scriptThis was the reason for Swami Prasad Maurya leaving BJP and joining SP | UP Assembly Elections 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य ने इन कारणों से छोड़ा भाजपा का दामन, कोर समिति ने मांगी मानें | Patrika News

UP Assembly Elections 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य ने इन कारणों से छोड़ा भाजपा का दामन, कोर समिति ने मांगी मानें

UP Assembly Elections 2022 : विधानसभा चुनाव की घोषणा के ठीक बाद ही भाजपा (BJP) का दामन छोड़कर साइकिल पर सवार होने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य राजनीति शतरंज के नामी खिलाड़ी माने जाते हैं। कभी मायावती के खास रहे स्वामी प्रसाद मौर्य ने 2017 के चुनाव से पहले बसपा का दामन छोड़ भाजपा में एंट्री मारी थी। मौर्य ने अपने बेटे को विधायक बनाने के लिए भाजपा का दामन छोड़ दिया।

मेरठ

Published: January 12, 2022 10:26:53 am

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ . UP Assembly Elections 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य का भाजपा में आने के बाद से ही टकराव की स्थिति बनती बिगड़ती रही। स्वामी प्रसाद मौर्य पांच बार विधायक रहे हैं। इनमें से अधिकांश समय वो बसपा से चुनाव जीतते आए हैं। वो मौजूदा समय में पडरौना विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं। उन्होंने अपने पुत्र और बेटी को टिकट न मिलने की वजह से बसपा छोड़ी थी। मौजूदा समय में उनकी बेटी संघमित्र मौर्य बदायूं से बीजेपी की सांसद हैं।
UP Assembly Elections 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य ने इन कारणों से छोड़ा भाजपा का दामन, कोर समिति ने मांगी मानें
UP Assembly Elections 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य ने इन कारणों से छोड़ा भाजपा का दामन, कोर समिति ने मांगी मानें

ये है भाजपा छोड़ने का असली कारण
राजनीति शतरंज के माहिर स्वामी प्रसाद मौर्य ने 2017 के विधानसभा चुनाव में बेटे उत्कृष्ट मौर्य को रायबरेली की ऊंचाहार सीट से चुनाव लड़वाया था। लेकिन वो चुनाव नहीं जीत सके। सूत्रों की माने तो भाजपा इस बार भी स्वामी के बेटे उत्कृष्ट को टिकट दे रही थी। लेकिन राजनैतिक पारखी नजर रखने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य को यह लग रहा था कि बेटा भाजपा से इस बार भी नहीं जीत सकता। वह समाजवादी पार्टी से ही जीत सकते हैं। वैसे स्वामी प्रसाद मौर्य का इतिहास देखा जाए तो स्वामी प्रसाद मौर्य अपने फैसलों से हमेशा चौंकाते रहे हैं। जब उन्होंने बसपा छोड़ी थी तब आखिरी वक्त किसी को मालूम नहीं था, अब बीजेपी के साथ भी ऐसा हुआ।
यह भी पढ़े : UP Assembly Elections 2022 : यूपी में सपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे शरद पवार, सीएम योगी को लेकर कही बड़ी बात

राजनैतिक जानकारों की माने तो टिकट बंटवारे को लेकर भाजपा कोर समिति की बैठक में स्वामी प्रसाद मौर्य की मांगें मान ली गई हैं। लिहाजा उन्होंने ये फैसला लिया। राज्यपाल आनंदी बेन पटेल को इस्तीफा भेजने से पहले मौर्य ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा, ‘माननीय राज्यपाल जी, राज भवन, लखनऊ, उत्तर प्रदेश. महोदय, माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल में श्रम एवं सेवायोजन व समन्वय मंत्री के रूप में विपरीत परिस्थितियों व विचारधारा में रहकर भी बहुत ही मनोयोग के साथ उत्तरदायित्व का निर्वहन किया है किंतु दलितों, पिछड़ों, किसानों बेरोजगार नौजवानों एवं छोटे- लघु एवं मध्यम श्रेणी के व्यापारियों की घोर उपेक्षात्मक रवैये के कारण उत्तर प्रदेश के मंत्रिमंडल से मैं इस्तीफा देता हूं।
यह भी पढ़े : UP Assembly Elections 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य को क्यों मनाने में जुटे हैं सुनील बंसल और स्वतंत्र देव सिंह


जनता दल से शुरू किया सफर अब सपा के दरवाजे पर ठहरा
स्वामी प्रसाद मौर्य ने जनता दल से अपना सियासी सफर शुरू किया जो कि सपा के दरवाजे पर आकर ठहर गया है। स्वामी प्रसाद को सबसे अधिक कामयाबी बसपा में शामिल होने के बाद मिली। वे बसपा से चार बार विधायक रहे और एक बार एमएलसी बने। मायावती के करीबी नेताओं में स्वामी प्रसाद मौर्य का नाम आता था। वो बसपा के प्रदेश अध्यक्ष से लेकर राष्ट्रीय महासचिव तक रहे, लेकिन 2017 के चुनाव से पहले उन्होंने बसपा छोड़कर बीजेपी का दामन थाम लिया था। 2017 में भाजपा से पडरौना से चुनाव लड़कर जीतकर विधायक बने।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

School Holidays in February 2022: जनवरी में खुले नहीं और फरवरी में इतने दिन की है छुट्टी, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीइस एक्ट्रेस को किस करने पर घबरा जाते थे इमरान हाशमी, सीन के बात पूछते थे ये सवालजैक कैलिस ने चुनी इतिहास की सर्वश्रेष्ठ ऑलटाइम XI, 3 भारतीय खिलाड़ियों को दी जगहदुल्हन के लिबाज के साथ इलियाना डिक्रूज ने पहनी ऐसी चीज, जिसे देख सब हो गए हैरानकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेश

बड़ी खबरें

झारखंड में नक्सलियों ने ब्लास्ट कर उड़ाया रेलवे ट्रैक, राजधानी एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों का रूट बदलायूपी चुनाव से रीवा का बम टाइमर कनेक्शननागालैंड में AFSPA कानून को खत्म करने पर विचार कर रही केंद्र सरकारRepublic Day 2022 LIVE updates: राजपथ पर दिखी संस्कृति और नारी शक्ति की झलक, 7 राफेल, 17 जगुआर और मिग-29 ने दिखाया जलवाजिनके नाम से ही कांपते थे आतंकी, जानिए कौन थे शहीद बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्ररीट परीक्षा का पेपर आउट करने वाला मुख्य आरोपी और उसका साथी गिरफ्तारसरकारी स्कूल में कोरोना विस्फोट, जांच में 23 बच्चे निकले पॉजिटिव, 5 स्टाफ भी संक्रमित, SDM ने किया स्कूल बंदCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 7,498 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 10.59%
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.