scriptSP grand alliance big challenge for Akhilesh Yadav in Uttar Pradesh Assembly Elections 2022 | Uttar Pradesh Assembly Elections 2022: सपा का महा गठबंधन अखिलेश के लिए बड़ी चुनौती | Patrika News

Uttar Pradesh Assembly Elections 2022: सपा का महा गठबंधन अखिलेश के लिए बड़ी चुनौती

अखिलेश यादव ने जातीय आधार पर अपने सामाजिक समीकरण को दुरुस्त करने के लिए महा गठबंधन तो कर लिया पर अब ये महा गठबंधन ही अखिलेश के लिए सिरदर्द साबित हो रहा है। हालांकि इसकी काट के रूप में अखिलेश 'त्याग' के फार्मूले की बात करने लगे हैं, देखना ये भी रोचक होगा कि अखिलेल का त्याग का फार्मूला कितना कामयाब होता है।

वाराणसी

Updated: January 25, 2022 05:50:40 pm

वाराणसी. Uttar Pradesh Assembly elections 2022 फतह करने के लिए समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पुराने साथियों को दरकिनार करते हुए इस बार जातीय समीकरण पर ध्यान दिया और महा गठबंधन तैयार कर लिया। इतना ही नहीं उन्होंने जाति आधारित क्षत्रपों को तोड़ कर अपने दल में शामिल भी कर लिया है। वो भी भाजपा को बड़ा झटका देकर। लेकिन अब गठबंधन के सभी घटक हों या भाजपा से आए साथी उनके साथ मिल कर टिकट बंटवारा खुद अखिलेश के लिए सिरदर्द साबित होने लगा है। इसमें गठबंधन वाली पार्टियां भी हैं तो खुद उनके दल के पुराने कर्मठ कार्यकर्ता भी शामिल हैं जो पांच साल से पूरी शिद्दत से दावेदारी को पुख्ता करने में लगे थे। अब उनका टिकट कटने की सूरत में कहीं न कहीं नाराजगी भी झेलनी पड़ रही है। हालांकि इन सबसे निबटना आसान तो नहीं पर अखिलेश, पार्टी कार्यकर्ताओं को 'त्याग' के फार्मूले से शांत करने की कोशिश में जुटे हैं। देखना रोचक होगा इसमें वो कितना सफल होते हैं।
अखिलेश यादव
अखिलेश यादव
10 दलों से किया गठबंधन
बता दें कि यूपी की सत्ता पर फिर से काबिज होने के लिए अखिलेश ने 10 दलों से गठबंधन किया है। इनमें से कइयों के लिए सीटें छो़ड़ी जा रही हैं। ये सबसे बड़ा संकट है क्योंकि पिछले चुनाव में मोदी लहर में दूसरे व तीसरे नंबर पर आने वाले सपा नेताओं व कार्यक्ताओं के भीतर मायूसी पैदा कर रहा है। हालांकि अखिलेश खुद इस बाद को शिद्दत से महसूस कर रहे हैं। इसी के तहत उन्होंने 'त्याग' का फार्मूला लागू किया है। वह कहते हैं कि अपनों के कुछ ज्यादा ही त्याग करना पड़ा है।
मान मन्नौवल संग प्रलोभन का दौर
महा गठबंधन के चलते टिकट कटने से पूरब से पश्चिम तक में सपा कार्यकर्ता में मायूसी है। वजह भी साफ है, ये वही कार्यकर्ता हैं जो संकट के वक्त अखिलेश के साथ रहे। अपने खून-पसीने से पार्टी को सींचा है। इसमें कई ऐसे भी हैं जो 2017 के विधानसभा चुनाव में मोदी लहर में दूसरे-तीसरे नंबर पर रहे। अब महा गठबंधन और दूसरी पार्टी खास तौर पर भाजपा से आए क्षत्रपों और उनके करीबियों के टिकट को लेकर पार्टीजनों का टिकट कट रहा है या कटने की उम्मीद है। ऐसे में उनका मायूस होना लाजमी भी है। ऐसे में ऐसे कार्यकर्ता जो ये मान कर चल रहे थे कि उन्हें तो टिकट मिलेगा ही उनके मान मन्नौवल और प्रलोभन का दौर शुरू हो गया है। इसमें किसी को एमएलसी तो किसी को 2024 में लोकसभा का टिकट देने की बात की जा रही है। ऐसे भी कार्यकर्ता हैं जिन्हें सरकार बनने पर दर्जा प्राप्त मंत्री बनाने का प्रलोभन भी दिया जा रहा है।
समायोजन की रणनीति क्या कामयाब होगी
वैसे कई ऐसे नेता और कार्यकर्ता हैं जिन्हें सरकार बनने पर ठीक-ठाक ओहदा देकर समायोजित करने की बात भी कही जा रही है। वैसे पार्टी सूत्रों की बात पर यकीन करें तो बहुतेरे सपा कार्यकर्ता अखिलेश के समायोजन वाली नीति पर भरोसा भी करने लगे हैं। उन्हें अपने नेता पर पूरा विश्वास है कि उन्होंने जो कहा है वो सच साबित करेंगे। लेकिन ये आश्वासन की घुट्टी कितनी कारगर होती है इसका खुलासा तो 10 मार्च के बाद ही होगा।
पश्चिम में कटे कई के टिकट अब पूर्वांचल की बारी
इस महा गठबंधन से पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई जिलों में अपनों और अपने सरीखों के टिकट कटे हैं। मसलन, बरेली में कांग्रेस से आई नेत्री के लिए, हरदोई के संडीला से। अब हरदोई की सीट सुभासपा के खाते में चली गई है। इसी तरह से अब सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर को लेकर बनारस के शिवपुर विधानसभा सीट से दावेदारी इन दिनों चर्चा में है। बता दें कि यहां भी पिछली बार सपा दूसरे नंबर पर थी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी टोक्यो पहुंचे, भारतीय प्रवासियों ने किया स्वागत, जापानी बच्चे के हिन्दी बोलने पर गदगद हुए PMदिल्ली-NCR में सुबह आंधी और बारिश से कई जगह उखड़े पेड़, विमान सेवा प्रभावितज्ञानवापी मामले के बीच गोवा के सीएम का बड़ा बयान, प्रमोद सावंत बोले- 'जहां भी मंदिर तोड़े गए फिर से बनाए जाएं'BJP को सरकार बनाने के लिए क्यों जरूरी है काशी और मथुरा? अयोध्या से बड़ा संदेश देने की तैयारीबेल्जियम, पहला देश जिसने मंकीपॉक्स वायरस के लिए अनिवार्य किया क्वारंटाइनएशिया कप हॉकी: पहले ही मैच में भिड़ेंगे भारत और पाकिस्तान, ऐसा है दोनों टीमों का रिकॉर्डआख़िर क्यों असदुद्दीन ओवैसी बार-बार प्लेसेज ऑफ़ वर्शिप एक्ट की बात कर रहे हैं, जानें क्या है यह एक्टकपिल देव के AAP में शामिल होने की चर्चा निकली गलत, सोशल मीडिया पर पूर्व कप्तान ने खुद साफ की स्थिति
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.