Kerala Assembly Elections 2021 : लेफ्ट के लिए अस्तित्व की लड़ाई बना केरल

Kerala Assembly Elections 2021 : लेफ्ट के पास ले-देकर यही एक राज्य बचा हुआ है जहां वो सत्ता में है, देश के बाकी राज्यों में या तो लेफ्ट खत्म हो चुका है या नाममात्र की उपस्थिति है।

By: सुनील शर्मा

Published: 06 Apr 2021, 02:15 PM IST

Kerala Assembly Elections 2021 : कन्नूर। केरल में न सिर्फ कांग्रेस वरन लेफ्ट भी अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ता नजर आ रहा है। एक तरफ कांग्रेस है, जिसके पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी अमेठी से हारने के बाद केरल के वायनाड़ से लोकसभा सांसद चुने गए। यह भी एक वजह है कि देश के पांच राज्यों में चुनाव होने पर भी राहुल गांधी और कांग्रेस का सबसे ज्यादा ध्यान इसी एक राज्य पर टिका हुआ है। दूसरी ओर लेफ्ट के पास ले-देकर यही एक राज्य बचा हुआ है जहां वो सत्ता में है, देश के बाकी राज्यों में या तो लेफ्ट खत्म हो चुका है या नाममात्र की उपस्थिति है। लेफ्ट अपने इस आखिरी किले को हर कीमत पर बचा कर रखना चाहता है। इन्हीं कारणों से केरल विधानसभा चुनाव 2021 कांग्रेस और लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट दोनों के लिए बहुत बड़ी जंग में बदल गया है।

आज केरल में हो रही है वोटिंग
केरल विधानसभा चुनावों के लिए आज 140 सीटों पर वोटिंग जारी है। इन 140 सीटों में से 14 सीटें अनुसूचित जाति और 2 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए रिजर्व हैं। इन 140 सीटों पर कुल 957 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। इनमें लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (LDF) की ओर से सीपीएम 77, सीपीआई 24, केरल कांग्रेस 12, जे़डीएस 4, एनसीपी 3, इंडियन नेशनल लीग 3, लोकतांत्रिक जनता दल 3 सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं। बाकी सीटों पर सहयोगी दलों ने अपने प्रत्याशी खड़े किए हैं।

यह भी पढ़ें : तिरुवनंतपुरम जीतने वाली पार्टी ही केरल में सरकार बनाती है

यह भी पढ़ें : पिनाराई विजयन ने कहा, पहले से ज्यादा सीटें जीत कर फिर से सरकार बनाएंगे

यह भी पढ़ें : मध्य केरल में ईसाई मतदाता निर्णायक भूमिका में, लुभाने में जुटी सभी पार्टियां

कांग्रेसनीत यूडीएफ में कांग्रेस 93 सीटों पर, मुस्लिम लीग 25 सीटों पर, केरल कांग्रेस (जोसेफ) 10, आरएसपी 5 सीट तथा बाकी 7 सीटों पर अन्य सहयोगी दल चुनाव लड़ रहे हैं। इसी तरह भाजपा ने 113 सीटों पर खुद के उम्मीदवार उतारे हैं, 3 सीटों पर उसके प्रत्याशियों के नामांकन रद्द हो गए हैं, जबकि सहयोगी भारतीय धर्म जनसेना पार्टी 21 सीटों पर चुनाव लड़ रही है, बाकी 6 सीटों पर अन्य सहयोगी दल चुनाव लड़ेंगे।

सत्ताविरोधी लहर को दबाने के लिए लेफ्ट ने किया बड़ा फेरबदल
मौजूदा समय में केरल में सत्ताविरोधी लहर चल रही है हालांकि मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन का करिश्माई व्यक्तित्व है, पार्टी को उनके नाम पर वोट भी मिलते हैं, लेकिन अभी उनका नाम हाई प्रोफाइल गोल्ड स्मगलिंग केस में उछाला जा चुका है, इसके अलावा विपक्ष और भाजपा दोनों ही सबरीमाला जैसे मुद्दों को लेकर सरकार पर आक्रामक भी हो रहे हैं। भाजपा लव जिहाद जैसे मुद्दों को उछाल रही है तो मेट्रो मैन ई. श्रीधरन को भी अपने मुख्यमंत्री प्रत्याशी के रुप में प्रोजेक्ट कर रही है। इसके साथ-साथ कांग्रेस भी राहुल और प्रियंका की ताबड़तोड़ रैलियां आयोजित कर रही है। इन सभी चीजों से निपटने के लिए एलडीएफ ने लगभग 30 से अधिक मौजूदा विधायकों के टिकट काट दिए हैं, उनकी जगह युवाओं तथा महिलाओं को टिकट दिए गए हैं। कार्यकर्ताओं और नेताओं के लिए गाइडलाइन जारी की गई हैं। इसके साथ ही पार्टी कार्यकर्ता घर-घर जाकर मतदाताओं से संपर्क करने का प्रयास कर रहे हैं।

आइए पढ़ें : kerala Assembly Elections 2021 - BJP Full Candidates List

kerala Assembly Elections 2021
सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned