scriptSatish Mahana can be Assembly Speaker and Dinesh Sharma BJP President | सतीश महाना बनाए जा सकते हैं विधानसभा अध्यक्ष, दिनेश शर्मा का नाम भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की रेस में, श्रीकांत शर्मा को भी बड़ी जिम्मेदारी | Patrika News

सतीश महाना बनाए जा सकते हैं विधानसभा अध्यक्ष, दिनेश शर्मा का नाम भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की रेस में, श्रीकांत शर्मा को भी बड़ी जिम्मेदारी

सतीश महाना पिछली सरकार में औद्योगिक विकास मंत्री थे। उनकी वरिष्ठता और लंबे राजनीतिक करियर को देखते हुए उन्हें विधानसभा अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी दी जा सकती है। वहीं पिछली सरकार में डिप्टी सीएम रहे दिनेश शर्मा को नई सरकार में जगह तो नहीं मिली लेकिन प्रबल संंभावना है कि उन्हें विधान परिषद के सभापति का दायित्व सौंपा जा सकता है।

लखनऊ

Published: March 26, 2022 11:50:11 am

योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। योगी 2.0 सरकार में कई पुराने मंत्रियों को दोबारा शामिल किया गया है तो वहीं कुछ कद्दावर नेताओं का नाम नहीं लिया गया। नई योगी सरकार में सतीश महाना और दिनेश शर्मा ये दो बड़े नाम शामिल नहीं हैं। माना जा रहा है कि इन दोनों नेताओं को दूसरी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जाएगी। इनकी छवि और प्रदर्शन के अनुसार इन्हें दूसरी बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है।
Satish Mahana can be Assembly Speaker and Dinesh Sharma BJP President
Satish Mahana can be Assembly Speaker and Dinesh Sharma BJP President
मिल सकता है यह पद

सतीश महाना पिछली सरकार में औद्योगिक विकास मंत्री थे। उनकी वरिष्ठता और लंबे राजनीतिक करियर को देखते हुए उन्हें विधानसभा अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी दी जा सकती है। वहीं पिछली सरकार में डिप्टी सीएम रहे दिनेश शर्मा को नई सरकार में जगह तो नहीं मिली लेकिन प्रबल संंभावना है कि उन्हें विधान परिषद के सभापति का दायित्व सौंपा जा सकता है। इसके साथ ही उनका नाम स्वतंत्र देव सिंह की जगह नए बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के लिए भी लिया जा रहा है।
यह भी पढ़ें
 

अब मदरसों में गाना होगा अनिवार्य रूप से राष्ट्रगान, शिक्षकों के लिए भी तैयार होगा मानक

श्रीकांत शर्मा को भी मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी

दरअसल, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी किसी ब्राह्मण को सौंपना चाहती है। इस लिहाज से भाजपा डॉ. दिनेश शर्मा का उपयोग कर सकती है। इसके साथ ही पिछली सरकार में ऊर्जा मंत्री रहे श्रीकांत शर्मा और एमएसएमई व खादी ग्रामोद्योग मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह भी नई सरकार में शामिल नहीं हो पाए। यह दोनों पहले केंद्रीय संगठन की भूमिका में रह चुके हैं। भाजपा इनका उपयोग संगठन में कर सकती है। मंत्रिपरिषद से हटाए गए कुछ चेहरों पर भाजपा 2024 के लोकसभा चुनाव में भी दांव लगा सकती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभकिसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामसूर्य-बुध की युति से बनेगा ‘बुधादित्य’ राजयोग, जानिए किसकी चमकेगी किस्मत?दिल्ली के सरकारी स्कूलों में सिर्फ 15 दिन का समर वेकेशन, जानिए प्राइवेट स्कूलों को लेकर क्या हुआ फैसला17 मई से 3 राशि वालों के खुलेंगे भाग, मंगल का मीन में गोचर दिलाएगा अपार सफलता2023 तक मीन राशि में रहेगा 'जुपिटर ग्रह', 3 राशियों की धन-दौलत में करेगा जबरदस्त वृद्धिगेहूं के दामों में जोरदार उछाल, एक माह में बढ़े 300 रुपए क्विंटलजमकर बिकी Tata की ये किफायती SUV! एडवांस फीचर्स और 5 स्टार सेफ़्टी के आगे फेल हुएं सभी

बड़ी खबरें

Andrew Symonds Death: ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर एंड्रयू साइमंड्स की कार एक्सीडेंट में मौतउत्तराखंड, कर्नाटक, गुजरात और अब त्रिपुरा में CM बदला, आखिर क्यों BJP बार-बार कर रही बदलाव?कांग्रेस संगठन में 50 से 60 साल पुरानी व्यवस्था में बदलाव की तैयारीRajasthan Road Accident: राजस्थान के राजसमंद में बड़ा सड़क हादसा, 4 लोगों की मौत, मची चीख-पुकारजानिए 99 साल पहले किसलिए हुआ था बुलडोजर का निर्माण, जिसका हो रहा आज तोड़फोड़ में इस्तेमालशरद पवार के खिलाफ पोस्ट इस एक्ट्रेस को पड़ा भारी, मुंबई पुलिस ने हिरासत में लियाIPL 2022: कोलकाता ने हैदराबाद को 54 रनों से हराया, प्लेऑफ की रेस से बाहर हुआ SRHकौन हैं माणिक साहा जो होंगे त्रिपुरा के नए मुख्यमंत्री
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.