहे अपडेट-

लोकसभा चुनाव परिणाम के दौरान शहर में लोगों की नजरे दिनभर टीवी पर टिकी रही। जहां सभी अपने परिवार सहित टीवी पर चुनाव परिणाम देखते हुए दिखाई दिए। वहीं कई लोग तो चुनाव परिणामों का अपडेट अपने रिश्तेदारों एवं परिचितों को वाट्सअप ग्रुप पर देते हुए नजर आए।
भाजपा के गढ़ में शुमार है ये संसदीय सीट-

भाजपा के सबसे मजबूत गढ़ में झालावाड़-बारां लोकसभा सीट शुमार है। यहां भाजपा ने 1989 से लेकर 2024 तक हुए 10 लोकसभा चुनाव में लगातार जीत दर्ज की है। सांसद दुष्यंत सिंह ने लगातार पांचवी बार जीत दर्ज की है।वहीं पूर्व मंत्री प्रमोद जैन भाया ने पिछले डेढ़ दशक में तीसरी बार दुष्यंत को चुनौती देने का प्रयास किया लेकिन वो सफल नहीं हो पाए। इस बार प्रमोद जैन की पत्नी व बारां की जिला प्रमुख उर्मिला जैन भाया दुष्यंत के सामने चुनाव हार गई। उर्मिला इससे पहले 2009 में और प्रमोद भाया 2014 में यहां से चुनाव लड़ कर हार चुके हैं।
किसे-कितने वोट मिले

प्रत्याशी वोट

उर्मिला जैन 494387

चन्द्रसिंह 12285

दुष्यंत सिंह 865376

भुवनेश कुमार 9345

पंकज 5945

बाबूलाल 7692

रविराजसिंह 10274

नोटा 16027

झालरापाटन
पार्टी लोकसभा विधानसभा

भाजपा 135531(64.84) 138831(59.51)

कांग्रेस 63371(30.32) 85638(36.71)

भाजपा का मत बढ़ा 5.33 कांग्रेस का मत घटा6.39 प्रतिशत कद बढ़ा-घटा

वसुन्धरा राजे: लगातार पांच बार सांसद पुत्र को जीत दर्ज कराने में राजे का अहम योगदान रहा। राजे काकेन्द्र तक इससे पद बढ़ा है।
रामलाल चौहान: कांग्रेस नेता रामलाल चौहानअपनी विधानसभा में भी उर्मिला जैन को नहीं जीता पाया है। ऐसे में कद घटा है।

खानपुर

पार्टी लोकसभा विधानसभा

भाजपा 107693 (62.67) 92620 ( 45.61)
कांग्रेस 57252( 33.33) 101045(49.76) भाजपा का मत बढ़ा 17.06 कांग्रेस का मत घटा प्रतिशत16.43

कद बढ़ा घटा

सुरेश गुर्जर:पहली बार विधायक बने सुरेश गुर्जर भी अपनी विधानसभा में कांग्रेस को मजबूत नहीं कर पाए हैं।
नरेन्द्र नागर:विधानसभा चुनाव में भले ही चुनाव हार गए थे, लेकिन विधानसभा के मुकाबले वोट प्रतिशत बढ़ा है।

मनोहरथाना

पार्टी लोकसभा विधानसभा भाजपा133986 (70 ) 85304 ( 37.82)

कांग्रेस 45165( 23.72) 60439 ( 26.8) भाजपा का मत बढ़ा 32.18
अन्य का मत घटा प्रतिशत5.38

डग

पार्टी लोकसभा विधानसभा

भाजपा 120942( 64.63) 99251 ( 46.56)

कांग्रेस 56845 (30.38 ) 76990 ( 63.12)

भाजपा का मत बढ़ा 18.07 कांग्रेस का मत घटा प्रतिशत 32.74 पद बढ़ाघंटा
कालूराम मेघवाल:विधानसभा चुनाव के मुकाबदले मतदान प्रतिशत बढ़ा है। ऐसे में मेघवाल का कद बढ़ गया है।

चेतराज गेहलोत: विधानसभा चुनाव के चार माह बाद भी गेहलोत अपनी विधानसभा में मतदान प्रतिशत नहीं बढ़ा पाए है, आनेवाले समय में कड़ी मेहनत करनी होगी।
अंता

पार्टी लोकसभा विधानसभा

भाजपा79774 (52.24 ) 87390(49.64 )

कांग्रेस68867 ( 45.09) 81529 ( 46.31)

भाजपा का मत बढ़ा 2.56 कांग्रेस का मत घटा प्रतिशत0.41 कम बढ़ा घटा
कंवरलाल: यहां से पहली बार विधायक बने कंवरलाल मीणा का यहां कद बढ़ाहै। विधानसभा के मुकाबले करीब ढ़ाई फीसदी मतदान बढ़ा है।

प्रमोद जैन भाया: पूर्व केबिनेट मंत्री का स्वयं की गृह क्षेत्र में अपनी पत्नी को बराबद वोट नहीं दिला पाए है। यहां कांग्रेस विधानसभा से भी 0.41 फीसदी कम वोट ला पाई।
किशनगंज

पार्टी लोकसभा विधानसभा

भाजपा 81226 (49.91 ) 101857 (53.43 )

कांग्रेस 74992(46.73 ) 79576( 41.74)

भाजपा का मत घटा- 3.52 कांग्रेस का मत बढा प्रतिशत 4.99 कम बढ़ा घटा
ललित मीणा: मीणा के क्षेत्र में भाजपा को विधासभा के मुकाबले साढ़े तीन फीसदी मत कम मिले है।

निर्मला सेहरिया: कांग्रेस का 4.99 फीसदी मत बढऩे से यहां सेहरिया का कद बढ़ा है।
बारां-अटरू-

पार्टी लोकसभा विधानसभा

भाजपा95524 (55.71 ) 101530(53.84 )

कांग्रेस 70885(41.35 ) 81776 (43.36 ) भाजपा का मत बढ़ा 1.87 कांग्रेस का मत घटा प्रतिशत2.01 कद बढ़ा घटा- राधेश्याम : यहां गत विस चुनाव से मतदान प्रतिशत बढ़ा है। ऐसे में राधेश्याम का कद बढ़ गया है।
पानाचन्द मेघवाल: यहां पूर्व विधायक रहे पानाचन्द मेघवाल की विधानसभा में मतदानप्रतिशत दो फीसदी कम हुआ है।

छबड़ा

पार्टी लोकसभा विधानसभा

भाजपा 107174 (62.98 ) 65000 (32.73 )
कांग्रेस 54965( 32.30) 59892( 30.16) भाजपा का मत बढ़ा 30.25 कांग्रेस का मत घटा प्रतिशत2.14 कद बढ़ा घटा- प्रतापसिंह सिंघवी: भाजपा के कद्दावरनेता की विधानसभा में गत विधानसभा चुनाव से मतदान प्रतिशत पचास फीसदी बढ़ा है।
करणसिंह- कांग्रेस के करण का अपनी विधानसभा में मतदान प्रतिशत हालांकि दो फीसदी बढ़ा है, लेकिन कम होने से अभी कड़ी मेहनत की जरुरत है।

किसे-कितने वोट मिले

प्रत्याशी वोट

उर्मिला जैन 494387
चन्द्रसिंह 12285

दुष्यंत सिंह 865376

भुवनेश कुमार 9345

पंकज 5945

बाबूलाल 7692

रविराजसिंह 10274

नोटा 16027

फस्र्ट इंटरव्यू:

जीत के बाद पत्रिका के साथ जनता ने प्यार दिया, अब मेरी बारी,36 कौम का साथ दूंगा: दुष्यंत
सवाल: जनता ने फिर से आप पर पांचवी बार भरोसा जताया लेकिन पिछले वर्ष की जीत का आंकड़ा नहीं छू पाएं

दुष्यंत: सभी कार्यकर्ताओं व अन्य लोगों का आभार जिन्होने मेरा साथ दिया, जिन्होने नहीं दिया उनके भी काम करूंगा, 36 ही काम का साथ दूंगा। पूर्व मुख्यमंत्री ने झालावाड़ व बारां में बहुत काम किया हैउनको देखते हुए सभी ने काम किया। देश के प्रधानमंत्री पर फिर से जनता ने भरोसा दिलाया है। एनडीए को फिर से तीसरी बार देश में काम करने का मौका दिया है। सभी का आभार व्यक्त करता हूं।सभी युवाओं व माता-बहनों को व आठों विधानसभा के मतदाओं का धन्यवाद देता हूं।
सवाल: क्या प्राथमिकताएं रहेगी। दुष्यंत: राजस्थान में भजनलाल जी की सरकार है उनके व मोदीजी के नेतृत्व में क्षेत्र के विकास के लिए ज्यादा से ज्यादा काम करेंगे।हर ईश्यू उठाने के लिए मौका दिया है, मेरे कार्यकर्ता जो ईश्यू मेरे सामने लेकर आएंगे उसे उठाने का पूरा प्रयास करूंगा। काम बड़ों का ही नहीं पूरे 36 कौम का काम करेंगे।
जवाब: आप राजस्थान में वरिष्ठ सांसद है, आप क्या दिल्ली में बड़ी जिम्मेदारी मिलेगी दुष्यंत: ये प्रधानमंत्रीजी का काम है वो तय करेंगे।हम तो मिलकर काम करेंगे।

सवाल:संसदीय क्षेत्र में क्या विशेष काम होंगे
दुष्यंत:मुझे लोकसभा क्षेत्र का प्रत्याशी बनाया मैं सभी का ध्यान रखूंगा। मुझे 3 लाख से अधिक मतों से लोगों ने जीतकर संसद भेजा है। ये जीत अकेले दुष्यंत की नहीं है, इसमें सभी लोगों को योगदान है।36 साल का जो रिश्ता है उसे ओर आगे लेकर जाएंगे, अच्छे काम करेंगे।क्षेत्र का विकास करेंगे।आगे जो भी चुनाव आएंगे मिलकर काम करेंगे ताकि क्षेत्र का विकास करेंगे।

Hindi News/ Elections / पांचवी बार सांसद बने दुष्यंतसिंह, कांग्रेस नहीं लगा पाई गढ़ में

ट्रेंडिंग वीडियो