scriptPrincely State of UP ke Rajwaade Story part 3 | टूटता तिलिस्म – पार्ट 3, राजघरानों की रियासत तो गयी पर यूपी में सियासत तो है | Patrika News

टूटता तिलिस्म – पार्ट 3, राजघरानों की रियासत तो गयी पर यूपी में सियासत तो है

देसी रियासतों के भारत में विलय के बाद कई राज परिवारों ने लोकतंत्र के जरिए जनता पर शासन करने की नीति पर काम किया और काफ़ी हद तक इसमें सफल भी रहे हैं। अब जबकि यूपी में 18वीं विधानसभा का चुनाव होने जा रहा है एक बार फिर उप्र के कई राजे-रजवाड़े चुनावी मैदान में कूदने की तैयारी में हैं। राजपरिवारों के कुछ वारिस सपा के साथ हैं तो कुछ भाजपा के साथ।

लखनऊ

Published: December 22, 2021 03:43:33 pm

लखनऊ. देसी रियासतों के भारत में विलय के बाद कई राज परिवारों ने लोकतंत्र के जरिए जनता पर शासन करने की नीति पर काम किया और काफ़ी हद तक इसमें सफल भी रहे हैं। अब जबकि यूपी में 18वीं विधानसभा का चुनाव होने जा रहा है एक बार फिर उप्र के कई राजे-रजवाड़े चुनावी मैदान में कूदने की तैयारी में हैं। राजपरिवारों के कुछ वारिस सपा के साथ हैं तो कुछ भाजपा के साथ। कुछ निर्दलीय मैदान में उतरने की तैयारी में है। टूटता तिलिस्म - पार्ट 3 में आइये जानते हैं कुछ और रियासतों के बारे में -
padrauna.jpg
आगरा का भदावर राजघराना

इस सियासत के राजा महेंद्र अरिदमन सिंह का सियासत से नाता रहा है। कभी वो खुद सियासत में सक्रिया हुआ करते थे मगर अब वो उतना सक्रिय नहीं रहते बल्कि उनकी पत्नी रानी पक्षालिका सिंह सियासत में सक्रिय हैं। राजा महेंद्र अरिदमन सिंह इस सीट से छह बाह विधायक रह चुके हैं।
यह भी पढ़ें

टूटता तिलिस्म: यूपी के रजवाड़ों को तवज्ज़ो नहीं दे रहे सियासी दल, कभी सियासत में बोलती थी तूती

बिजनौर का सौपरी राजघराना

इस राजघराने के कुंवर सुशांत सिंह सियासत से जुड़े हुए हैं। वह अपने पिता मुरादाबाद से भाजपा सांसद कुंवर सर्वेश सिंह की विरासत को आगे बढ़ा रहे हैं।

बागपत के नवाब
अब बात नवाबी खानदानों की। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में नवाबों का भी सियासत से गहरा नाता रहा है। बागपत विधानसभा सीट पर 25 साल तक विधायक रहने वाले नवाब कोकब हमीद के बाद अब उनके बेटे अहमद हमीद भी सियासत में हाथ आज़मा रहे हैं।
ललितपुर के राजघराना

ललितपुर के राजघराने के राजा बुंदेला सियासत से पहले सिनेमा में थे। मगर अब वो बुंदेलखंड की सियासत में किस्मत आजमा रहे हैं। उन्होंने बुंदेलखण्ड कांग्रेस के नाम से अपनी पार्टी भी बनायी थी।
यह भी पढ़ें

टूटता तिलिस्म – पार्ट 2, यूपी के रजवाड़ों को तवज्जो नहीं दे रहे सियासी दल, कभी सियासत में बोलती थी तूती

इलाहाबाद का बरांव राजघराना

इलाहाबाद के बरांव राजघराने का सियासत से पुराना रिश्ता रहा है। इसके वारिस उज्जवल रमण सिंह परंपरागत करछना सीट से सियासत में हाथ आजमा चुके हैं। उज्जवल के पिता रेवती रमण सिंह करछना से आठ बार विधायक रह चुके हैं।
बहराइच का पयागपुर राजघराना

बहराइच का पयागपुर राजघराना राजनीति में काफी समय तक सक्रिय रहा। राजा रुदवेंद्र विक्रम सिंह वर्ष 1991 में राम मंदिर लहर के दौरान कैसरगंज से जीते। उनसे पहले पयागपुर के राजा केदार राज जंगबहादुर फखरपुर सीट से जीते।
बहराइच का बेडऩापुर राजघराना

बेडऩापुर राजघराने की राजकुमारी देविना सिंह वर्ष 2012 के चुनाव के पहले राजनीति में सक्रिय रहीं। देविना की दादी बसंत कुंवरी स्वतंत्र पार्टी से वर्ष 1962 में कैसरगंज से सांसद रहीं। इसी तरह दो राजघराने नानपारा और चरदा रियासतों से संबंध रखने वाले राजघरानों के लोग आज भी हैं। लेकिन वह सियासत से दूर अपने निजी व्यवसाय से जुड़े हुए हैं।
कुशीनगर का पडरौना राजघराना

कांग्रेस के पूर्व सांसद कुंवर रतनजीत प्रताप नारायण सिंह (आरपीएन सिंह) को यूपी के पडरौना का राजा साहेब कहा जाता है। वह इसी नाम से प्रसिद्ध हैं। आरपीएन के पिता कुंवर सीपीएन सिंह कुशीनगर से सांसद थे। वह 1980 में इंदिरा गांधी कैबिनेट में रक्षा राज्यमंत्री भी रहे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.