scriptnoise of campaigning for seventh phase of Uttar Pradesh Assembly Elections 2022 stopped | Uttar Pradesh assembly Elections 2022 के सातवें चरण के लिए थम गया प्रचार का शोर, अब 7 को मतदान | Patrika News

Uttar Pradesh assembly Elections 2022 के सातवें चरण के लिए थम गया प्रचार का शोर, अब 7 को मतदान

Uttar Pradesh assembly Elections 2022 के सातवें व अंतिम चरण के मतदान के लिए प्रचार का शोर शनिवार की शाम छह बजे थम गया। अब काशी के मतदाता सात मार्च को मतदान कर सूबे में नई सरकार के गठन में सहयोग करेंगे। सातवें व अंतिम दिन भी राजनीतिक पार्टियों के दिग्गजों ने पूरी ताकत झोंकी।

वाराणसी

Updated: March 06, 2022 06:44:33 am

वाराणसी. Uttar Pradesh Assembly elections 2022 के सातवें व अंतिम चरण के लिए प्रचार का शोर शनिवार की शाम छह बजे थम गया। अब सात मार्च को प्रातः 7-00 बजे से शाम 6-00 बजे तक मतदान होगा। हालांकि प्रचार का शोर थमने से ठीक पहले तक सभी राजनीतिक पार्टियों के दिग्गज नेताओं और प्रत्याशियों ने जमकर पसीना बहाया। पीएम नरेंद्र मोदी ने सुबह ही जहां शहर के गणमान्य नागरिकों संग संवाद किया वहीं सेवापुरी विधानसभा क्षेत्र के खजुरी में सभा की। उसके अलावा कांग्रेस के कैंट विधानसभा क्षेत्र के प्रत्याशी डॉ राजेश मिश्र ने लंका से गोदौलिया तक रोड शो किया। हालांकि इस रोड शो में पार्टी की यूपी प्रभारी और राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को भी शामिल होना था पर तकनीकी कारणों से ऐसा हो नहीं सका। उधर समाजवादी पार्टी से भाजपा ज्वाइन करने वाली पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव ने बाबा विश्वनाथ और काल भैरव का दर्शन पूजन किया।
सातवें चरण के लिए प्रचार का शोर थमने तक नेताओं और समर्थकों ने बहाया पसीना
सातवें चरण के लिए प्रचार का शोर थमने तक नेताओं और समर्थकों ने बहाया पसीना
नौ जिलों की 54 सीटों के लिए अंतिम दम तक बहाया पसीना
बनारस सहित पूर्वांचल की तीन कमिश्नरी के नौ जिलों की 54 सीटों के लिए भी नेता आखिरी दम तक पसीना बहाते नजर आए। अब देखना ये होगा कि इन नेताओं की मेहनत क्या रंग खिलाती है। होली से पहले किस-किस के घर की गुझिया में मिठास होती है, किसके सिर माथे पर अबीर गुलाल सजता है और किसकी होली बदरंग होती है। इसका पता अब 10 मार्च को मतगणना के बाद होगा।
मतदान केंद्र के 100 मीटर की दूरी में प्रचार प्रतिबंधित

इस बीच बनारस के जिला निर्वाचन अधिकारी/ कलेक्टर कौशल राज शर्मा ने कहा है कि प्रचार की अवधि बंद होने के बाद,गैरजनपद से आया कोई नेता, राजनीतिक पार्टी के पदाधिकारी निर्वाचन क्षेत्र में मौजूद नहीं रहने चाहिए। जिला निर्वाचन अधिकारी शर्मा ने बताया कि मतदान के दिन मतदान केंद्र के 100 मीटर की दूरी के भीतर प्रचार करने पर पाबंदी होगी।
पोलिंग एजेंट नियुक्ति का प्रावधान
चुनाव लड़ने वाले प्रत्येक अभ्यर्थी पोलिंग एजेंट नियुक्त कर सकते है। यदि चुनाव लड़ने वाले किसी उम्मीदवार को किसी मतदेय स्थल या पड़ोसी मतदेय स्थल का पोलिंग एजेंट नही मिलता है, तो वह उस विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के किसी मतदाता को पोलिंग एजेंट नियुक्त कर सकता है। कोई मंत्री, सांसद, विधायक, एमएलसी या कोई अन्य व्यक्ति जो सुरक्षा घेरे में है कि नियुक्ति निर्वाचन अभिकर्ता/पोलिंग अभिकर्ता/मतगणना अभिकर्ता के रूप में नही की जा सकती। सुरक्षा कवर प्राप्त ऐसे किसी भी व्यक्ति को अभ्यर्थी के अभिकर्ता के रूप में कार्य करने के लिए अपने सुरक्षा कवर को समर्पण करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।
शर्तों संग एक से अधिक अभिकर्ता की नियुक्ति
प्रत्येक अभ्यर्थी एक के अतिरिक्त और मतदान अभिकर्ता को राहत मतदान अभिकर्ता के रूप में नियुक्त करने का हकदार है। लेकिन किसी समय दोनो को मतदान केंद्र में रहने की अनुमति नही दी जाएगी। पीठासीन अधिकारी किसी भी परिस्थिति में मतदान समाप्ति से दो घंटे पूर्व के अंदर किसी भी मतदान अभिकर्ता को उसके प्रतिस्थानी अभिकर्ता से बदले जाने की अनुमति नहीं देगें। किसी भी परिस्थिति में मतदान अभिकर्ता को मतदान समाप्ति से पूर्व निर्वाचक नामावली की उसकी प्रति मतदान केंद्र से बाहर ले जाने अनुमति नही होगी। अभ्यर्थियों के मतदान अभिकर्ताओं के लिए मतदान केंद्र पर बैठने की व्यवस्था प्राथमिकता के आधार पर की जाएगी। इसमें मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय दलों के अभ्यर्थी, मान्यता प्राप्त राज्यीय दलों के अभ्यर्थी, अन्य राज्यों के मान्यता प्राप्त राज्यीय दलों के अभ्यर्थी, जिन्हें निर्वाचन क्षेत्र में उनके आरक्षित प्रतीकों उपयोग करने की अनुमति दी गई है। पंजीकृत गैर-मान्यता प्राप्त दलों के अभ्यर्थी और निर्दलीय अभ्यर्थी।
मतदान केद्र के भीतर इन्हें ही मिलेगा प्रवेश
पीठासीन अधिकारी, मतदान केंद्र के भीतर निर्वाचक, मतदान अधिकारी, एक समय में प्रत्येक अभ्यर्थी, उनका निर्वाचन अभिकर्ता और प्रत्येक अभ्यर्थी का एक समय में एक मतदान अभिकर्ता, आयोग द्वारा प्राधिकृत व्यक्ति, ड्यूटी पर तैनात लोक सेवक, किसी निर्वाचक की गोद में बच्चा, किसी नेत्रहीन अथवा अशक्त निर्वाचक, जो बिना किसी सहायता के चल अथवा मत नही डाल सकता हो के साथ आने वाला व्यक्ति और पीठासीन अधिकारी के अनुमति से समय-समय पर निर्वाचकों की पहचान अथवा मतदान कराने में उनकी सहायता करने के लिए प्रवेश पाने वाले अन्य व्यक्तियों को ही प्रवेश की अनुमति दी जाएगी।।
मतदान के दिन प्रत्याशी को मिलेगी ये वाहन सुविधा
चुनाव लड़ने वाले प्रत्येक अभ्यर्थी को निर्वाचन क्षेत्र में मतदान तिथि 07 मार्च (दिन-सोमवार) को अपने स्वयं के उपयोग के लिए एक वाहन, अपने निर्वाचन अभिकर्ता के उपयोग के लिए एक वाहन, इसके अलावा, अपने कार्यकर्ताओं या दल कार्यकर्ताओं के उपयोग के लिए एक वाहन इस प्रकार कुल-3 वाहन उपयोग करने की अनुमति होगी। चार पहिया वाहनो में चालक सहित पाचं से अधिक व्यक्तियों को ले जाने की अनुमति नही होगी। अभ्यर्थियों के लिए आवंटित वाहन किसी अन्य व्यक्ति द्वारा उपयोग नही किया जा सकता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

आंध्र प्रदेश में जिले का नाम बदलने पर हिंसा, मंत्री का घर जलाया, कई घायलपंजाब के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री के OSD प्रदीप कुमार भी हुए गिरफ्तार, 27 मई तक पुलिस रिमांड में विजय सिंगलारिलीज से पहले 1 जून को गृहमंत्री अमित शाह देखेंगे अक्षय कुमार की 'पृथ्वीराज', जानिए किस वजह से रखी जा रहीं स्पेशल स्क्रीनिंगGujrat कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का विवादित बयान, बोले- मंदिर की ईंटों पर कुत्ते करते हैं पेशाबIPL 2022, Qualifier 1 RR vs GT: मिलर के तूफान में उड़ा राजस्थान, गुजरात ने पहले ही सीजन में फाइनल में बनाई जगहRajya Sabha Election 2022: राजस्थान से मुस्लिम-आदिवासी नेता को उतार सकती है कांग्रेस'तुम्हारे कदम से मेरी आँखों में आँसू आ गए', सिंगला के खिलाफ भगवंत मान के एक्शन पर बोले केजरीवालसमलैंगिकता पर बोले CM नीतीश कुमार- 'लड़का-लड़का शादी कर लेंगे तो कोई पैदा कैसे होगा'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.